Skip to main content

Posts

Showing posts with the label अन्य राज्य

साहित्य के पुनर्पाठ की आवश्यकता सदैव बनी रहती है - प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा

साहित्य के पुनर्पाठ की आवश्यकता सदैव बनी रहती है - प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा  नाथ और सिद्ध काव्य का पुनर्पाठ पर केंद्रित विशिष्ट व्याख्यान दिया प्रो शर्मा ने   हिन्दी विभाग, इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित व्याख्यानमाला के महत्त्वपूर्ण सत्र में बोलते हुए विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन के हिंदी विभागाध्यक्ष एवं कला संकायाध्यक्ष प्रो. शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने कहा कि साहित्य शब्दार्थ से संवेदना को मूर्त रूप देता है। जीवन और कविता के नजरिये भिन्न - भिन्न हो सकते हैं और इसीलिए साहित्य के पुनर्पाठ की सदैव आवश्यकता बनी रहती है। जब तुलसी रामचरितमानस लिख रहे थे तो यह वाल्मीकि की कविता का पुनर्पाठ था, मैथिलीशरण गुप्त जब साकेत लिख रहे थे तो यह तुलसी की कविता का पुनर्पाठ था। बाद में राम की शक्तिपूजा और तुलसीदास जैसे निराला की कृतियाँ भी पुनर्पाठ हैं।  उन्होंने अनंतसिद्ध गुरु गोरखनाथ के द्वारा बताए गए कायागढ़ पर विजय पाने पर बल देते हुए कहा कि माया, ममता के बन्धन से ऊपर उठना ही मुक्ति है। बाह्य साधना के स्थान पर अंतस्साधना पर बल, प्रवृत्ति के स्थान पर निवृत्ति का आग्रह, आंतरिक शुद्धता और सदाच

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत स्वच्छता पखवाड़े के अन्तर्गत पर्यटन विभाग द्वारा हरकी पैड़ी सहित अन्य घाटों पर सफाई अभियान चलाया गया।

हरिद्वार। उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद के तत्वावधान में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत स्वच्छता पखवाड़े के अन्तर्गत पर्यटन विभाग द्वारा शुक्रवार को हरकी पैड़ी, सुभाष घाट, रोडी बेलवाला, सी0सी0आर0, शिव घाट, विष्णु घाट, नाई घाट पर सफाई अभियान चलाया गया।  जिला पर्यटन अधिकारी सीमा नौटियाल के नेतृत्व में नेहरू युवा केन्द्र, नमामि गंगे अकाक्षा इण्टरप्राइजेज, माई एडवेंचर क्लब, सुलभ इण्टरनेशनल, होम स्टे एसोसिएशन के सहयोग से सफाई अभियान चलाया गया। जिला पर्यटन विकास अधिकारी सीमा नौटियाल ने कहा कि, गंगा हमारी आस्था का केंद्र बिन्दु है। आम जनमानस को भी मां गंगा की पवित्रता को लेकर अपने प्रयास करने चाहिए। गंगा की स्वच्छता निर्मलता को लेकर नियमित रूप से सफाई अभियान चलाए जाने जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधाएं पेश नहीं आनी चाहिए।  गंगा की अविरलता स्वच्छता को लेकर सामाजिक संगठनों, व्यापारियों को सजगता प्रयास करना चाहिए। गंगा में मैला कुचौला पदार्थ ना डालें। गंगा हमारी आस्था का केंद्र बिन्दु हैं। लाखों करोड़ों लोगों की भावनाएं मां गंगा से जुड़ी हु

सृष्टि का जन्म स्थल छत्तीसगढ़ है। - डॉ. विनय पाठक

     जीवंत सांस्कृतिक परंपराओं से संपन्न राज्य छत्तीसगढ़ सृष्टि का जन्म स्थल है । इस आशय का प्रतिपादन छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. विनय कुमार पाठक, बिलासपुर, छत्तीसगढ़ ने किया। राष्ट्रीय शिक्षक  संचेतना के तत्वावधान में छत्तीसगढ़ इकाई द्वारा 'छत्तीसगढ़ की संस्कृति एवं साहित्य' विषय पर आयोजित आभासी राष्ट्रीय संगोष्ठी में मुख्य अतिथि के रुप में वे मंतव्य दे रहे थे । डॉक्टर पाठक ने आगे कहा कि, छत्तीसगढ़ के शैल चित्र लाखो वर्ष पुराने हैं । छत्तीसगढ़ी संस्कृति पर श्री रामचरित मानस का प्रभाव है ।प्रभु रामचंद्र जी का ननिहाल भी छत्तीसगढ़ है। विश्व का प्रथम रंगमंच छत्तीसगढ़ होते हुए, यहां का प्रधान उत्पादन धान है।     विशेष अतिथि प्रोफेसर डॉ अनसूया अग्रवाल, महासमुंद, छत्तीसगढ़ ने कहा कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति व परंपरा को विश्व में ख्याति प्राप्त है, जिसने जनमानस में प्रकृति के साथ सीधा और साधा नाता जोड़ा है। छत्तीसगढ़ की महिलाएं नदियों को अपना पीहर मानती हैं और अपने मन का सारा दुख दर्द उनके सामने उघाड़ कर रख देती हैं।      विशिष्ट वक्ता डॉ. सरस्वती वर्मा महासमुंद, छत्त

28 जून से महाकालेश्वर मन्दिर में दर्शन प्रारम्भ होंगे, ऑनलाइन बुकिंग स्लॉट अनुसार दर्शन की अनुमति दी जायेगी, वेक्सीनेशन सर्टिफिकेट (एक डोज लगवाने पर भी) या 24 से 48 घंटे पूर्व की कोविड रिपोर्ट दिखाने पर ही प्रवेश

उज्जैन 17 जून। भगवान श्री महाकालेश्वर मन्दिर में दर्शनार्थियों के लिये 28 जून से दर्शन प्रारम्भ होंगे। ऑनलाइन बुकिंग करवाने पर स्लॉट अनुसार दर्शन की अनुमति दी जायेगी। वेक्सीनेशन सर्टिफिकेट (एक डोज लगवाने पर भी) या 24 से 48 घंटे पूर्व की कोविड रिपोर्ट दिखाने पर ही मन्दिर परिसर में प्रवेश दिया जायेगा। श्री महाकालेश्वर मन्दिर परिसर में सभी देवस्थान दर्शन हेतु खुले रहेंगे। शीघ्र दर्शन के काउंटर खोले जायेंगे, किन्तु शीघ्र दर्शन करने वाले दर्शनार्थियों को भी वेक्सीनेशन सर्टिफिकेट अथवा कोविड जांच रिपोर्ट दिखाना होगी। उक्त निर्णय श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति की बैठक में आज लिये गये। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर एवं अध्यक्ष श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति श्री आशीष सिंह द्वारा की गई। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, प्रबंध समिति के सदस्य श्री विनीत गिरी महाराज, श्री आशीष पुजारी, श्री विजयशंकर शर्मा, श्री दीपक मित्तल, महाकाल मन्दिर प्रशासक श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल, यूडीए सीईओ श्री एसएस रावत, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री जितेन्द्रसिंह चौहा

राष्ट्रीय देव चेतना परिषद् की अखिल भारतीय संगोष्ठी होगी

  अखण्ड भारत गुर्जर महासभा की साहित्यीक संस्था राष्ट्रीय देव चेतना परिषद् मुख्यालय जयपुर के द्वारा आभासी संगोष्ठी का आयोजन दि. 16 जून 2021 को किया जा रहा है। संगोष्ठी का विषय- लोक देवता श्री देवनारायण जी : संस्कृति एवं पर्यावरण को योगदान। समारोह में मार्गदर्शक पूर्व केबिनेट मंत्री श्री कालुलाल गुर्जर, मुख्य अतिथि डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा, विशिष्ट अतिथि डॉ. हरिसिंह पाल, श्री टीकमचंद अनजाना एवं डॉ. देवनारायण गुर्जर अध्यक्षता करेंगे। राष्ट्रीय देव चेतना परिषद् के अध्यक्ष डॉ. प्रभु चौधरी ने बताया कि बैठक के प्रमुख बिन्दु में श्री देवनारायण जन्मोत्सव आयोजन समाज के साहित्यकारों का सम्मान एवं समाजसेवी समाजजनों का अभिनंदन समारोह, संगठन की स्मारिका प्रकाशन आदि पर विचार विमर्श करके निर्णय लिये जायेंगे। राष्ट्रीय संगोष्ठी को सफल बनाने की अपील राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रभु चौधरी, उपाध्यक्ष डॉ. शिवा लोहारिया, श्री मोहनलाल वर्मा, महासचिव श्री राकेश छोकर, सचिव डॉ. संगीता पाल, कोषाध्यक्ष श्री विक्रमसिंह चौधरी आदि ने की है।

CBSE Class XII Board Exams cancelled ; सीबीएसई की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द

  सीबीएसई की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं रद्द 12वीं कक्षा के परिणाम समयबद्ध तरीके से एक पूर्णत: स्पष्ट उद्देश्यपरक मानदंड के अनुसार तैयार किए जाएंगे    सीबीएसई की 12वीं कक्षा की परीक्षाओं पर फैसला विद्यार्थियों के हित में लिया गया है: प्रधानमंत्री  हमारे विद्यार्थियों का स्वास्थ्य एवं सुरक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण है और इस पहलू पर कोई भी समझौता नहीं होगा: प्रधानमंत्री विद्यार्थियों,  अभिभावकों और शिक्षकों के बीच भारी चिंता व्‍याप्‍त, जिसे अवश्‍य ही दूर किया जाना चाहिए: प्रधानमंत्री इस तरह की तनावपूर्ण स्थिति में विद्यार्थियों को परीक्षाओं में बैठने के लिए बाध्य नहीं किया जाना चाहिए: प्रधानमंत्री सभी हितधारकों को विद्यार्थियों के प्रति संवेदनशीलता दिखाने की जरूरत है: प्रधानमंत्री प्रविष्टि तिथि: 01 JUN 2021 प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने सीबीएसई की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के संबंध में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान अधिकारियों ने अब तक हुए व्यापक परामर्श के साथ-साथ राज्य सरकारों सहित सभी हितधारकों से प्राप्त विचारों पर विस्तृत प्रस्तुति दी।   कोविड के कारण उत्‍प

18-44 आयुवर्ग के लोगों को टीकाकरण के लिए अब ऑनलाइन अपॉइंटमेंट जरूरी नहीं, सरकारी वैक्सीनेशन सेंटर पर भी रजिस्ट्रेशन हो सकेगा

  कोविन डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर 18-44 आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण के लिए अब ऑनलाइन समय निर्धारण के अतिरिक्त टीकाकरण स्थल पर ही पंजीकरण/समूह पंजीकरण की सुविधा भी दी गई वर्तमान में यह सुविधा केवल सरकारी कोविड टीकाकरण केंद्रों (सीवीसी) पर ही उपलब्ध है प्रविष्टि तिथि: 24 MAY 2021 टीकाकारण देश जनसंख्या के सबसे संवेदनशील जनसंख्या समूहों को कोविड-19 संक्रमण से बचाने की ऐसी प्रक्रिया है और इसकी सर्वोच्च स्तर पर लगातार समीक्षा और निगरानी की जाती है।  सभी हितधारकों के साथ व्यापक विमर्श के बाद वर्तमान परिस्थितियों के अनुरूप इस प्रक्रिया में संशोधन करने के लिए एक वर्गीकृत, समय-पूर्व एवं पहले से ही तैयारी के साथ कार्यवाही की अनुमति दी गई है। 01 मार्च 2021 को राष्ट्रीय टीकाकारण अभियान के द्वितीय चरण की शुरुआत के साथ ही कोविन डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर केवल 45 वर्ष और उससे अधिक आयु के नागरिकों के ऑनलाइन पंजीकरण एवं टीकाकरण की तिथि और समय के निर्धारण की सुविधा दी गई थी। बाद में इन प्राथमिकता समूहों के लिए टीकाकरण स्थल पर ही पंजीकरण और समय निर्धारण समूह पंजीकरण सुविधा को भी जोड़ा गया था। इसके बाद 01 मई 2021

राष्ट्रीय नियामक ने आपातकालीन स्थितियों में स्पुतनिक-V वैक्सीन के सीमित उपयोग की अनुमति दी

राष्ट्रीय नियामक ने आपातकालीन स्थितियों में स्पुतनिक-V वैक्सीन के सीमित उपयोग की अनुमति दी प्रविष्टि तिथि: 13 APR 2021 केंद्र सरकार सक्रिय रूप से अपनी पूरी क्षमता के साथ कोविड-19 के विरुद्ध लड़ रही है और उसका ध्यान इसकी रोकथाम, निगरानी, कोविड उचित व्यवहार और टीकाकरण पर केन्द्रित है। टीकाकरण (वैक्सीनेशन) के राष्ट्रव्यापी अभियान की शुरुआत 16 जनवरी, 2021 से हुई थी। इसके लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया - राष्ट्रीय नियामक अर्थात भारतीय औषध महानियंत्रक (डीजीसीआई) ने दो टीकों के आपातकालीन उपयोग की अनुमति (ईयूए) दी थी ।ये वैक्सीन हैं : सीरम इंस्टीटयूट ऑफ़ इंडिया (एसआईआई) द्वारा निर्मित “कोविशील्ड” और भारत बायोटेक इन्टरनेशनल (बीबीआईएल) द्वारा निर्मित “कोवैक्सिन”। इस समय देश में कई अन्य वैक्सीनों (टीकों) का विभिन्न चरणों में निर्माण और चिकित्सकीय परीक्षण चल रहा है। मैसर्स डॉ. रेड्डी लैबोरेटरीज लिमिटेड (मैसर्स डीआरएल) ने रूस के मैसर्स गामालेया इंस्टीटयूट द्वारा विकसित गाम-कोविड-वैक, जिसे स्पुतनिक-V भी कहा जाता है, के आयात और उसकी बिक्री के लिए अनुमति मांगी है। गाम-कोविड- वैक कंबाइंड वेक्टर

जिलाधिकारी हरिद्वार श्री सी. रविशंकर ने कलेक्ट्रेट रोशनाबाद में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन योजना कार्यो की समीक्षा की।

हरिद्वार। जिलाधिकारी हरिद्वार श्री सी. रविशंकर ने कलेक्ट्रेट रोशनाबाद में जिला जल एवं स्वच्छता मिशन योजना कार्यो की समीक्षा की। समीक्षा में जिलाधिकारी ने जल संस्थान, जल निगम हरिद्वार से योजनांतर्गत किये जा रहे  कार्यों की प्रगति की विस्तृत जानकारी ली। योजना से आच्छादित होने वाले घरों एवं अवशेष घरों के लिए कार्य की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि डीपीआर में इसका उल्लेख होना चाहिए कि कितने घर कवर हो चुके हैं एवं कितने शेष रह गये हैं। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी विद्यालयों, आंगनबाड़ी केंद्रो में पेयजल संयोजन की जानकारी लेते हुए सरकारी भवनों में चल रही आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा किराये के भवनों में चल रही आंगनबाड़ी केन्द्रों में पानी का कनेक्शन है या नहीं की सम्पूर्ण सूचना सोमवार तक अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि प्राइवेट स्कूलों में पेयजल संयोजन का डाटा भी अपडेट किया जाए। जिलाधिकारी ने समस्त विभागों को आपसी समन्वय से कार्य करने तथा कार्य में शिथिलता बरतने पर संबंधित अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की चेतावनी दी। बैठक में मु

पूरा विश्व मानता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता का लोहा: मुख्यमंत्री ; महाकुंभ की दिव्यता और भव्यता के लिए सरकार प्रतिबद्ध

पूरा विश्व मानता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व क्षमता का लोहा: मुख्यमंत्री महाकुंभ की दिव्यता और भव्यता के लिए सरकार प्रतिबद्ध हरिद्वार में मुख्यमंत्री ने किया लगभग 120 करोड़ की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण हरिद्वार। 20 मार्च  हरिद्वार महाकुंभ 2021 के तहत मीडिया सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने करीब 120 करोड़ की लागत की विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि महाकुंभ की भव्यता और दिव्यता के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा की कुंभ पूरे विश्व की धरोहर है और यह 12 साल में एक बार आता हैस ऐसे में कुंभ को लेकर लोगों में उत्साह तो जरूर था लेकिन कोविड-19 को लेकर असमंजस की स्थितियां बनी हुई थी। इससे यहां का व्यापारी वर्ग से लेकर आम जन में चिंताएं थी। इसी चिंता को देखते हुए हमारी सरकार ने कुंभ में आने जाने की अनावश्यक रोक टोक को खत्म कर किया है। लेकिन भारत सरकार द्वारा जारी कोविड-19 की गाइडलाइन को हर हाल में पूरा करना होगा। उन्होंने कहा कि कुंभ पर हमारा पूरा फोकस है। इसे भव्य और दिव्य बनाने के ल

मध्यप्रदेश समाचार

देश समाचार