Skip to main content

Posts

तिलक पुण्यतिथि पर आभासी संगोष्ठी एवं कविता प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना द्वारा 122वीं आभासी संगोष्ठी में बाल गंगाधर तिलक की पुण्यतिथि पर व्याख्यान लोकमान्य तिलक और उनका भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन विषय पर मुख्य अतिथि श्री ब्रजकिशोर शर्मा(राष्ट्रीय अध्यक्ष), विशिष्ट अतिथि डॉ. शहाबुद्दीन शेख एवं डॉ. हरिसिंह पाल तथा अध्यक्षता श्री हरेराम वाजपेयी इन्दौर एवं मुख्य वक्ता डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा(कुलानुशासक विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन) होंगे। विशेष अतिथि श्रीमती सुवर्णा जाधव, डॉ. सुनीता मंडल एवं डॉ. शिवा लोहारिया रहेगी। संगोष्ठी के आयोजक डॉ. बाला साहेब तोरस्कर, संयोजक डॉ. रश्मि चौबे एवं संचालक डॉ. मुक्ता कौशिक होगी। यह जानकारी राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने देते हुए बताया कि द्वितीय सत्र में मुख्य अतिथि डॉ. विमलकुमार जैन, विशिष्ट अतिथि श्रीमती उर्वशी उपाध्याय, डॉ. ममता झा, श्रीमती गरिमा गर्ग, इला जायसवाल, डॉ. कृष्णा आचार्य एवं अध्यक्षता डॉ. चेतना उपाध्याय करेगी। काव्य गोष्ठी का विषय बरसात में हरियाली : वृक्षारोपण - पर्यावरण पर कविता प्रतियोगिता होगी जिसमें प्रथम, द्वितीय, तृतीय का सम्मान पत्र एवं प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र हरियाली

प्रो शर्मा एवं प्रो गुप्ता विक्रम विश्वविद्यालय की कार्यपरिषद के सदस्य बने

उज्जैन : राजभवन से प्राप्त पत्र के अनुसार मध्यप्रदेश विश्वविद्यालय अधिनियम 1973 के प्रावधानों के अंतर्गत विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलाधिपति जी के द्वारा सामाजिक विज्ञान संकायाध्यक्ष प्रोफेसर दीपिका गुप्ता एवं कला संकायाध्यक्ष प्रोफेसर शैलेंद्रकुमार शर्मा को विश्वविद्यालय की कार्यपरिषद में संकायाध्यक्ष श्रेणी में सदस्य नाम निर्देशित किया गया है। इस आशय की अधिसूचना विक्रम विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक द्वारा जारी की गई है।

श्री महाकालेश्वर मन्दिर में श्रावण मास में प्रत्येक सोमवार को सुबह 5 बजे से दोपहर 1 बजे तक एवं शाम 7 से रात्रि 9 बजे तक केवल प्रीबुकिंग से ही दर्शन होंगे

  उज्जैन 30 जुलाई । कलेक्टर एवं अध्यक्ष श्री महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति श्री आशीष सिंह ने बताया कि श्रावण मास में प्रत्येक सोमवार को प्रातः 5 बजे से दोपहर 1 बजे तक एवं शाम 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक केवल प्रीबुकिंग से ही सामान्य दर्शन होंगे । सभी दर्शनार्थियों से आग्रह किया गया है कि वे प्रीबुकिंग करवाकर कोविड प्रोटोकॉल के तहत वैक्सीनशन सर्टिफिकेट अथवा 48 घण्टे पूर्व की कोविड नेगेटिव रिपोर्ट साथ लाकर निर्धारित स्लॉट में ही दर्शन करने आये। बिना बुकिंग के दर्शन की अनुमति नही दी जाएगी । इसी तरह श्रावण मास में सोमवार को छोड़कर अन्य दिनों में प्रातः 5 बजे से रात्रि 9 बजे तक प्रीबुकिंग से ही भगवान महाकाल के दर्शन एवम विशेष दर्शन हो सकेंगे । शनिवार , रविवार व सोमवार की प्रवेश व निर्गम की व्यवस्था * श्रावण मास में प्रत्येक शनिवार , रविवार, सोमवार प्रवेश एवम निर्गम चारधाम से होगा . * प्रसाद-शीघ्र,दर्शन-सामान-जूता स्टेण्ड और पार्किंग की व्यवस्था चारधाम पार्किंग के पास से रहेगी । * सोमवार को सामान्य प्रोटोकॉल तथा शीघ्र दर्शन व्यवस्था प्रतिबंधित रहेगी

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा बी.कॉम तृतीय वर्ष के परीक्षा परिणाम घोषित

  उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा ने बताया कि, विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा  बी.कॉम तृतीय वर्ष के  परिणाम घोषित हुए हैं, जिसे विद्यार्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं...

कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जयंती पर आभासी संगोष्ठी का आयोजन होगा।

नागदा - राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना द्वारा 121वीं आभासी संगोष्ठी में कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती अवसर पर व्याख्यान मुंशी प्रेमचंद कथा साहित्य : सांस्कृतिक - राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में। 31 जुलाई सायं 5 बजे आयोजन होगा। इस अवसर पर संस्था की राष्ट्रीय मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष श्रीमती सुवर्णा जाधव के जन्मदिवस पर बधाई शुभकामनाएं प्रदान की जावेगी।  यह जानकारी राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने देते हुए बताया कि संगोष्ठी के मुख्य अतिथि श्री हरेराम वाजपेयी, विशिष्ट अतिथि डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा, डॉ. प्रभु चौधरी एवं मुख्य वक्ता डॉ. शहाबुद्दीन शेख, अध्यक्षता डॉ. बालासाहेब तोरस्कर करेंगे। विशिष्ट वक्ता श्रीमती उर्वशी उपाध्याय, डॉ. सुरेखा मंत्री तथा आयोजक श्रीमती सविता इंगले, संयोजक श्रीमती पूर्णिमा कौशिक, संगोष्ठी संचालक डॉ. रश्मि चौबे रहेगी।

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 29 जुलाई 2021

उज्जैन  कोरोना हेल्थ बुलेटिन दिनांक 29 जुलाई  2021 पॉजिटिव आए सैंपल की संख्या = 02 आज ठीक होकर घर पहुंचे मरीजों की संख्या = 00 आज दिनांक तक मौत = 171

डॉ. कलाम ने आत्मनिर्भर राष्ट्र निर्माण में अविस्मरणीय भूमिका निभाई - डॉ. शैलेंद्र कुमार शर्मा ; एपीजे अब्दुल कलाम : सशक्त एवं आत्मनिर्भर राष्ट्र के निर्माण में भूमिका पर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

डॉ. कलाम ने आत्मनिर्भर राष्ट्र निर्माण में अविस्मरणीय भूमिका निभाई - डॉ. शैलेंद्र कुमार शर्मा एपीजे अब्दुल कलाम : सशक्त एवं आत्मनिर्भर राष्ट्र के निर्माण में भूमिका पर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने सशक्त और आत्मनिर्भर राष्ट्र के निर्माण में अविस्मरणीय भूमिका निभाई है। इस आशय का प्रतिपादन विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन, मध्य प्रदेश के कुलानुशासक तथा कला संकाय अधिष्ठाता प्रोफेसर डॉ. शैलेंद्र कुमार शर्मा ने किया ।राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के तत्वावधान में 'सशक्त और आत्मनिर्भर राष्ट्र निर्माण के लिए डॉ. कलाम की संकल्पनाएं' विषय पर आयोजित आभासी अंतरराष्ट्रीय गोष्ठी में वे अपना मंतव्य दे रहे थे। डॉ. ममता झा, मुंबई ने गोष्ठी की अध्यक्षता की। डॉक्टर शर्मा ने आगे कहा कि डॉ. कलाम की दृष्टि में सब लोगों के मिलने से राष्ट्र बनता है। उन्होंने राष्ट्र की एकता व अखंडता के लिए महत्वपूर्ण कार्य किया। भारत को महाशक्ति संपन्न राष्ट्र बनाने का सपना डॉ. कलाम ने देखा था, जो आज पूरा हो रहा है । उन्होंने साधारणता में असाधारणता की मिसाल कायम की। वे