Skip to main content

Posts

मातृभाषा हिन्दी से प्रेम होना चाहिये

प्रदेश में मेडिकल, इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रम हिन्दी में भी लागू होंगे उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.यादव हिन्दी ग्रंथ अकादमी स्वर्ण जयन्ती वर्ष के समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह में शामिल हुए उज्जैन 30 सितम्बर। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने कहा कि हमारी मातृभाषा हिन्दी से प्रेम होना चाहिये। प्रदेश में मेडिकल इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रम अब हिन्दी में भी लागू होंगे। हम वर्तमान समय में अतीत की प्रेरणा से नये कीर्तिमान रच रहे हैं। यह राष्ट्रभाषा का सांस्कृतिक यज्ञ है, जिसे हिन्दी ग्रंथ अकादमी के स्वर्ण जयन्ती के अवसर पर सम्राट विक्रमादित्य के नगर में आयोजित किया गया है। हिन्दी ग्रंथ अकादमी द्वारा चिकित्सा, यांत्रिकी तथा प्रबंधन की पाठ्यक्रम पुस्तकें प्रथमत: प्रकाशित करने का गौरव प्राप्त हो रहा है। इस आशय के विचार उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने शुक्रवार 30 सितम्बर को अपराह्न में विक्रम कीर्ति मन्दिर में आयोजित मप्र हिन्दी ग्रंथ अकादमी भोपाल एवं विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन के संयुक्त तत्वावधान में स्वर्ण जयन्ती समारोह समारोह के कार्यक्रम में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि उज्जयिनी कालगणना क

मैं पहली बार ब्रह्माकुमारी आश्रम में आया हूं और मुझे बहुत अच्छी अनुभूति हुई - मुकेश टटवाल, महापौर

मैं पहली बार ब्रह्माकुमारी आश्रम में आया हूं और मुझे बहुत अच्छी अनुभूति हुई - मुकेश टटवाल, महापौर आत्म चिंतन की राह पर चलकर ही हम आत्म सम्मान प्राप्त कर सकते हैं - ब्रम्हाकुमारी लक्ष्मी बहन ब्रह्मा कुमारीज की मुख्य शिक्षा ही आत्म सम्मान को बढ़ाने के लिए हैं - ब्रह्माकुमारी उषा दीदी जी उज्जैन, शुक्रवार, 30 सितम्बर, 2022 । ब्रह्माकुमारीज़ के शिव दर्शन धाम परिसर में नवरात्रि पर्व पर ज्ञान वर्षा प्रवचन माला के चोथे दिन के कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन करके किया गया। जिसमें शहर के प्रथम नागरिक महापौर श्री मुकेश टटवाल जी, पार्षद बहन आभा कुशवाहा जी, भ्राता श्री विशाल राजोरिया, ब्रम्हाकुमारी राजयोगिनी उषा दीदी, राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी मंजू बहन, ब्रम्हाकुमारी लक्ष्मी बहन सम्मिलित हुए। ● चौथे सत्र में आत्म सम्मान विषय पर चर्चा हुई। कुमारी सृष्टि ने सुंदर नृत्य की प्रस्तुति दी। महापौर भ्राता श्री मुकेश टटवाल जी ने कहां कि, मैं पहली बार ब्रह्माकुमारी आश्रम में आया हूं और मुझे बहुत अच्छी अनुभूति हुई । ध्यान कक्ष से उठने का मन नहीं था, परंतु हमारी जिम्मेदारी ही ऐसी है कि हम क

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में 29 सितंबर को विश्व ह्रदय दिवस मनाया गया

उज्जैन । प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय में 29 सितंबर, 2022 को विश्व ह्रदय दिवस मनाया गया । इस अवसर पर शहर के जाने-माने चिकित्सक डॉ विकास उथरा ने ह्रदय स्वास्थ्य संबंधित जानकारियां दी । उन्होंने कहा कि, सावधानी के हिसाब से प्रत्येक व्यक्ति को अपने शरीर के लिए 20 से 30 मिनट अवश्य निकालना चाहिए जिसमें एक्सरसाइज और फास्ट वांकिंग हो। उन्होंने हार्ट अटैक के सिम्टम्स बताएं और प्रथम उपचार के रूप मे 3 टैबलेट्स के नाम भी बताएं जो हर व्यक्ति को अपने घर में रखना ही चाहिए। आगे उन्होंने कहा कि, हमारे मन का हमारे विचारों का ह्रदय से बहुत गहरा कनेक्शन होता है । अगर हम स्ट्रेस में होंगे, तनाव में होंगे तो हार्टअटैक होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती हैं इसलिए मेडिटेशन, आध्यात्मिक योग को प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए जिससे ह्रदय स्वस्थ रहेगा। ब्रह्मा कुमारीज निस्वार्थ भाव से तन और मन को आध्यात्मिक रूप से सशक्त बनाने का कार्य कर रही है।

एनआईटीटीटीआर भोपाल एवं कॉमनवेल्थ ऑफ लर्निंग सेंटर द्वारा संयुक्त प्रशिक्षण कार्यक्रम पर महत्वपूर्ण बैठक

भोपाल ।   एनआईटीटीटीआर भोपाल एवं कॉमनवेल्थ ऑफ लर्निंग सेंटर नई दिल्ली संयुक्त रूप से कुछ प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारम्भ करने की दिशा में महत्वपूर्ण बैठक निटर भोपाल में आयोजित की गयी।  कॉमनवेल्थ एजुकेशनल मीडिया सेंटर फॉर एशिया कॉमनवेल्थ ऑफ लर्निंग का क्षेत्रीय केंद्र, वैंकूवर कनाडा में स्थित एक अंतर-सरकारी संगठन हे जो कॉमनवेल्थ देशों के तकनीकी व्यावसायिक शिक्षा प्रशिक्षकों की दक्षता संवर्धन की के लिए कार्य करता है। कॉमनवेल्थ ऑफ लर्निंग सेंटर नई दिल्ली के प्रोग्राम ऑफिसर श्री सौरभ मिश्रा ने निटर भोपाल की फैकल्टी के साथ बैठक की। इस बैठक का उद्देश्य उच्च शिक्षा के क्षेत्र में व्यावसायिक शिक्षा पाठ्यक्रम शुरू करने के लिए पॉलिटेक्निक शिक्षकों को तैयार करने के लिए संयुक्त रूप से एक प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करने के दिशा में कार्य करना था।   निटर, निदेशक प्रो. सी. सी. त्रिपाठी ने इस अवसर पर कहा कि, यह एक महत्वपूर्ण पहल हे एवं नयी शिक्षा नीति के अनुसार भी उच्च शिक्षा के व्यावसायीकरण पर पहल की गयी हे। निटर भोपाल इस दिशा में अपना योगदान दे सकता है। कार्यक्रम के समन्वयक प्रो. आर.पी. खम्बायत न

नैक की तैयारियों के लिए बाह्य विशेषज्ञों की मॉक टीम के साथ विशेष बैठकों का आयोजन हुआ विश्वविद्यालय में

सभी क्षेत्रों में विश्वविद्यालय की महत्त्वपूर्ण उपलब्धियों को सामने लाएं - कुलपति प्रोफेसर पांडेय उज्‍जैन। विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन ने नैक की तैयारी के लिए गठित बाह्य विशेषज्ञों की मॉक टीम के साथ विश्वविद्यालय के विभिन्न अधिकारियों, विभागाध्यक्षों और शिक्षकों की विशेष बैठकों का आयोजन 29 सितंबर को किया गया। ये बैठकें कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पांडेय की अध्यक्षता में संपन्न हुईं। कुलपति प्रोफेसर पांडेय ने बैठकों को संबोधित करते हुए कहा कि विक्रम विश्वविद्यालय राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लागू करने वाला देश - प्रदेश का प्रथम विश्वविद्यालय है। हाल के वर्षों में सभी क्षेत्रों में विश्वविद्यालय ने अनेक महत्त्वपूर्ण उपलब्धियाँ अर्जित की हैं, जिन्हें नैक के दौरे के समय सामने लाएं। विक्रम विश्वविद्यालय छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और कौशल संवर्धन के साथ उनके समग्र विकास के लिए प्रयासरत है। स्व अध्ययन प्रतिवेदनों में उच्च शिक्षा निकायों द्वारा जारी दिशानिर्देशों और नैक के मानदंडों के सम्यक् पालन में विश्वविद्यालय अग्रणी है। बाह्य विशेषज्ञ के रूप में प्रो नरेन्द्रभाई चोटालिय

प्रतिभा प्रोत्साहन प्रतियोगिताएं 1 अक्टूबर को विक्रम विश्वविद्यालय में

गांधी जयंती के अवसर पर चार विधाओं में होंगी जिला स्तरीय प्रतियोगिताएं उज्‍जैन। राष्ट्रभाषा प्रचार समिति एवं हिंदी भवन न्यास, भोपाल के सौजन्य से प्रतिभा प्रोत्साहन प्रतियोगिता 2022 का आयोजन विक्रम विश्वविद्यालय की हिंदी अध्ययनशाला में किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए समिति के जिला संयोजक एवं हिंदी विभागाध्यक्ष प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा ने बताया कि उज्जैन जिला स्तर की उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए अंतरविद्यालयीन प्रतियोगिताएँ 1 अक्टूबर को दोपहर 2:00 बजे हिंदी अध्ययनशाला में होंगी, जिसमें कक्षा नवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थी भाग लेंगे। प्रतियोगिता में विजयी विद्यार्थियों को कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पांडेय द्वारा सम्मान राशि, शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जाएगा। प्रतियोगिता संयोजक डॉ शिवी भसीन एवं डॉ अरविंद शुक्ला ने बताया कि जिला स्तर की मध्यप्रदेश राष्ट्रभाषा प्रचार समिति के सौजन्य से आयोजित प्रतिभा प्रोत्साहन प्रतियोगिता 2022 के अंतर्गत विभिन्न प्रतियोगिताएँ - वादविवाद, काव्यपाठ, एकल लोकगीत एवं चित्रांकन से शब्दांकन हिंदी अध्ययनशाला, विक्

मध्यप्रदेश हिन्दी ग्रन्थ अकादमी के स्वर्ण जयंती वर्ष का समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह 30 सितंबर को विक्रम कीर्ति मंदिर में

एक दिवस पूर्व हुई राज्य स्तरीय निबंध प्रतियोगिता मध्यप्रदेश हिंदी ग्रन्थ अकादमी द्वारा विक्रम विश्वविद्यालय के सहयोग से होगा अंतरराष्ट्रीय परिसंवाद विक्रम विश्वविद्यालय में प्रारम्भ होगा अकादमी का पुस्तक विक्रय केंद्र उज्‍जैन। मध्यप्रदेश हिन्दी ग्रन्थ अकादमी, भोपाल के स्वर्ण जयंती वर्ष का समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह और अंतरराष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन में 30 सितंबर 2022 को होगा। एक दिवस पूर्व राज्य स्तरीय अंतरविश्वविद्यालयीन निबंध प्रतियोगिता का आयोजन पुरातत्व संग्रहालय में किया गया, जिसमें प्रदेश के विभिन्न भागों के विद्यार्थियों ने भाग लिया। यह जानकारी देते हुए मध्यप्रदेश हिंदी ग्रंथ अकादमी के संचालक श्री अशोक कड़ेल एवं विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन के माननीय उच्च शिक्षा मंत्री एवं मध्यप्रदेश हिंदी ग्रन्थ अकादमी के अध्यक्ष डॉ मोहन यादव जी की संकल्पना से मध्यप्रदेश हिंदी ग्रंथ अकादमी, भोपाल का स्वर्ण जयंती समापन समारोह 30 सितंबर को विक्रम विश्वविद्यालय के सहयोग से विक्रम कीर्ति मंदिर म

विक्रम विश्वविद्यालय परिसर में गत दो वर्ष में रोपित किये गए साढ़े पाँच हजार से अधिक पौधे

विश्वविद्यालय 5 जी तकनीक से बढ़ायेगा हरीतिमा उज्‍जैन। विक्रम विश्वविद्यालय में गत दो वर्षों में साढ़े पाँच हजार से अधिक पौधे रोपित किये गए। इनमें औषधीय गुण रखने वाले पौधे जैसे आँवला, हरशृंगार, गुड़हल, अमरुद, जामुन, इमली, अमलतास, बादाम, इलायची, नीम, पीपल आदि शामिल हैं। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन 5 जी तकनीक से पौधरोपण में वृद्धि कर बढ़ाएगा हरीतिमा। अपने प्राकृतिक सौंदर्य और हरे-भरे वातावरण के लिए विक्रम विश्वविद्यालय पूरे भारत में प्रसिद्ध है। यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य और हरा-भरा वातावरण, यहाँ के शांतिमय माहौल को और भी रमणीय बना देता है। उज्जैन के इस प्राकृतिक सौंदर्य और वृक्षों के आपस के मेल का सबसे खूबसूरत चित्र विक्रम विश्वविद्यालय परिसर में देखा जा सकता है। विश्वविद्यालय परिसर सदैव अपने प्राकृतिक सौंदर्य के लिए चर्चित रहा है और यहाँ गत दो वर्षों में वृक्षारोपण पर विशेष ध्यान दिया गया है। विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि विश्वविद्यालय 5 जी तकनीक का उपयोग करते हुए अपने परिसर को हरा-भरा बनाये रखने के लिए संकल्पित है। 5 जी तकनीक को स्पष्ट कर

ब्रह्माकुमारी संस्था के शिव दर्शन धाम में पांच दिवसीय ज्ञान वर्षा प्रवचन माला का तीसरा सत्र "प्रेम की शक्ति" सम्पन्न हुआ

उज्जैन। वेद नगर स्थित ब्रह्माकुमारी संस्था के शिव दर्शन धाम में पांच दिवसीय ज्ञान वर्षा प्रवचन माला का आज तीसरा सत्र जिसका विषय "प्रेम की शक्ति" पर कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें अरविंद जैन जी, चंदेश मंडोलिया जी, वंदना गुप्ता जी, सविता आचार्य जी तथा ब्रम्हाकुमारी उषा दीदी मंजू दीदी , निरुपमा बहन, शामिल हुए । आज के कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन व विषय पर संबंधित नृत्य कुमारी अक्षिता ने करके किया । अरविंद जैन जज ने कहा कि, वर्तमान समय में समाज में, घर में, स्वयं में प्रेम की आवश्यकता है। यदि आपके अंदर दया प्रेम भाईचारा नहीं है। तो मैं मानता हूं कि आप मानव ही नहीं है। आज पति-पत्नी, पिता-पुत्र सभी एक दूसरे के विपरीत खड़े हैं लेकिन पहले बड़ा परिवार सुखी परिवार होता था और अभी हम दो हमारे दो यह हमारे एक है फिर भी सुखी नहीं है , प्रेम नहीं है। प्रेम एक ऐसी अनुभूति है जिसको शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है अंतर्मन का भाव है, प्रेम अतः हम सभी का कर्तव्य है कि इस प्रेम के दीपक को हर एक को बाटे। चंद्रेश मंडलोई जी, विधि सहायक अधिकारी ने कहा कि, नवरात्रि पर्व ही वह उत्सव है