Skip to main content

Posts

भारत के आत्म स्वाभिमान और गुलामी से मुक्ति की प्रतीक है हिंदी – प्रो शर्मा

भारत के आत्म स्वाभिमान और गुलामी से मुक्ति की प्रतीक है हिंदी  – प्रो शर्मा  हिन्दी सेवियों का अभिनंदन एवं भाषा गौरव सम्मान अलंकरण का आयोजन सम्पन्न   प्रतिष्ठित संस्था राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना द्वारा 18 वें वर्ष में प्रतिवर्षानुसार देश के प्रतिष्ठित हिन्दी सेवियों का अभिनंदन एवं भाषा गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया। लोकमान्य तिलक शिक्षा महाविद्यालय, उज्जैन के सभागार में  आयोजित इस समारोह के मुख्य अतिथि श्री दिवाकर नातू, वरिष्ठ शिक्षाविद् एवं पूर्व अध्यक्ष, सिंहस्थ प्राधिकरण, मुख्य वक्ता प्रो. शैलेन्द्र कुमार शर्मा, कला संकायाध्यक्ष, विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन थे। अध्यक्षता श्री ब्रजकिशोर शर्मा राष्ट्रीय अध्यक्ष, राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना ने की। विशिष्ट अतिथि लोकमान्य तिलक शैक्षणिक न्यास के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गिरीश भालेराव एवं महासचिव डॉ प्रभु चौधरी थे। इस अवसर पर विश्वभाषा हिंदी :  नए क्षितिज की ओर विषय पर केंद्रित राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। समारोह में डॉ. जगदीशचन्द्र शर्मा, एसोसिएट प्रोफेसर, हिन्दी अध्ययनशाला, डॉ. हरीश कुमार सिंह, पूर्व अधिकारी, भारतीय जीवन

श्री अच्युतानंद गुरू अखाड़ा व्यायामशाला न्यास, उज्जैन पर श्री हनुमान चालीस पाठ एवं महा-आरती का आयोजन

उज्जैन : देश के यशस्वी प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदीजी के 71वें जन्मदिन के अवसर पर श्री अच्युतानंद गुरू अखाड़ा व्यायामशाला न्यास, उज्जैन पर सयुक्त हनुमान चालीस पाठ एवं महा-आरती का आयोजन म.प्र.शासन के पूर्व केबिनेट मंत्री, उज्जैन उत्तर के लोकप्रिय विधायक एवं श्री अच्युतानंद गुरू अखाड़ा व्यायामशाला न्यास के अध्यक्ष माननीय श्री पारस चन्द्रजी जैन के मुख्य अतिथ्य मे सम्पन्न किया गया। कार्यक्रम मे विशेष रूप से उपस्थित सर्वश्री न्यास के कोषाध्यक्ष श्री पुरूषोत्तमजी टेलर, सह-सचिव श्री संजय पालीवाल, ट्रस्टमण्डल सदस्य श्री गोपाल कसेरा, श्री कमल बंगरिया, न्यास संचालक श्री गुरूदेव उपाध्याय, सयुक्त संचालक श्री दीलिप बंसोडे, न्यास पूजारी श्री गणेश गिरी गोस्वामी, श्री रमण शर्मा आदि मुख्य रूप से उपस्थित थें।  देश के यशस्वी प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्रमोदीजी के जन्मदिन के अवसर पर उज्जैन उत्तर के लोकप्रिय विधायक श्री पारसचन्द्रजी जैन द्वारा उनके द्वारा सम्पूर्ण भारत वर्ष मे चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में विद्यार्थियों को विस्तृत जानकारी दी गई। देश के यशस्वी प्रधान मंत्री माननीय नरेन

उज्जैन में हिन्दी सेवियों का अभिनंदन एवं भाषा गौरव सम्मान अलंकरण का आयोजन होगा।

उज्जैन : राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना द्वारा 18वें वर्ष में प्रतिवर्षानुसार देश के श्रेष्ठ हिन्दी सेवियों का अभिनंदन एवं भाषा गौरव सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने बताया कि समारोह लोकमान्य तिलक शिक्षा महाविद्यालय उज्जैन में दिनांक 18 सितम्बर, शनिवार को दोपहर में होगा। समारोह के मुख्य अतिथि श्री दिवाकर नातू वरिष्ठ शिक्षाविद् एवं अध्यक्ष सिंहस्थ मेला समिति, सारस्वत अतिथि श्री हरेराम वाजपेयी अध्यक्ष हिंदी परिवार इंदौर, मुख्य वक्ता डॉ. शैलेन्द्र कुमार शर्मा कला संकायाध्यक्ष विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन, विशिष्ट अतिथि श्री किशोर खण्डेलवाल, अध्यक्ष लोकमान्य तिलक शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक न्यास, उज्जैन तथा अध्यक्षता श्री ब्रजकिशोर शर्मा राष्ट्रीय अध्यक्ष, राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना करेंगे। समारोह में डॉ. जगदीशचन्द्र शर्मा, एसोसिएट प्रोफेसर, हिन्दी अध्ययनशाला, डॉ. हरीश कुमार सिंह, पूर्व अधिकारी भारतीय जीवन बीमा निगम, श्री राजेन्द्र श्रोत्रिय, वरिष्ठ कवि साहित्यकार जावरा (रतलाम), श्री अविनाश शर्मा प्रबन्ध सम्पादक हिन्दी ज्योति बिम्ब जयपुर एवं श

रक्तदान करने वाले वैज्ञानिक दृष्टि से अनेक लाभ प्राप्त कर सकते हैं - कुलपति प्रो पांडेय

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस पर हुआ रक्तदान शिविर उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के जन्म दिवस पर माधव भवन में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में शिक्षकों, कर्मचारियों और विद्यार्थियों ने भाग लिया। मध्यप्रदेश के महामहिम राज्यपाल एवं कुलाधिपति श्री मंगुभाई पटेल के मार्गदर्शनानुसार हुए इस कार्यक्रम की अध्यक्षता विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने की। विशिष्ट अतिथि कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक थे।  कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिवस पर उन्हें बधाई देते हुए उनके दीर्घायु जीवन की कामना की। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में दान की बड़ी महिमा है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से रक्तदान करने वाले को अनेक लाभ होते हैं। राष्ट्रीय सेवा योजना और एनसीसी से जुड़े युवा सेवा और समर्पण की मिसाल हैं। कोरोना जैसी महामारी पर प्रभावी अंकुश के लिए स्वच्छता अभियान और पर्यावरण संरक्षण महत्वपूर्ण सिद्ध हो रहे हैं। उन्ह

विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा बी. कॉम (ऑनर्स) सीबीसीएस सहित 7 परीक्षाओं के परिणाम घोषित

  उज्जैन  : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा ने बताया कि, विक्रम विश्वविद्यालय , उज्जैन  द्वारा   बी. कॉम (ऑनर्स) सीबीसीएस सहित 7  परीक्षाओं  के  परिणाम घोषित हुए हैं, जिसे विद्यार्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं...

विश्वकर्मा जयंती पर स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी को मिली नए कोर्स कृषि अभियांत्रिकी की सौगात

विक्रम यूनिवर्सिटी,उज्जैन में हुआ देवशिल्पी विश्वकर्मा जी का पूजन एवं परिसंवाद उज्जैन : स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन में देवशिल्पी विश्वकर्मा जयंती पर परिसंवाद का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता माननीय कुलपति अखिलेश कुमार पांडेय ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में कुलानुशासक प्रो. शैलेंद्र कुमार शर्मा थे। एसओईटी ने निदेशक डॉ गणपत अहिरवार ने कार्यक्रम की पीठिका प्रस्तुत की। परिसंवाद को संबोधित करते हुए कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पांडेय ने कहा कि देवशिल्पी विश्वकर्मा ने भारतीय सभ्यता और संस्कृति के विकास में अविस्मरणीय योगदान दिया है। उनके योगदान को सभी स्तर के पाठ्यक्रमों में शामिल किया जाना चाहिए। नए दौर में भारतीय ज्ञान परंपरा की विशेषताओं पर अध्ययन, अध्यापन और अनुसंधान की आवश्यकता है। हमारी ज्ञान संपदा को लेकर युवा पीढ़ी में गौरव का भाव होना चाहिए। कुलपति प्रो पांडेय द्वारा विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग संस्थान में नए कोर्स कृषि अभियांत्रिकी प्रारम्भ करने की घोषणा की। उन्होंने इंजीनियरिंग के शिक्षकों को पढ़ने,पढ़ाने और बढ़ाने का भी सन्देश दि

संगठन की सफलता के लिए सामूहिक उत्तरदायित्व की भावना आवश्यक - डॉ. चौधरी , शिक्षक संचेतना की आयोजन समिति बैठक सम्पन्न

संगठन में शक्ति होती है इसीलिये कहा गया है कि संघे शक्ति कलोयुगे। हम एक ही राष्ट्रीय विचारधारा में सकारात्मकता के साथ नवीन प्रयोग समारोह एवं स्थानो का चयन सामूहिक निर्णय से करते आ रहे है। जिससे संस्था दो दशक से विविध आयोजनो से देश में सम्मानजनक पहचान बना सकी है। संगठन की सफलता के लिये समस्त सदस्यो के सामूहिक उत्तरदायित्व की भावना से संगठन को अपेक्षित सफलताएं प्राप्त हो रही है। उपर्युक्त विचार राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की आयोजन समिति बैठक में महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आगामी माह 19 एवं 20 अक्टुबर को होने वाले अखिल भारतीय साहित्यकार सम्मेलन के आयोजन के संबंध में पदाधिकारियों के मार्गदर्शन में व्यक्त किये। आयोजन की प्रभारी एवं राष्ट्रीय संयोजक डॉ. अनसूया अग्रवाल ने कहा कि नेतृत्व के साथ सक्रिय रूप से साथ-साथ कार्य करने से सफलता निश्चित ही प्राप्त होती है। बैठक की अध्यक्षता समिति की अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता डॉ. मुक्ता कौशिक ने बताया कि छत्तीसगढ़ प्रदेश के पदाधिकारियों को गर्व होना चाहिये कि देश के प्रमुख लगभग एक सौ पदाधिकारी हमारे आमंत्रण

विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा एमबीबीएस सहित 4 परीक्षाओं के परिणाम घोषित

उज्जैन  : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा ने बताया कि, विक्रम विश्वविद्यालय , उज्जैन  द्वारा एमबीबीएस  सहित 4  परीक्षाओं  के  परिणाम घोषित हुए हैं, जिसे विद्यार्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं...

विक्रम विश्वविद्यालय में रक्तदान शिविर का आयोजन 17 सितम्बर को

उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय की अध्यक्षता तथा डॉ. प्रशांत पुराणिक, कुलसचिव के विशिष्ट आतिथ्य में दिनांक 17 सितंबर 2021 शुक्रवार को दोपहर 12:00 बजे से माधव भवन में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर में एनएसएस, एनसीसी तथा विश्वविद्यालय के विद्यार्थी, शिक्षक एवं कर्मचारी अधिकारीगण भाग लेंगे। रक्तदान शिविर विद्यार्थी कल्याण विभाग एनसीसी 10 वीं बटालियन तथा राष्ट्रीय सेवा योजना फार्मेसी यूनिट के सहयोग से संपन्न होगा। समस्त विभागाध्यक्षों, शिक्षकों, विद्यार्थियों तथा स्टाफ मेंबर से इस रक्तदान शिविर में भाग लेने का अनुरोध विद्यार्थी कल्याण संकायाध्यक्ष डॉ सत्येंद्र किशोर मिश्रा ने किया है।

हिंदी एक सरल ,सक्षम और समृद्ध भाषा है - डॉ.शहाबुद्दीन शेख

समन्वयात्मकता, सर्व समावेशकता, लचीलापन तथा सर्वग्राहृयता के आधार पर हिंदी एक सरल,सक्षम और समृद्ध भाषा है। इस आशय का प्रतिपादन राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के राष्ट्रीय मुख्य संयोजक प्राचार्य डॉ. शहाबुद्दीन नियाज मुहम्मद शेख, पुणे, महाराष्ट्र ने किया। राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के तत्वावधान में हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित आभासी अंतरराष्ट्रीय गोष्ठी में वे अध्यक्षीय उद्बोधन दे रहे थे। डॉ. शहाबुद्दीन शेख ने आगे कहा कि हिंदी के पास हजार-बारह सौ से अधिक वर्षों की गौरवशाली परंपरा है। लोक व्यवहार व एक संपर्क भाषा के रूप में हिंदी ने जनमानस की भाषा बनने का गौरव प्राप्त किया है। सहज,सुलभ, सुगम, प्रवाहमयी तथा अपनी सुबोधता के कारण हिंदी आज व्यापार,संचार व बाजार की प्रमुख भाषा के रूप में उभर रही है। मुख्य अतिथि डॉ .शैलेंद्र कुमार शर्मा, कुलानुशासक,हिंदी विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन ने कहा कि मानसिक गुलामी को तोड़ने के लिए हिंदी के गौरव का आत्म सम्मान करना होगा। हिंदी ने भारतीय मानस को परंपरागत मूल्यों से जोड़ा है। चालीस देशों के चालीस करोड़ भारतीय भारत के बाहर हिंदी का प्रचार कर रहे हैं। प्र

एनएसयूआई सोशल मीडिया विभाग के जिला सह-समन्वयक बने लकी चौबे

भोपाल जिला एनएसयूआई सोशल मीडिया विभाग के जिला समन्वयक नियुक्त किए गए भोपाल:- भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ( एनएसयूआई ) भोपाल के जिला अध्यक्ष आशुतोष चौकसे के निर्देश पर मध्य प्रदेश एनएसयूआई सोशल मीडिया के चेयरमैन अंकुर बटरी ने सोशल मीडिया विभाग के भोपाल जिला समन्वयक और सह-समन्वयक की नियुक्ती की। जिसमें समन्वयक गगन सिंह, सह-समन्वयक लक्की चौबे और सत्यम झा को नियुक्त किया गया। एनएसयूआई सोशल मीडिया के नवनियुक्त सभी पदाधिकारियों को संगठन के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने बधाई दी।

उज्जैन स्मार्ट सिटी लिमिटेड में हुआ विक्रम विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी संस्थान के छात्रों का चयन

उज्जैन : एसओईटी संस्थान के बी.टेक सिविल इंजीनियरिंग के विद्यार्थी स्वरूप मालवीय, अजित गौर एवं जितेश सिंह का चयन एआईसीटीई इंटर्नशिप के लिए उज्जैन स्मार्ट सिटी लिमिटेड में हुआ। चयनित छात्र इंटर्नशिप के दौरान यूएससीएल के कई प्रोजेक्ट जैसे, स्मार्ट रोड, मयूर वन, मृदा, अंडरग्राउंड डक्टिंग आदि में सेवा देंगे। विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ अखिलेश कुमार पांडेय, कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक, कुलानुशासक प्रो. शैलेन्द्र कुमार शर्मा एवं एसओईटी संस्थान के निदेशक डॉ गणपत अहिरवार एवं समस्त प्राध्यापकों के द्वारा चयनित छात्रों को बधाई दी गई।

जरूरी है कि सभी राष्ट्र प्रेमी हिंदी को अपनाएं - श्री शुक्ल

  जरूरी है कि सभी राष्ट्र प्रेमी हिंदी को अपनाएं - श्री शुक्ल वैश्विक संदर्भ में हिंदी : संवर्धन और संभावनाएं पर हुई विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन की हिंदी अध्ययनशाला में हिंदी दिवस के अवसर पर अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। यह संगोष्ठी वैश्विक संदर्भ में हिंदी : संवर्धन और संभावनाएं पर केंद्रित थी। आयोजन की अध्यक्षता विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने की। मुख्य अतिथि प्रवासी साहित्यकार श्री सुरेश चंद्र शुक्ल शरद आलोक, ओस्लो, नॉर्वे एवं विशिष्ट अतिथि कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक थे। आयोजन में हिंदी विभागाध्यक्ष प्रो शैलेंद्र कुमार शर्मा, प्रो हरिमोहन बुधौलिया, प्रो प्रेमलता चुटैल, प्रो गीता नायक, डॉक्टर जगदीश चंद्र शर्मा आदि ने विषय से जुड़े विविध पहलुओं पर विचार व्यक्त किए। आयोजन में उपलब्धिपूर्ण कार्यकाल के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को शॉल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह अर्पित कर उनका सम्मान किया गया। कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने कहा कि भारत विविधताओं का द

स्वदेशी, स्वभाषा और स्वराज, आज़ादी की लड़ाई के तीन मूल स्तंभ थे - अमित शाह

केन्द्रीय गृह और सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित हिंदी दिवस 2021 समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में हुए शामिल श्री अमित शाह ने वर्ष 2018-19, 2019-20 और 2020-21 के दौरान राजभाषा हिंदी में उत्कृष्ट कार्य करने वाले मंत्रालयों, विभागों और उपक्रमों आदि को राजभाषा कीर्ति और राजभाषा गौरव पुरस्कार प्रदान किए हिंदी का किसी स्थानीय भाषा से कोई मतभेद नहीं है, हिंदी भारत की सभी भाषाओं की सखी है और यह सहअस्तित्व से ही आगे बढ़ सकती है आज़ादी के 75 वर्षों के उपल्क्ष्य में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पूरा देश आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है प्रधानमंत्री जी ने लालक़िले की प्राचीर से आज़ादी के अमृत महोत्सव के लक्ष्यों में से एक लक्ष्य आत्मनिर्भर भारत का भी रखा है आत्मनिर्भर शब्द सिर्फ उत्पादन, वाणिज्यिक संस्थाओं के लिए नहीं है बल्कि आत्मनिर्भर शब्द भाषाओं के बारे में भी होता है और तभी आत्मनिर्भर भारत का सपना साकार होगा देश के प्रधानमंत्री दुनिया के उच्च से उच्च अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भी हिंदी में बोलते हैं, अपनी भाषा में बोलते हैं, तो हमें किस चीज क

मध्यप्रदेश खबर