Skip to main content

Posts

Showing posts from February, 2022

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 28 फरवरी 2022

  उज्जैन  कोरोना हेल्थ बुलेटिन दि नांक 28 फरवरी  2022 आज  पॉजीटिव आए सैंपल की संख्या = 02 आज ठीक होकर घर पहुंचे मरीजों की संख्या = 4 आज की स्थिति में उपचारत मरीज (आज के  पॉजी टिव मरीज मिलकर)= 49 आज दिनांक  को  कोरोना से हुई  मृत्यु = 00 आज दिनांक तक कोरोना से कुल मृत्यु = 176

विज्ञान दिवस पर भौतिकी अध्ययनशाता में वेबिनार का आयोजन

उज्जैन : भौतिकी अध्ययनशाला, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के उपलक्ष्य में विज्ञान सप्ताह आयोजित किया जा रहा है। जिसमें प्रथम दिवस को विज्ञान पर वेबीनार आयोजित हुआ। वेबीनार में मुख्य अतिथि वक्ता के रुप में डॉ. प्रशांत शुक्ला, वैज्ञानिक अधिकारी, बीएआरसी, मुंबई एवं डॉ आर. के. छजलानी, पूर्व अध्यापक, विक्रम विश्वविद्यालय आमंत्रित थे। कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार पांडे ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। विभागाध्यक्ष डॉ स्वाति दुबे ने स्वागत भाषण दिया। डॉ प्रिया दुबे ने डॉ. प्रशांत शुक्ला का परिचय दिया। डॉ प्रशांत शुक्ला ने "कॉस्मिक इंटरेक्शन्स विद अर्थ" पर व्याख्यान दिया। सेवानिवृत्त प्रो. आर. के. छजलानी का परिचय डॉ.अपूर्वा मूले ने दिया। डॉ. छजलानी ने नोबेल पुरस्कार विजेता डॉ सी.वी. रमन के शोध की वर्तमान संदर्भों में प्रासंगिकता के बारे में विस्तार से समझाया और सर सी. वी. रमन के जीवन चरित्र के माध्यम से छात्रों को भौतिक विज्ञान के प्रति प्रेरित किया। अंत में डॉ. रत्ना अग्रवाल ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में अधिकतम संख्या में छात्रों ने उपस्थिति देकर विज्ञ

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के मार्गदर्शक वाजपेई को सम्मान

हिंदी परिवार इंदौर के अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के मार्गदर्शक वरिष्ठ साहित्यकार श्री हरेराम बाजपेई को मध्यप्रदेश लेखक संघ के प्रतिष्ठित सारस्वत सम्मान से सम्मानित किया गया। मानस भवन भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में इस अवसर पर श्री मनोज श्रीवास्तव, डॉक्टर राम वल्लभाचार्य ,पद्मश्री विजय दत्त श्रीधर एवं अनेक साहित्यकार उपस्थित थे। चित्र उसी अवसर का। राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की ओर से श्री वाजपेई जी को अध्यक्ष ब्रजकिशोर शर्मा, डॉ शैलेंद्र कुमार शर्मा, डॉ प्रभु चौधरी सहित समस्त पदाधिकारियों ने बधाइयां शुभकामनाएं दी है ।

धार्मिक स्थल प्रयागराज एवं उज्जैन सभी दृष्टिकोण से अद्भुत

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के तत्वावधान में “प्रयागराज एवं उज्जैन का धार्मिक, पौराणिक, आध्यात्मिक, शिक्षा, साहित्य के महत्व“ विषय पर आयोजित राष्ट्रीय आभासी संगोष्ठी में अध्यक्षीय उद्बोधन दे रहे डॉ. शहाबुद्दीन नियाज मोहम्मद शेख ने कहा कि विश्व में हम सर्वश्रेष्ठ संस्कृति में जी रहे हैं और देश के पास धार्मिक आध्यात्मिक परंपरा भी है। कुंभ मेला एवं ऐतिहासिकता है परंपराएं हैं। भारत देश ने आध्यात्मिक परंपरा को संभाल कर रखा है। और हर क्षेत्र में अपना धार्मिक आध्यात्मिक क्षेत्र है और सबका अपना महत्व है। मुख्य अतिथि श्री बृजकिशोर शर्मा, ने कहा कि प्रयागराज और उज्जैन में ऊर्जा का प्रवाह होता है। अस्तित्व की विशेषता को सरल ढंग से रखा गया है। प्रयागराज में कुंभ का मेला होता है साथ ही स्कंद पुराण में बताया गया है। कि संसार में यह वैज्ञानिक स्थित है उज्जैन प्राचीन नगरी है। जहां पर पाषाण प्राप्त होता है। विशिष्ट अतिथि डॉ गोकुलेश्वर कुमार द्विवेदी, सचिव विश्व हिंदी साहित्य सेवा संस्थान, प्रयागराज ने कहा कि प्रयाग के प्रभाव का वर्णन इतना विस्तृत है। जो कि शास्त्रों में लिखा गया है। प्रयागराज त

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन दिनांक 27 फरवरी 2022

उज्जैन  कोरोना हेल्थ बुलेटिन दि नांक 27 फरवरी  2022 आज  पॉजीटिव आए सैंपल की संख्या = 05 आज ठीक होकर घर पहुंचे मरीजों की संख्या = 04 आज की स्थिति में उपचारत मरीज (आज के  पॉजी टिव मरीज मिलकर)= 51 आज दिनांक  को  कोरोना से हुई  मृत्यु = 00 आज दिनांक तक कोरोना से कुल मृत्यु = 176

स्वयं आधारित शिक्षा से होगा इक्कीसवीं सदी में शिक्षा का विस्तार - कुलपति प्रो राव

इ क्कीसवीं सदी का भारत : उपलब्धि, चुनौतियां और समाधान विषय पर राष्ट्रीय शोध संगोष्ठी सम्पन्न दस राज्यों के शिक्षाविदों और शोध अध्येताओं को अर्पित किए गए अवगत अवार्ड 2022 उज्जैन : महर्षि पाणिनि संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय, उज्जैन, अक्षरवार्ता अंतरराष्ट्रीय शोध पत्रिका एवं संस्था कृष्ण बसंती द्वारा संयुक्त रूप से 27 फरवरी को अभिरंग नाट्यगृह में राष्ट्रीय संगोष्ठी सह व्याख्यान सम्पन्न हुए। यह संगोष्ठी इक्कीसवीं सदी का भारत : उपलब्धि, चुनौतियां और समाधान (संस्कृति, शिक्षा, साहित्य, चिंतन और समाज के परिप्रेक्ष्य में) विषय पर अभिकेंद्रित थी। कार्यक्रम में अक्षरवार्ता अंतरराष्ट्रीय शोध पत्रिका एवं संस्था कृष्ण बसंती द्वारा अवगत अवार्ड 2022 प्रदान किए गए। संगोष्ठी के उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव, कार्यक्रम के अध्यक्ष महर्षि पाणिनि संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलपति प्रो सी जे विजय कुमार मेनन एवं विशिष्ट अतिथि विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रो. शैलेंद्रकुमार शर्मा थे। प्रारंभ में संगोष्ठ

कलेक्टर की अध्यक्षता में स्वर्णिम भारत मंच के कार्यकर्ताओं की दीपोत्सव को लेकर बैठक सम्पन्न

  500 से ज्यादा वालिंटियर की एक साथ हुई मीटिंग   उज्जैन ।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आव्हान पर  दीपोत्सव पर दीपक प्रज्वलित करने के लिए समूचा उज्जैन जुट गया है। हर कोई महाशिवरात्रि पर दीपक जलाकर वर्ल्ड रिकार्ड  बनाने में जुटा है ।  शनिवार को स्वर्णिम भारत मंच व कायस्थ समाज के लगभग 500 से अधिक कार्यकर्ताओ की बैठक अध्यक्ष दिनेश श्रीवास्तव के नेतृत्व में कलेक्टर आशीष सिंह , स्मार्ट सिटी सीइओ आशीष पाठक ,जगदीश अग्रवाल ,कवि दिनेश दिग्गज की प्रमुख उपस्थित में सिहंस्थ मेला कार्यालय पर सम्पन्न हुई। सभी ने कलेक्टर को विश्वास दिलाया कि, हम जमकर मेहनत करेंगे उज्जैन को वर्ल्ड रिकॉर्ड दिलाएंगे । कलेक्टर आशीष सिंह ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि इतनी बड़ी संख्या में एक ही व्यक्ति के नेतृत्व में लोग आए है । स्वर्णिम भारत मंच व कायस्थ समाज प्रशासन का अभिन्न हिस्सा है। आपके उत्साह से लगता है कि महाकाल की नगरी का नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा । कलेक्टर आशीष सिंह को सभी कार्यकर्ताओं ने हाथ खडे कर विश्वास भी दिलाया की हम आपके साथ है। कैसे जलाएं दीपक नही आना है

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 26 फरवरी 2022

उज्जैन  कोरोना हेल्थ बुलेटिन दि नांक 26 फरवरी  2022 आज  पॉजीटिव आए सैंपल की संख्या = 09 आज ठीक होकर घर पहुंचे मरीजों की संख्या = 12 आज की स्थिति में उपचारत मरीज (आज के  पॉजी टिव मरीज मिलकर)= 50 आज दिनांक  को  कोरोना से हुई  मृत्यु = 00 आज दिनांक तक कोरोना से कुल मृत्यु = 176

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के प्रांगण में "आजादी का अमृत से स्वर्णिम भारत की ओर" तहत समाज सेवा प्रभाग और व्यापार एवं उद्योग प्रभाग का कार्यक्रम सम्पन्न

उज्जैन : ऋषिनगर स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के प्रांगण में "आजादी का अमृत से स्वर्णिम भारत की ओर" इसके तहत समाज सेवा प्रभाग और व्यापार एवं उद्योग प्रभाग का कार्यक्रम रखा गया । इस कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलित करके किया गया जिसमें शामिल हुए भ्राता रमेश सामधानी जी (संरक्षक सिंधु जागृत समाज, उज्जैन होटल एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट), रवि प्रकाश जी लंगर (गवर्नर रोटरी क्लब) , नलिनी लंगर (गवर्नर रोटरी क्लब) ,भ्राता श्याम माहेश्वरी जी (समाजसेवी एवं पेड़ वाले बाबा ) , भ्राता सुभाष चंद्र दुबे जी (लायंस क्लब डिस्टिक कोर्डिनेटर) , बहन सुरेखा दुबे जी (लायंस क्लब) वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षिका उषा दीदी जी , ब्रम्हाकुमारी मंजू दीदी, सम्मिलित हुए। कुमारी हिमाक्षी और कु. शानवी ने शिव अवतरण परआधारित नृत्य प्रस्तुत किया। भ्राता श्याम माहेश्वरी जी (समाजसेवी एवं पेड़ वाले बाबा के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इन्होंने उज्जैन शहर में लाखों पेड़ बांटे और लगवाए हैं। उन्होंने कहा परमपिता परमात्मा का आगमन हो चुका है तो हम अपने आपसे पूछे हैं हम क्या कर रहे हैं परमात्मा

तकनीकी के प्रयोग से बढ़ेगा भारतीय भाषाओं का शब्द कोश - प्रो नागेश्वर राव

राष्ट्रीय शिक्षा नीति और भारतीय भाषाओं का भविष्य पर हुआ राष्ट्रीय परिसंवाद उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन की हिंदी अध्ययनशाला द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति और भारतीय भाषाओं का भविष्य विषय पर अभिकेंद्रित राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन 26 फरवरी को किया गया। आयोजन के प्रमुख अतिथि इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) के कुलपति एवं केंद्रीय हिंदी निदेशालय, नई दिल्ली के निदेशक प्रो नागेश्वर राव थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने की। परिसंवाद में विशिष्ट अतिथि महर्षि पाणिनि संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर सी जे विजयकुमार मेनन, विक्रम विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक, कला संकायाध्यक्ष प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा, प्रो प्रेमलता चुटैल, प्रो हरिमोहन बुधौलिया, प्रो गीता नायक, डॉ जगदीश चंद्र शर्मा ने विचार व्यक्त किए। इग्नू के कुलपति प्रो नागेश्वर राव ने कहा कि हमारे पास हिंदी और भारतीय भाषाओं का विशाल शब्द भंडार है। उसमें अभिवृद्धि के लिए दैनंदिन जीवन में प्रचलित और विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं के शब्

मध्यप्रदेश खबर

नेशनल न्यूज़