Skip to main content

Posts

Showing posts from June, 2022

विक्रम विश्वविद्यालय में बदलते हुए परिवेश और परिस्थितियों में जैव प्रौद्योगिकी से जुड़े नए पाठ्यक्रम दे रहे हैं युवाओं को नई दिशा

प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हैं रोजगार की अपार संभावनाएं उज्जैन। बदलते परिवेश एवं बदलती हुई परिस्थितियों में स्थानीय और अन्तराष्ट्रीय ज़रूरतों के अनुरूप पाठ्यक्रमों का संचालन, उनमें परिवर्धन तथा विद्यार्थियों द्वारा रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रमों का चयन बहुत आवश्यक है। इसी दिशा में सार्थक प्रयास करते हुए विक्रम विश्वविद्यालय ने पिछले डेढ़ वर्ष में लगभग दो सौ नवीन पाठ्यक्रम प्रारम्भ किए हैं। इनके सहित स्नातक, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा, पीजी डिप्लोमा और प्रमाण पत्र स्तर के पाठ्यक्रमों की संख्या 243 से अधिक हो गई है। इन पाठ्यक्रमों के माध्यम से विद्यार्थियों के कौशल विकास के साथ-साथ रोजगार प्राप्त करने की संभावनाओं में वृद्धि होगी। प्राणिकी एवं जैवप्रौद्योगिकी अध्ययनशाला, विक्रम विश्वविद्यालय का प्राचीनतम एवं उच्च अध्ययन एवं शोध का केंद्र है। यह सन् 1962 में विश्व प्रसिद्ध वैज्ञानिक  प्रोफेसर डॉ हरस्वरूप जी द्वारा प्रारम्भ किया गया था। इस विभाग में कई पाठ्यक्रम जैसे बी. एस. सी. ऑनर्स बायोटेक्नोलॉजी, एम. एससी. प्राणिकी, एम. एससी. जैवप्रौद्योगिकी, पीएच. डी. प्राणिकी/ जैवप्रौद्योगिकी,

विक्रम विश्वविद्यालय में 14 जुलाई तक किए जा सकेंगे प्रवेश के लिए आवेदन

उज्जैन ।   विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन की समस्त अध्ययनशालाओं, संस्थानों एवं विभागों में संचालित विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश की तिथि में वृद्धि की जाकर प्रवेश की अंतिम तिथि दिनांक 14 जुलाई 2022 निर्धारित की गई है। कुलानुशासक प्रो शैलेंद्र कुमार शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि, प्रवेश के इच्छुक विद्यार्थी विस्तृत जानकारी के लिए विश्वविद्यालय की वेबसाइट एवं संबंधित अध्ययनशाला, संस्थान एवं विभाग से सम्पर्क कर सकते हैं। पाठ्यक्रमों में प्रवेश हेतु विद्यार्थी पूर्ववत् एमपी ऑनलाईन के माध्यम से प्रवेश आवेदन एवं शुल्क जमा करवा सकेंगे।  

विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा बीबीए सहित 10 परीक्षाओं के परिणाम घोषित

उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा ने बताया कि, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा  बीबीए सहित 10 परीक्षाओं  के परिणाम घोषित हुए हैं, जिसे विद्यार्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर देख सक ते हैं...  

सम्मान के लिए नहीं समाज सेवा के लिए काम करें- शर्मा जी

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के राष्ट्रीय अधिवेशन में आभासी बैठक में राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के अध्यक्ष श्री बृजकिशोर शर्मा , पूर्व शिक्षा अधिकारी ने अपना मंतव्य देते हुए कहा कि हमारी संस्था विचारों के माध्यम से समाज को जागृत और प्रशिक्षित करना चाहती है । उसके लिए हमें समाज के प्रति सेवा भाव रखने वाले, राष्ट्र के प्रति समर्पण भाव रखने वाले, विचार वान व्यक्ति , चिंतक व्यक्तियों को संस्था से जोड़ना चाहिए जो कि, वित्तीय दृष्टि, विचार संप्रेषण की दृष्टि से , विस्तार की दृष्टि से संस्था को आगे बढ़ाना चाहते हों। उसके लिए ।हमें मानद सदस्यता भी देना होगी।संस्था के संरक्षक डॉक्टर शैलेंद्रकुमार शर्मा ने राष्ट्रीय समारोह आयोजको को धन्यवाद दिया । संस्था के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने आय-व्यय का व्योरा दिया और पिछले वर्ष के कार्यक्रमों पर प्रकाश डाला । साथ ही साथ आगामी योजनाओं पर भी चर्चा करते हुए कहा कि,- 31 जुलाई को प्रेमचंद जयंती, 14 अगस्त को आजादी का अमृत महोत्सव, 20 अगस्त को हरियाणा और पंजाब प्रदेश का चंडीगढ़ में कार्यक्रम होगा, 11से 18 सितंबर को हिंदी सप्ताह मनाया जाएगा

प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय नशा निवारण दिवस

उज्जैन।   प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय ऋषि नगर उज्जैन द्वारा 26 जून 2022 को "नशीले पदार्थों के दुरुपयोग और अवैध व्यापार के विरुद्ध अंतरराष्ट्रीय नशा निवारण दिवस" के रूप में मनाया गया। शिव दर्शन धाम में नशा मुक्ति हेतु प्रदर्शनी लगाई गई । करीबन 100 लोगों ने प्रदर्शनी का लाभ उठाया। स्वयं संपूर्ण नशा मुक्त बन अन्य को भी नशा मुक्त बनने में सहयोग करने की प्रतिज्ञा ली । ब्रह्मा कुमारी मंजू दीदी ने नशा मुक्त बनाने की विधि बताया। उन्होंने कहा राजयोग के अभ्यास द्वारा नशा मुक्त बनना पूर्णतया संभव है । साथ ही कुछ लोगों के अनुभव का लेनदेन भी किया गया जो नशा करते थे और आज संपूर्ण नशा मुक्त और सात्विक जीवन जी रहे हैं। उज्जैन । प्रजापिता ब्रह्मा कुमारीज ईश्वरी विश्व विद्यालय कोयला फाटक उज्जैन द्वारा 26जून को "नशीले पदार्थों के सेवन और व्यापार के विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस " के रूप में मनाया गया। 26 जून को रेलवे स्टेशन पर नशा मुक्ति प्रदर्शनी लगाई गई ।   प्रदर्शनी का उद्घाटन डॉक्टर भोजराज शर्मा जी , (आर एम ओ सिविल हॉस्पिटल) , भ्रा

करियर की संभावनाओं को लेकर कुलपति जी ने परिसंवाद में छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए दिए सफलता के गूढ़ मंत्र

विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत हुआ करियर मार्गदर्शन परिसंवाद उज्जैन । विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत उज्जैन के विजयाराजे शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में करियर की संभावनाओं पर एक महत्वपूर्ण सेमिनार का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित विक्रम विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय ने छात्राओं से संवाद करते हुए उन्हें सफलता के गूढ़ मंत्र दिए। विक्रम विश्वविद्यालय ने हाल में ही विश्वविद्यालय चलो अभियान की शुरुआत की है, जिसके चलते विश्वविद्यालय के शिक्षक विभिन्न विद्यालयों एवं महाविद्यालय में जाकर विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय में संचालित होने वाले पाठ्यक्रमों की जानकारी एवं करियर से सम्बंधित मार्गदर्शन प्रदान कर रहे है। इसी क्रम में उज्जैन के विजयाराजे शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में डॉ शिवि भसीन, डॉ अंजलि उपाध्याय, डॉ अरविन्द शुक्ला, डॉ मोहित प्रजापति एवं डॉ सागर जैस्वाल द्वारा विक्रम विश्वविद्यालय में संचालित होने वाले मुख्य पाठ्यक्रमों की जानकारी प्रदान की गई। इसी कड़ी को आगे बढ़ा

मध्यप्रदेश खबर

नेशनल न्यूज़