Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2020

Six courses of SWAYAM appear in best 30 online courses of 2019 in the Class Central list AND HRD Minister urges students to explore UGC MOOCs for various UG and PG courses

Ministry of Human Resource Development Six courses of SWAYAM appear in best 30 online courses of 2019 in the Class Central list The Class Central (a free online course aka MOOC aggregator from top universities like Stanford, MIT, Harvard, etc.) has released the list of best 30 online courses of 2019 out of which 6 courses are from SWAYAM. The ‘Study Webs of Active Learning for Young Aspiring Minds' (SWAYAM) an integrated platform for online courses, using information and communication technology (ICT) which covers school (9th to 12th) to Post Graduate Level. Till date, a total of 2867 Courses have been offered through SWAYAM and 568 courses have been uploaded to offer for January 2020 Semester. About 57 lakhs (57,84,770) unique users / registrations have been made on SWAYAM platform and about 1.25 cr (125,04,722) enrollments in various courses of SWAYAM. It also offers online courses for students, teachers and teacher educators. It may be accessed on  swayam.gov.in .   Follo

कोविड - 19 तथ्यपरक जागरूकता अभियान

विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन का अनुरोध  कोविड - 19 से सम्बंधित तथ्यात्मक सन्देशों को समस्त शिक्षकों, शोधकर्ताओं, विद्यार्थियों, शैक्षिक संस्थानों, जन समुदाय और समूहों के मध्य  प्रसारित करने का अनुरोध है। Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

शब्द शक्ति संबंधी भारतीय और पाश्चात्य अवधारणा तथा हिन्दी काव्यशास्त्र / प्रो. शैलेंद्रकुमार शर्मा 

भूमिका के अंश : प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा के इस ग्रंथ पर मूर्धन्य विद्वान-समालोचक गुरुवर आचार्य राममूर्ति त्रिपाठी (4 जनवरी 1929 -30 मार्च 2009) ने विस्तृत भूमिका लिखी थी, जो हिन्दी आलोचना के सांप्रतिक परिदृश्य  में सार्थक प्रतिपक्ष रचती है। नेशनल पब्लिशिंग हाउस, नई दिल्ली से प्रकाशित इस पुस्तक की भूमिका के अंश प्रस्तुत हैं। कुछ शोध-प्रबंध केवल उपाधि प्राप्त करने के लिए और उसके ब्याज से व्यक्तिगत रूप से लाभान्वित होने के लिए लिखे जाते हैं।फलतः इस अंधकार युग में भी कुछ प्रबंध नक्षत्रों की भाँति साहित्याकाश में अपना आलोकमय अस्तित्त्व बना लेते हैं। यह तभी होता है जब सारस्वत उपलब्धि के लिए गहरी निष्ठा और अपेक्षित श्रम तथा समर्पण हो। शोध ज्ञात से अज्ञात दिशा या क्षेत्र में मान्य अर्जित उपलब्धि और स्थापनाओं का दूसरा नाम है। ऐसे प्रयास सारस्वत यात्रा में कुछ जोड़ते हैं। ऐसे विरल प्रबंधों में डॉ शैलेन्द्रकुमार शर्मा का प्रबंध ‘शब्द शक्ति संबंधी भारतीय और पाश्चात्य अवधारणा तथा हिन्दी काव्यशास्त्र ’ एक उल्लेख्य प्रबंध है। आचार्य रामचन्द्र शुक्ल ने भारतीय रस पद्धति और शब्द-शक्ति विवेचन को व्यावह

मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन 30 अप्रैल 2020

Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

अब तक मध्यप्रदेश लाये गये अन्य प्रदेशों में फँसे 35 हजार श्रमिक

     भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 18:35 IST मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की मंशानुसार कोरोना संकट के कारण अन्य प्रदेशों में फँसे मध्यप्रदेश के श्रमिकों को वापस लाने का कार्य प्रभावी ढंग से संचालित किया जा रहा है। अब तक 35 हजार श्रमिक प्रदेश में वापस आ चुके हैं। अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल-रूम श्री आई.सी.पी. केशरी ने बताया कि 35 हजार श्रमिकों में से 30 अप्रैल को 11 हजार 281 श्रमिक राजस्थान के जैसलमेर, सीकर, झुंझुनू और झालावाड़ से मध्यप्रदेश के नीमच, आगर-मालवा, श्योपुर एवं गुना एन्ट्री प्वाइंट पर लाये गये हैं। इसी तरह गुजरात से करीब 500 लोग आज आये हैं। उत्तर प्रदेश से आज ही करीब एक हजार श्रमिक आयेंगे। इनको भोजन करवाने और स्वास्थ्य परीक्षण के बाद इनके गृह जिलों में भेजा जा रहा है। प्रतिदिन करीब 3-4 हजार लोग पैदल प्रदेश में आ रहे हैं। इसमें सर्वाधिक लोग उत्तर प्रदेश से आ रहे हैं। राजस्थान के मध्यप्रदेश में फँसे 4 हजार श्रमिकों को वापस भेजा गया है। प्रदेश से करीब 4 हजार श्रमिक उत्तर प्रदेश भेजे जा रहे हैं। अन्य जिलों में फँसे 35 हजार श्रमिकों को गृह स्थान भेजा गया

मुख्यमंत्री किसानों को ऑनलाइन भेजेंगे बीमा राशि के 2990 करोड़

किसानों को खरीफ-रबी की बीमा राशि मिलेगी   भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 20:15 IST मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एक मई को दोपहर 3 बजे किसानों को कुल 2990 करोड़ फसल बीमा राशि का ऑनलाइन भुगतान करेंगे। इससे प्रदेश के 14 लाख 93 हजार 171 किसान लाभान्वित होंगे। किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया कि 8 लाख 33 हजार 171 किसानों को खरीफ फसल की बीमा राशि के रूप में एक हजार 930 करोड़ रुपये प्रदान किये जा रहे हैं। इसी प्रकार, 14 लाख 93 हजार 171 किसानों को रबी फसल की बीमा राशि के रूप में एक हजार 60 करोड़ का भुगतान किया जायेगा। मंत्री श्री पटेल ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सरकार बनते ही फसल बीमा की 2200 करोड़ रुपये की राशि का बीमा कम्पनियों को प्रीमियम का भुगतान कर दिया था। इसके परिणाम स्वरूप ही किसानों को फसल बीमा की राशि प्रदाय की जा रही है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बीमित फसलें मंत्री श्री पटेल ने बताया कि खरीफ फसलों के अंतर्गत सोयाबीन, मक्का, धान, तुअर, बाजरा, ज्वार, कोदो, तिल, मूँगफली, कपास, मूँग और उड़द का बीमा हुआ है। इसी प्रकार, रबी फसलों के अंतर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रसोईयों के खातों में अंतरित किये मानदेय के 42 करोड़

  भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 18:06 IST मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रदेश के 2  लाख 10 हज़ार रसोइयों के बैंक खातों में उनके अप्रैल माह के मानदेय की राशि 42 करोड़ रुपए सिंगल क्लिक के माध्यम से मंत्रालय से अंतरित की। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव, संचालक जनसंपर्क श्री ओ.पी. श्रीवास्तव उपस्थित थे।   हर माह भिजवा रहे हैं मानदेय की राशि मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मध्याहन भोजन योजना के रसोईयों से कहा कि  कोरोना संकट के कारण बच्चों को पके हुए मध्यान्ह भोजन के स्थान पर पैसा एवं खाद्यान्न  दिया जा रहा है। इसके कारण आपको रसोई नहीं पकानी पड़ रही है। इसके बावजूद सरकार को आपका पूरा ध्यान है तथा आपको हर माह 2 हज़ार रुपए मानदेय की राशि आपके बैंक खातों में भिजवाई जा रही है। कोरोना के संबंध में लोगों को जागरूक करें मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे रसोइए भाई-बहन अपने गाँव एवं क्षेत्र में लोगों को कोरोना के संबंध में जागरूक करें। वे उन्हें बताएँ कि कोरोना को हराने के लिए सब लोग

प्रदेश में कोरोना संक्रमण में आई उल्लेखनीय कमी : मुख्यमंत्री श्री चौहान

टेस्ट किए गए प्रकरणों में मात्र 2.4 प्रतिशत पॉजिटिव : इंदौर के 451 टेस्ट में से 10 पॉजिटिव मुख्यमंत्री ने की कोरोना पर नियंत्रण की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा   भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 20:11 IST मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण में उल्लेखनीय कमी आई है। आज 30 अप्रैल को आई टेस्ट रिपोर्ट में प्रदेश में मात्र 2.4 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। भोपाल में 1.9 प्रतिशत इंदौर में 2.2 प्रतिशत तथा जबलपुर में 4.4 प्रतिशत प्रकरण पॉजिटिव पाए गए हैं। यह अच्छे संकेत हैं। हम शीघ्र ही कोरना को परास्त करेंगे। श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कोरोना की नियंत्रण एवं बचाव संबंधी व्यवस्थाओं की वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अब इंदौर की स्थिति में भी निरंतर तेज गति से सुधार हो रहा है। आज की टेस्ट रिपोर्ट में इंदौर के 451 टेस्ट रिजल्ट में से मात्र 10 पॉजिटिव आए हैं। प्रदेश की 30 अप्रैल की टेस्ट रिपोर्ट में कुल 2617 टेस्ट में से केवल 65 टेस्ट पॉजिटिव आए हैं। भोपाल के 1275 टेस्ट र

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 30 अप्रैल 2020

Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

मध्य प्रदेश सरकार ने वरिष्ठ अफसरों को विभिन्न राज्यों में फंसे हुए अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। ये विभिन्न हिस्सों से लोगों को वहां की सरकारो के समन्वय से सकुशल घर वापस लाएंगे।

विभिन्न प्रदेशों में फँसे लोगों को वापस लाने में समन्वय के लिये अधिकारियों को सौंपे दायित्व   भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 18:19 IST देश भर में लॉकडाउन के कारण मध्यप्रदेश के अनेक नागरिक, श्रमिक, विद्यार्थी, दर्शनार्थी एवं अन्य प्रोफेशनल्स आदि अन्य राज्यों में रुके हुए हैं। इसी प्रकार अन्य प्रदेशों के नागरिक मध्यप्रदेश में रुके हुए हैं। वे सब अपने-अपने प्रदेश एवं घर जाने को इच्छुक हैं। गृह मंत्रालय भारत सरकार द्वारा इस तरह के व्यक्तियों के आवागमन की अनुमति कुछ शर्तों के साथ प्रदान की गई है। इस कार्य के लिये राज्यों से समन्वय कर विभिन्न प्रदेशों में फँसे लोगों का आवागमन सुगम एवं सुचारू रूप से सम्पादित करने का दायित्व भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को सौंपा गया है। अपर मुख्य सचिव और प्रभारी स्टेट कंट्रोल रूम श्री आई.सी.पी. केशरी ने जानकारी दी है कि ये अधिकारी उन्हें आवंटित प्रदेश के समन्वय अधिकारियों, राज्य-स्तरीय कंट्रोल रूम भोपाल एवं मध्यप्रदेश के जिला प्रशासन के साथ आवश्यक समन्वय कर फंसे हुए लोगों का सुरक्षित एवं प्रोटोकाल का पालन करते हुए दोनों ओर का आवागमन सुनिश्चित क

भगवान श्री चित्रगुप्त जी के प्राकट्य दिवस पर भोग लगाया, जरूरतमंदों को बांटा

दस हजार जरूरतमन्दो तक पहुँचेगी मदद, समाज के घरों में भी पूजा कर लगाए दीपक    उज्जैन। कल गंगा  सप्तमी पर कायस्थ समाज के कुल देवता व  प्राणियों के कर्मो का लेखा जोखा रखने वाले श्री चित्रगुप्त जी भगवान का प्राकट्य दिवस  कायस्थ समाज  ने  मनाया। प्रकट दिवस पर सभी  चित्रगुप्त मंदिरों में भगवान की आरती व  भोग लगाकर  जरूरतमंदों  हेतु भोजन पैकेट का वितरण करना शुरू किया गया।  शाम को समाजजनो ने अपने घरों में पूजा पाठ आरती करके छत व बालकनी में  दीपक  भी लगाए। जिला प्रशासन के सहयोग हेतु कायस्थ समाज  ढाई हजार भोजन पैकेट प्रतिदिन  चार दिन तक वितरण करेगा इसके  समाज के जरूरतमंद लोगो को सुख राशन भी दिया जा रहा है।   आयोजन प्रमुख  दिनेश श्रीवास्तव व अनुपमा श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया कि  भगवान श्री चित्रगुप्त जी के प्राकट्य दिवस पर कायस्थ समाज ने लॉक डॉउन का पालन करते हुए अंकपात स्थित चित्रगुप्तधाम  सहित सभी मंदिरों में  भगवान की आरती कर भोग लगाया। तत्पश्चात समाज जनो की ओर से जरूरतमंद लोगों को भोजन पैकेट भी बांटे  शाम को समाज के घरों में दीपक भी लगाए।   3 मई तक ढाई हजार पैकेट प्रतिदिन 

जिलाधिकारी श्री सविन बंसल के निर्देशों के क्रम मे बनभूलपुरा के सभी सेक्टरों में मेडिकल टीमों तथा मोबाइल मेडिकल वैन द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है

हल्द्वानी - 30 अप्रैल (सूचना) - जिलाधिकारी श्री सविन बंसल के निर्देशों के क्रम मे बनभूलपुरा के सभी सेक्टरों में मेडिकल टीमों तथा मोबाइल मेडिकल वैन द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। बुधवार को अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 रश्मि पंत के नेतृत्व मे मोबाइल मेडिकल वैन द्वारा ओपीडी की गई तथा पैथोलोजिकल टैस्ट भी किये गये। जानकारी देते हुये डा0 पंत ने बताया कि सेक्टर-1 किदवई नगर, सेक्टर-2 चोगरलिया रोड, सेक्टर-3 इन्दिरा नगर, सेक्टर-4 उजाला नगर बरेली रोड तथा सेक्टर-5 ताज चैराहा में मोबाइल वैन ने भ्रमण कर 130 लोगो की ओपीडी की तथा 14 पैथोलोजिकल टैस्ट भी किये। उन्होने बताया कि भ्रमण के दौरान लोगों को खांसी जुकाम बदन दर्द की दवाईयां निशुल्क दी गई तथा गर्मी के मौसम को देखते हुये ओआरएस के पैकेट भी वितरित किये गये। डा0 रश्मि पंत ने बताया कि अब तक बनभूलपुरा क्षेत्र में 9639 परिवारों के 55766 लोगों का परीक्षण किया जा चुका है। Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  h

वाहनों का कर जमा करने की अंतिम तारीख 15 मई निर्धारित

उज्जैन 30 अप्रैल। राज्य शासन ने प्रदेश में लॉकडाउन के चलते वाहनों का संचालन और परिवहन कार्यालय बंद होने के कारण वाहनों का मासिक तथा त्रैमासिक कर जमा करने की अंतिम तारीख को बढ़ाकर 15 मई 2020 निर्धारित कर दिया है। परिवहन आयुक्त श्री व्ही.मधु कुमार द्वारा म.प्र.मोटरयान कराधान नियम-1991 के नियम-7 के अंतर्गत इस बारे में परिपत्र जारी किया गया है। Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

एक मई को 15 लाख किसानों को मिलेंगे फसल बीमा के 2990 करोड़ । राज्य सरकार ने जमा किया 22 सौ करोड़ रुपए का प्रीमियम

  उज्जैन 30 अप्रैल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश के 15 लाख किसानों को एक मई को उनके बैंक खातों में फसल बीमा की कुल 2990 करोड़ की राशि प्राप्त हो जाएगी।  श्री चौहान ने बताया कि पिछली सरकार ने खरीफ एवं रबी फसलों के लिए देय प्रीमियम 22 सौ करोड़ का भुगतान नहीं किया था। इसके कारण किसानों को फसल बीमा का लाभ नहीं मिला। उन्होंने कहा कि हमने सरकार बनते ही मार्च माह में बीमा कंपनियों की यह राशि जारी कर दी, जिससे अब किसानों को फसल बीमा राशि प्राप्त हो जाएगी। प्रमुख सचिव कृषि ने बताया कि सरकार द्वारा खरीफ वर्ष 2018 तथा रबी वर्ष 2018-19 की फसल बीमा के प्रीमियम की राशि बीमा कंपनियों को जारी कर दी गई है। अब इन वर्षों की फसल बीमा की राशि किसानों को प्राप्त हो जाएगी। खरीफ 2018 में प्रदेश के 35 लाख किसानों द्वारा फसलों का बीमा कराया गया था। उनमें से 8.40 लाख किसानों को 19 सौ 30 करोड़ रुपए की बीमा राशि प्राप्त होगी। इसी प्रकार, रबी 2018-19 में प्रदेश के 25 लाख किसानों द्वारा रबी फसलों का बीमा कराया गया था। इनमें से 6.60 लाख किसानों को 10 सौ 60 करोड़ रुपए की बीमा राशि प्राप्त होगी।

एक करोड़ 16 लाख परिवारों को साढ़े सात लाख मैट्रिक टन से अधिक खाद्यान्न वितरित

मार्च , अप्रैल , मई तीन माह के खाद्यान्न का एक मुश्त वितरण उज्जैन 30 अप्रैल। राज्य शासन द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत मार्च, अप्रैल और मई का 889090.4 एमटी खाद्यान्न में से 89 प्रतिशत खाद्यान्न का एक मुश्त वितरण किया गया। इससे प्रदेश के एक करोड़ 16 लाख 84 हजार 560 जरूरतमंद लाभान्वित हुए हैं। प्रमुख सचिव, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री शिवशेखर शुक्ला ने बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन के चलते प्रदेश में सर्वाधिक 102 प्रतिशत खाद्यान्न वितरण दमोह जिले में किया गया। इस जिले के 2 लाख 91 हजार 34 जरूरतमंद परिवारों को एक लाख 64 हजार 8 एमटी खाद्यान्न वितरण किया गया है। कटनी 95 प्रतिशत खाद्यान्न वितरण वाला दूसरा जिला बना। यहाँ पर 2 लाख 14 हजार 839 जरूरतमंद परिवारों को जिले को आवंटित एक लाख 4 हजार 896 एमटी खाद्यान्न में से एक लाख 2 हजार 912 मैट्रिक टन खाद्यान्न वितरण किया गया। प्रमुख सचिव श्री शुक्ला ने बताया कि मंडला, सागर एवं उमरिया जिले आवंटित खाद्यान्न का 94-94 प्रतिशत खाद्यान्न वितरित कर तीसरे स्थान पर रहे। इन जिलों में से मंडला में 2 लाख 48 हजा

तेजनकर हॉस्पिटल की आकस्मिक जांच की गई । दो डॉक्टर एवं तीन पैरामेडिकल स्टाफ अनुपस्थित पाये गये

  उज्जैन 30 अप्रैल। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी द्वारा  दिये  गये  निर्देशों  के  तारतम्य  में  आज 30 अप्रैल को तेजनकर  हॉस्पिटल फ्रीगंज का आकस्मिक निरीक्षण किया तथा पाया कि यहां पर लम्बे समय से  दो डॉक्टर एवं तीन पैरामेडिकल स्टाफ  डयूटी से अनुपस्थित है। निरीक्षण टीप के आधार पर अपर कलेक्टर एवं सक्षम अधिकारी श्रीमती बिदिशा मुखर्जी ने तेजनकर अस्पताल के डॉ.सादिक खान, डॉ.महेन्द्र सिंह, नर्सिंग स्टाफ श्री अर्जुनसिंह राठौर, श्री राहुल पंवार, सुश्री पूजा पासी को नोटिस जारी कर आगामी 12 घंटे में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। साथ  ही चेतावनी  दी  गई  है  कि ड्यूटी पर उपस्थित नहीं होने की स्थिति में  उक्त स्टाफ के विरुद्ध आवश्यक सेवा  संधारण  तथा  विच्छिनता  निवारण अधिनियम-1979, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट-2005  तथा एपिडेमिक डिजिज एक्ट-1897 की  धाराओं  के तहत दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी। Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.c

येलो हॉस्पिटल का कांसेप्ट समाप्त अब सभी अस्पतालों में सभी मरीजों का इलाज हो सकेगा

उज्जैन 30 अप्रैल। राज्य शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर शशांक मिश्र ने आदेश जारी कर  उज्जैन  शहर में  येलो  हॉस्पिटल के  लिए  पूर्व में जारी किए गए आदेश निरस्त  कर दिए  है।  अब उज्जैन  शहर एवं  जिले  के सभी  निजी  एवं  शासकीय  अस्पतालों में सभी तरीके के  मरीजों का इलाज किया जा सकेगा। कलेक्टर ने आदेश जारी  किये  हैं कि कोई भी व्यक्ति किसी भी क्षेत्र से आया हो अस्पताल उसके इलाज के लिए इंकार नहीं कर  सकेंगे। सभी हॉस्पिटल प्रवेश द्वार पर चेकिंग करके सर्दी-खांसी के मरीजों की स्क्रीनिंग करेंगे। इसके लिए  पृथक से   मिनी  ओपीडी स्थापित की जाएगी। जांच उपरांत डॉक्टर्स यह  निर्णय  लेंगे  कि सर्दी खांसी से पीड़ित व्यक्ति कहीं  कोरोनो  वायरस  का  संदिग्ध  तो नहीं है। यदि  मरीज  संदिग्ध  अवस्था में  पाया जाता  है  तो उन्हें रेड हॉस्पिटल (माधव नगर एवं  आरडी गार्डी  हॉस्पिटल) में भेजा जाएगा। सभी निजी चिकित्सालय को इस आशय के निर्देश जारी करते हुए कहा है कि वह अपने यहां आने वाले मरीजों का यथोचित उपचार करेंगे किसी भी मरीज का उपचार करने से इनकार नहीं करेंगे। यदि इस तरह की कोई शिकायत आती है तो उन पर आवश्यक

निजी अस्पतालों की सतत निगरानी हेतु अपर कलेक्टर श्रीमती मुखर्जी को सक्षम अधिकारी नियुक्त किया

उज्जैन 30 अप्रैल। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के लिये शासन के निर्देश अनुसार उज्जैन के निजी चिकित्सालयों में सामान्य चिकित्सा सुविधाएं सुचारू रूप से जारी रखने और आपातकालीन चिकित्सा सुविधा को अनिवार्य रूप से उपलब्ध करवाने के सम्बन्ध में कलेक्टर ने सभी निजी अस्पताल के संचालकों को पूर्व में निर्देशित किया है। इन चिकित्सालयों की निगरानी रखने के लिये कलेक्टर ने विगत दिनों अपर कलेक्टर श्रीमती बिदिशा मुखर्जी को सक्षम अधिकारी नियुक्त किया है। इनके सहयोग हेतु कृषि विभाग के सहायक संचालक श्रीमती विनीता राय (9329740555), विकास प्राधिकरण के कार्यपालन यंत्री श्री कैलाश पाटीदार (9826579695) की ड्यूटी लगाई गई है। उक्त दल द्वारा सतत निगरानी का कार्य किया जा रहा है।             कलेक्टर द्वारा नियुक्त किये गये अधिकारी समस्त निजी अस्पतालों का सतत निरीक्षण कर सुनिश्चित करेंगे कि अस्पतालों में सामान्य उपचार सुविधाएं जारी रहें और आपातकालीन उपचार सुविधाएं आवश्यक रूप से उपलब्ध कराई जाये। किसी भी अनियमितता की स्थिति में आपदा प्रबंधन अधिनियम की धाराओं के अन्तर्गत कलेक्टर ने अपर कलेक्टर श्रीमती बिदिश

एसएनबीएनसीबीएस ने कोविड-19 सहित वायरल संक्रमणों के उपचार के लिए बेहतर प्रतिरक्षी शक्ति हेतु ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस बदलने के लिए नैनोमेडिसिन का विकास किया

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय    एस.एन. बोस नेशनल सेंटर फॉर बेसिक साईंसेज, कोलकाता (एसएनबीएनसीबीएस) के वैज्ञानिकों ने एक सुरक्षित एवं किफायती नैनोमेडिसिन विकसित की है जिसमें शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस बदलने के द्वारा कई प्रकार की बीमारियों के उपचार की संभावना है। यह अनुसंधान कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में उम्मीद की किरण प्रदान कर सकता है क्योंकि नैनोमेडिसिन स्थिति के अनुसार हमारे शरीर में रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पेसीज (आरओएस) को घटा या बढ़ा सकती है और रोग का उपचार कर सकती है। स्तनपायियों में आरओएस की नियंत्रित वृद्धि के लिए इस अनुसंधान की क्षमता कोविड-19 सहित वायरस संक्रमणों को नियंत्रित करने में नैनोमेडिसिन के अनुप्रयोग के लिए नई संभावना की उम्मीदें बढ़ाती है। कई रोगों के रिडक्शन एंड ऑक्सीडेशन प्रोसेसेज (रेडॉक्स) के लिए पशु परीक्षण पूर्ण हो चुका है और अब संस्थान मानवों पर नैदानिक परीक्षण करने के लिए प्रायोजकों की खोज कर रहा है।   यह मेडिसिन नींबू जैसे नींबू वर्गीय अर्क के साथ मैगनीज सॉल्ट से निकाले गए नैनोपार्टिकल्स को जोड़ती है। नैनोटेक्नोलॉजी की तरकीबों का उपयोग करते हुए मैगनीज और सा

डीपीआईआईटी का नियंत्रण कक्ष उद्योग एवं व्यापार जगत के मुद्दों पर नजर रखने के साथ-साथ लॉकडाउन अवधि के दौरान विभिन्न हितधारकों की कठिनाइयां दूर करने में भी निभा रहा है महत्वपूर्ण भूमिका  

वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय 89 प्रतिशत प्रश्नों का समाधान/निपटान किया जा चुका है   मंत्री, सचिव और वरिष्ठ अधिकारियों की नियमित निगरानी एवं समीक्षा से समस्‍याओं का समाधान तेजी से करने में मदद मिली है   टेलीफोन नंबर है 011 23062487 और ईमेल एड्रेस है controlroom-dpiit@gov.in वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अधीनस्‍थ उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने उद्योग एवं व्यापार जगत के मुद्दों पर पैनी नजर रखने और संबंधित राज्य सरकार, जिला एवं पुलिस अधिकारियों तथा अन्य संबंधित एजेंसियों के समक्ष इस तरह के मुद्दों को उठाने के लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया था। 26 मार्च, 2020 से अस्तित्‍व में आया यह नियंत्रण कक्ष निम्‍नलिख्रित पर नजर रखता है: ए. आवश्यक वस्तुओं के आंतरिक व्यापार, विनिर्माण, वितरण (डिलीवरी) और लॉजिस्टिक्‍स के मुद्दे; और बी. आपूर्ति श्रृंखला (सप्‍लाई चेन) के किसी भी मुद्दे को हल करने के लिए लॉकडाउन अवधि के दौरान विभिन्न हितधारकों के सामने आने वाली कठिनाइयां। 28 अप्रैल, 2020 तक पंजीकृत कुल 1962 प्रश्नों में से 1739 का समाधान/निपटान किया जा चुका है। वर्तमान में

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी और म्यांमार की स्‍टेट काउंसलर दाव आंग सान सू की के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत  

प्रधानमंत्री कार्यालय प्रधानमंत्री ने भारत में मौजूद म्यांमार के नागरिकों को भारत सरकार द्वारा हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 30 अप्रैल, 2020 को म्यांमार गणराज्य की स्‍टेट काउंसलर दाव आंग सान सू की के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। दोनों राजनेताओं ने घरेलू एवं क्षेत्रीय संदर्भों में उभरते कोविड-19 परिदृश्य पर चर्चा की और इस महामारी के फैलाव को नियंत्रित करने के लिए उठाए जा रहे कदमों पर एक-दूसरे को अपडेट किया।   भारत की ‘पड़ोसी पहले’ नीति के एक महत्वपूर्ण स्तंभ के रूप में म्यांमार के महत्व को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कोविड-19 के स्वास्थ्य और आर्थिक प्रभाव को कम करने हेतु म्यांमार को हरसंभव सहायता प्रदान करने के लिए भारत की तत्परता से अवगत कराया। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने भारत में मौजूद म्यांमार के नागरिकों को भारत सरकार द्वारा हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया, और इसके साथ ही उन्‍होंने म्यांमार के अधिकारियों द्वारा म्यांमार में भारतीय नागरिकों को दिए जा रहे सहयोग के लिए स्टेट काउंसलर का धन्यवाद किया। दोनों राजनेताओं ने कोवि

ग्रामीण महिलाओं का शिवशक्ति स्व-सहायता समूह भी बना रहा है सेनेटाइजर और मास्क

कहानी सच्ची है   भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 17:39 IST मुरैना जिले के ग्राम पुरावसखुर्द में गरीब महिलाओं ने नवम्बर-2018 में शिवशक्ति स्व-सहायता समूह का गठन कर टिफिन सेन्टर और पार्लर का संचालन शुरू किया। साथ ही सेनेटरी पैड्स का निर्माण भी शुरू किया। इस तरह यह समूह आर्थिक रूप से सशक्त बना है। कोरोना संक्रमण के दौर में समूह की महिलाओं ने सेनेटाइजर और मास्क बनाने का काम भी शुरू कर दिया है। शिवशक्ति महिला स्व-सहायता समूह कोरोना संक्रमण में अभी तक एक हजार सेनेटाइजर बॉटल्स और 30 हजार 850 मास्क बनाकर पंचायतों, पुलिस और स्वास्थ्य कर्मियों को न्यूनतम मूल्य पर उपलब्ध करवा चुका है। समूह की महिलाओं ने बाजार से 50 रुपये मीटर का कपड़ा खरीदकर 10 मास्क बनाने से काम की शुरूआत की। यह मास्क 10 रुपये प्रति नग के हिसाब से बेचती हैं। महिलाओं को प्रति मास्क डेढ़ से दो रुपये तक की बचत होती है। मास्क बनाने के काम से समूह की महिलाओं ने अभी तक 60 हजार रुपये कमाये हैं। समूह में 6 महिलाएँ हैं, जिन्हें समूह की संचालिका श्रीमती संतोषी तोमर योग्यता के आधार पर मास्क बनाने के काम के लिये क्रमश: 8 हजार, 6 हजार,

जीवन शक्ति योजना से जुड़ने गरिमा ने बनाया स्व-सहायता समूह  

कहानी सच्ची है भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 15:51 IST प्रदेश में हाल ही में जीवन शक्ति योजना का शुभारंभ होते ही उज्जैन की महिला श्रीमती गरिमा महावत ने योजना से जुड़ने का निश्चय किया। उन्होंने महिला स्व-सहायता समूह बनाकर उसमें बड़ी संख्या में शहरी महिलाओं को जोड़ा है। गरिमा इस योजना के माध्यम से कोरोना के विरुद्ध युद्ध में तैनात योद्धाओं के लिये बड़े पैमाने पर मास्क बनाने के लिये संकल्पित हो गई हैं। श्रीमती गरिमा महावत ने जीवन शक्ति योजना को प्रदेश की महिलाओं को आत्म-निर्भर बनाने की योजना बताया है। गरिमा मानती हैं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस योजना के माध्यम से शहरी महिला शक्ति को सम्मानित किया है तथा आत्म-निर्भर बनाने की पहल की है। जीवन शक्ति योजना प्रदेश के शहरी क्षेत्र की महिलाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से लागू की गई है। इस योजना से जुड़ने केलिये शहरी महिलाओं को योजना के पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीयन कराना होगा। स्थानीय प्रशासन द्वारा पोर्टल पर पंजीकृत महिलाओं को मास्क बनाने का आर्डर ऑनलाइन दिया जायेगा। महिलाएँ जब मास्क बनाकर स्थानीय प्रशासन को सौंपेगी,

आदिवासी अंचल में व्हाट्सएप ग्रुप्स से बच्चों तक पहुँच रहा स्कूल  

कहानी सच्ची है भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 15:21 IST कोरोना संकट के चलते मंडला ज़िले के आदिवासी बहुल मवई विकासखंड के, सुदूर वनवासी ग्राम चंदगांव के बैगाटोला में श्याम धुर्वे के घर से रोजाना जोर-जोर से ऐसी आवाज़ें आती हैं, मानो कोई स्कूल चल रहा हो। दरअसल खेतीहर मज़दूर श्याम धुर्वे के घर में उनके दो छोटे-छोटे बच्चे फुल वाल्यूम में मोबाईल पर शैक्षिक वीडियोज़ देखकर उससे भी तेज आवाज में पाठ को दोहराते हैं। श्याम धुर्वे का कहना है कि स्कूल बंद हैं पर बच्चों की पढ़ाई चालू है। श्याम का बेटा कक्षा तीसरी और बेटी ईश्वरी कक्षा दूसरी में है। आजकल वे घर पर भी रोजाना वैसे ही पढ़ रहे हैं, जैसे स्कूल में पढ़ते थे। कुछ लिखना, कुछ पढ़ना, कुछ गुनगुनाना और गिनती-पहाड़े दोहराना बच्चों की दिनचर्या का अहम हिस्सा बन गए हैं। स्कूल शिक्षा विभाग ने डिजीलेप (DigiLEP) यानि डिजीटल लर्निंग इनहेंसमेंट प्रोग्राम (दक्षता संवर्धन कार्यक्रम) में पूरे प्रदेश में शिक्षक एवं पालकों के 50,000 से अधिक वाट्सएप ग्रुप बनाए हैं। इन्हीं ग्रुप्स में रोजाना सुबह 10 बजे हर कक्षा के अनुरुप वही शैक्षिक वीडियोज़ और अन्य शैक्षिक सामग्री श

सी.एम. हेल्पलाइन से 4 लाख 75 हजार से अधिक लोगों को मिली राहत  

भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 14:48 IST प्रदेश में कोरोना के कारण लागू लॉकडाउन में सी.एम. हेल्पलाइन नम्बर 181 आम नागरिकों और सभी जरूरतमंदों के लिये सबसे बड़ा आसरा केन्द्र बन गया है। इस नम्बर पर अब तक 4 लाख 75 हजार 923 लोगों को फोन करने पर भोजन, राशन, दवाओं, परिवहन तथा अन्य प्रकार की राहत उपलब्ध कराई गई है। सी.एम. हेल्पलाइन किसानों के लिये भी मददगार साबित हो रही है। इस पर अब तक किसानों की फसल कटाई, फसल परिवहन आदि की 1019 समस्याओं का तुरंत निराकरण सुनिश्चित किया गया है। प्राप्त विस्तृत जानकारी के अनुसार सी.एम. हेल्पलाइन नम्बर 181 पर अब तक भोजन संबंधी 3 लाख 83 हजार 697, परिवहन संबंधी 23 हजार 174, दवाइयों संबंधी 28 हजार 080, आवश्यक वस्तुएं जैसे दूध, सब्जी आदि संबंधी 14 हजार 094 तथा अन्य प्रकार की 26 हजार 878 समस्याओं की जानकारी मिलते ही त्वरित कार्रवाई कर सहायता मुहैया कराई गई। Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/64

शासकीय धन्वन्तरि आयुर्वेद महाविद्यालयीन चिकित्सालय उज्जैन के शिक्षक चिकित्सक अधिकारी , मेडिकल ऑफिसर की ड्युटी जिला चिकित्सालय उज्जैन के ओपीडी एवं मेन इमरजेंसी मे लगाई गई

Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

कॉम्पिस्ट ने की प्रधानमंत्री जी से डीजल की दर एक निश्चित समय के लिए कम करने की मांग

भोपाल : कॉम्पिस्ट के अध्यक्ष श्री गोविंद गोयल एवं सचिव श्री संजय बुलचंदानी ने प्रधानमंत्री, वित्तमंत्री, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस एवं मंत्रालय के सचिवों को पत्र लिखकर अवगत कराया कि क्रूड के भाव आज दुनिया में सबसे कम है । वर्तमान दरों पर क्रूड खरीदकर क्रुड का भंडारण बढ़ाये, जिससे सरकार को फायदा हो, भंडारण क्षमता बढ़ाने के लिए और भंडारण बढ़ाएं तथा डीजल निश्चित अवधि के लिए किसानों, उद्योगपतियों, व्यापारियों को सस्ते दाम पर उपलब्ध कराएं, जिससे सरकार का भंडारण खाली हो और सरकार सस्ते दाम पर खरीद सके । कॉम्पिस्ट ने वर्तमान परिस्थितियों में डीजल के भाव में करीब 1 महीने के लिए 15 से 25% छूट की मांग की है, जिससे परिवहन सस्ता हो तथा किसानों का भी फायदा हो । Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

कोरोना संक्रमित मरोजोें के इलाज के लिए कुमांयू मण्डल के मेडिकल कालेजों व अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों में बैडों की संख्या बढाई जायेगी : आयुक्त कुमायू मण्डल

हल्द्वानी - 29 अप्रैल (सूचना) - कोरोना संक्रमित मरोजोें के इलाज के लिए कुमांयू मण्डल के मेडिकल कालेजों व अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों में बैडों की संख्या बढाई जायेगी। यह बात आयुक्त कुमायू मण्डल डा0 नीरज खैरवाल ने बुधवार को सर्किट हाउस मे आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होने कहा कि शासन द्वारा सुशीला तिवारी चिकित्सालय को कोविड-19 स्पेशलिस्ट चिकित्सालय के रूप में विकसित किया है। उन्होने बताया कि मण्डल के दुरस्थ इलाकों से संक्रमित होने वाले मरीजांे का इलाज करने लिए रूद्रपुर मेडिकल कालेज तथा अल्मोडा मेडिकल कालेज मे 300-300 बैड 25 मई तक तैयार करने के निर्देश दिये गये है। उन्होने बताया कि अल्मोडा मेडिकल कालेज में 35 आईसीयू बैड तैयार करने के लिए जिलाधिकारी अल्मोडा से वार्ता हो गई है। उन्होने सुशीला तिवारी चिकित्सालय में कोविड-19 के इलाज हेतु जो बैड है उनकी संख्या बढाने के निर्देश दिये और कहा कि एसटीएच मे जो 37 आईसीयू कक्ष है उनकी संख्या बढाकर 200 के आसपास की जाए। उन्होने कहा कि बेस चिकित्सालय हल्द्वानी में 12 से 16 बैड का आईसीयू बना दिया जाए। डा0 खैरवाल ने कहा कि बाहर के प्रदेशांे से आने व

आगरा स्मार्ट सिटी जीआईएस डैशबोर्ड का उपयोग करके कोविड – 19  हॉट-स्पॉट की निगरानी कर रहा है

आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय आगरा स्मार्ट सिटी ने एक जीआईएस डैशबोर्ड बनाया है, जिससे विभिन्न हॉटस्पॉट, हीट मैप, पॉजिटिव और रिकवरी के मामलों आदि की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। डैशबोर्ड को दैनिक आधार पर अपडेट किया जाता है और निम्न लिंक से डैशबोर्ड को देखा जा सकता है: http://covid.sgligis.com/agra यह डैशबोर्ड आईजीआईएस प्लेटफॉर्म पर विकसित किया गया है जो एक स्वदेशी तकनीक है। इसमें जीआईएस, इमेज प्रोसेसिंग, फोटोग्रामेट्री और सीएडी को एक साथ व एक ही प्लेटफॉर्म पर रखने तथा उपयोग करने की सुविधा है। यह प्लेटफॉर्म कृषि, रक्षा, वानिकी, आपदा प्रबंधन, भूमि सूचना, खनन, विद्युत्, स्मार्ट सिटी, शहरी नियोजन तथा स्थान एवं उपयोगिताआधारित सेवाजैसे क्षेत्रों से जुड़े समाधानों को भी पूरा करने में सक्षम है। डैशबोर्ड की कुछ विशेषताएं निम्न हैं: हीप मैपिंग ,  तिथि और ज़ोन के आधार पर विश्लेषण ,  संक्रमण  /  रोगमुक्त होने से सम्बंधित रुझान Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets

जनऔषधि केन्द्रों तक पहुँचने के लिए 325000 से अधिक लोग “जनऔषधि सुगम” मोबाइल ऐप का उपयोग कर रहे हैं

रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय   कोविड – 19  संकट के कारण राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान जनऔषधि सुगम मोबाइल ऐप, लोगों को अपने नजदीकी प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र (पीएमजेएके) का पता लगाने और किफायती जेनेरिक दवा प्राप्त करने में बहुत मदद कर रहा है। 325000 से अधिक लोग जनऔषधि सुगम मोबाइल ऐप का उपयोग कर रहे हैं। डिजिटल तकनीक का उपयोग करके लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए रसायन और उर्वरक मंत्रालय के फार्मास्युटिकल विभाग के अंतर्गत भारत फार्मा पीएसयू ब्यूरो (बीपीपीआई) द्वारा प्रधानमंत्री भारतीय जनऔषधि योजना (पीएमबीजेपी) के लिए इस मोबाइल एप्लिकेशन को विकसित किया गया है। इसका उद्देश्य लोगों को डिजिटल प्लेटफार्म के तहत सुविधाएँ प्रदान करना है। लोग अपने मोबाइल फ़ोन के माध्यम से उपयोगकर्ता-अनुकूल विकल्पों का लाभ उठा सकते हैं। इन विकल्पों में शामिल हैं – नज़दीकी जनऔषधि केंद्र का पता लगाना, गूगल मैप के जरिये नज़दीकी जनऔषधि केंद्र तक पहुँचने के मार्ग का पता लगाना, जनऔषधि जेनेरिक दवाओं की जानकारी प्राप्त करना, एमआरपी के आधार पर जेनेरिक और ब्रांडेड दवाओं की तुलना करना, अपनी बचत का हिसाब लगाना आदि। जनऔषध

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री कार्यालय ऋषि कपूर जी ‘टैलेंट का पावरहाउस’ थे : प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।   प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बहुआयामी, प्रिय और जिंदादिल ... यह ऋषि कपूर जी थे। वह टैलेंट का पावरहाउस थे। मैं उनके साथ हुई बातचीत को सदैव याद रखूंगा, यहां तक कि सोशल मीडिया पर हुई बातचीत को भी। वे फिल्मों और भारत की प्रगति को लेकर काफी आशावादी थे। मैं उनके निधन से व्यथित हूं। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।’    Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर शोक व्यक्त  

भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 14:37 IST मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने शोक संदेश में कहा है कि ऋषि कपूर ने एक समर्थ अभिनेता के रूप में देश-विदेश में आपनी पहचान बनाई। उन्होंने परिवार की अभिनय, निर्देशन और फिल्म निर्माण की परम्परा को भी समृद्ध बनाया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व. ऋषि कपूर को श्रद्धांजलि देते हुए संपूर्ण कपूर परिवार के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है। Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar

पाँच दिवसीय अल्प-विराम सत्र ऑनलाइन आयोजित करने का निर्णय

"लॉकडाउन में बाहर नहीं, भीतर चले" सिद्धांत पर होंगे सत्र   भोपाल : गुरूवार, अप्रैल 30, 2020, 14:34 IST राज्य आनंद संस्थान द्वारा ऑनलाइन कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से पाँच दिवसीय अल्प-विराम सत्र आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। इस कार्यक्रम में भाग लेने के इच्छुक व्यक्ति संस्थान की वेबसाइट https://www.anandsansthanmp.in/  पर अपना आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। पाँच दिवसीय अल्प-विराम कार्यक्रम में प्रतिदिन सुबह 10 से 11.30 बजे तक सत्र होगा। इसके पहले सुबह 7 से 8 बजे तक सभी प्रतिभागियों को स्वयं डायरी पेन के साथ एक घंटा दिए गये प्रश्नों का अल्प-विराम लेना होगा। 'प्रथम आये-प्रथम पाए' फार्मूले के आधार पर 40 प्रतिभागियों को इस कार्यक्रम में प्रवेश दिया जाएगा। कार्यक्रम के संबंध में अधिक जानकारी मोबाइल नम्बर-7723929667 पर प्राप्त की जा सकती है। जिन आवेदकों को अल्प-विराम कार्यक्रम में प्रवेश दिया जाएगा, उनके मोबाइल नम्बर के आधार पर संवाद के लिए एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा। व्हाट्सएप ग्रुप पर सभी प्रतिभागी एक-दूसरे से परिचय प्राप्त करेंगे। प्रतिदिन सुबह 10 से 11.30 बजे सत्

बेखबरों की खबर - अप्रैल 2020 अंक पढ़ने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें...

राष्ट्रीय पत्रिका बेखबरों की खबर का अप्रैल 2020 अंक पढ़ने के लिए नीचे फोटो पर क्लिक करें। 👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇 Bkk News Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets -  http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar