Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2024

विक्रम विश्वविद्यालय के मेगा जॉब फेयर और करियर काउंसलिंग में उमड़ी विद्यार्थियों की भीड़

विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन में आयोजित मेगा जॉब फेयर, करियर काउंसलिंग प्रवेशोत्सव में 725 से अधिक विद्यार्थियों ने जॉब पाई एवं 575 से अधिक विद्यार्थियों ने कैरियर मार्गदर्शन प्राप्त किया विक्रम विश्वविद्यालय में दो दिवसीय मेगा जॉब फेयर, करियर मार्गदर्शन, प्रवेशोत्सव और प्रतिभा सम्मान का उद्घाटन हुआ    उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय में विश्वविद्यालय चलो अभियान के तहत आयोजित प्रतिकल्पा उत्कर्ष IV मेगा जॉब, करियर काउंसलिंग, प्रवेशोत्सव एवं प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। करियर काउंसलिंग में विश्वविद्यालय की विभिन्न अध्ययनशालाओं ने अपने अपने विषय की करियर सद्भावनाओं के बारे में विद्यार्थियों को  मार्गदर्शन दिया। मेगा जॉब फेयर का उद्घाटन दिनांक 24 मई 2024 को प्रातः 10:30 बजे हुआ। जॉब फेयर में पतंजलि फूड कंपनी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर डॉ संजीव खन्ना और उज्जैन के जाने माने उद्योगपति श्री आनंद बांगड़ ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। अध्यक्षता कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने की। विशिष्ट अतिथि कार्यपरिषद सदस्य श्री वरुण गुप्ता, मंजूषा मिमरोट, कुलसचिव डॉ अनिल कुमार शर्मा, कुलानुशासक प

शक्ति पीठ व अखिल विश्व गायत्री परिवार के आध्यात्मिक कार्य प्रशंसनीय - श्री सिंह, प्रमुख सचिव, मध्यप्रदेश विधान सभा

🙏 द्वारा, राधेश्याम चौऋषिया, वरिष्ठ पत्रकार 🙏 भोपाल। शुक्रवार, 24 मई, 2024 को हरिद्वार प्रवास के दौरान श्री अवधेश प्रताप सिंह, प्रमुख सचिव, मध्य प्रदेश विधान सभा द्वारा देव संस्कृति विश्व विद्यालय के प्रति कुलपति एवं अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रतिनिधि डॉ चिन्मय पण्ड्या जी से भेंट कर आध्यात्मिक उत्थान, पर्यावरण तथा सांस्कृतिक विषयों पर चर्चा की गई। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री सिंह ने उद्ग़ार व्यक्त किए कि, शांति कुंज एवं अखिल विश्व गायत्री पीठ आध्यात्मिक ऊर्जा के केंद्र हैं तथा इनके द्वारा किये जा रहे संस्कार परिवर्तन कार्य सराहनीय हैं। इसके पूर्व श्री सिंह द्वारा पत्नी डॉ.प्रतिमा के साथ शान्तिकुंज गायत्री पीठ के संस्थापक पं. आचार्य जी के समाधि स्थल, 1926 से प्रज्वलित ज्योति, गायत्री माता मंदिर आदि का दर्शन लाभ लिया गया। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्या द्वारा गायत्री तीर्थ शान्तिकुंज का दर्शन, अखण्डज्योति आदि साहित्य भेंट किया गया।

हमें जीवन में बुद्ध के आचरण को अपनाना चाहिए - डॉ. पाल

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के तत्वावधान में 291 वी अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी जिसका विषय' महात्मा बुद्ध और उसके संदेश: वैश्विक परिपेक्ष में' में मुख्य वक्ता के रूप डॉ. हरि सिंह पाल ,महामंत्री, नगरी लिपि परिषद,दिल्ली ने अपने मंतव्य में कहा - हमें कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे किसी को मानसिक कष्ट पहुंचे। भगवान महात्मा गौतम बुद्ध के विचारों को जीवन में अपनाएं।। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बीके शर्मा, पूर्व शिक्षा अधिकारी, ने अध्यक्षीय भाषण में कहा-जीवन में हिंसा को रोकने का रास्ता ,बुद्ध का रास्ता है। बच्चे उनके विचार अपनाएं ऐसे कार्य हमें करने चाहिए। विशिष्ट अतिथि डॉ.रमा शर्मा, टोक्यो जापान ,ने कहा- जापान में 7700 मंदिर बुद्ध भगवान के बने हुए हैं। सम्पूर्ण देश महात्मा गौतम बुद्ध के अनुयायियों में प्रथम स्थान प्राप्त किया हैं।। विशिष्ट वक्ता डॉ .प्रभु चौधरी, महासचिव ,राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना ने कहा कि दया प्रेम अहिंसा के पुजारी महात्मा जी का सन्देश जीवन में परिवर्तन लाता है। डॉ चौधरी ने संस्था के ३०० आभासी संगोष्ठी का विस्तृत वर्णन किया।। आगामी सन्त श्री कबीर दास जयंती समारोह भोप

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा दो दिवसीय मेगा जॉब फेयर, करियर मार्गदर्शन, प्रवेशोत्सव और प्रतिभा सम्मान का आयोजन 24 एवं 25 मई को स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा दो दिवसीय मेगा जॉब फेयर, करियर मार्गदर्शन, प्रवेशोत्सव और प्रतिभा सम्मान का आयोजन 24 एवं 25 मई को स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में तीस से अधिक प्रतिष्ठित कम्पनियों द्वारा दिए जाएंगे जॉब अवसर और करियर मार्गदर्शन   विक्रम विश्वविद्यालय में संचालित लगभग तीन सौ पाठ्यक्रमों से जुड़ेंगे विद्यार्थी उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन द्वारा संचालित विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत 24 और 25 मई 2024 को जॉब फेयर, करियर काउंसलिंग, प्रवेशोत्सव और 12 वीं में सर्वोच्च अंकों के साथ उत्तीर्ण प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का सम्मान किया जाएगा। प्रतिदिन प्रातः 10:30 से सन्ध्या 5:00 बजे तक मेगा जॉब फेयर एवं करियर मार्गदर्शन शिविर का आयोजन किया जा रहा। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन के कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने बताया कि विद्यार्थी हित एवं विद्यार्थियों का समग्र विकास विक्रम विश्वविद्यालय ने सदैव अपना प्राथमिक दायित्व माना है। इसी क्रम में विश्वविद्यालय प्रति वर्ष रोजगार मेले, कैरियर काउंसलिंग और प्रतिभा सम्मान का आयोजन करता है। विश्वविद्यालय विद्यार्थी के समग्र विका

विक्रम विश्वविद्यालय विगत वर्षों से जैव विविधता के संरक्षण के लिए सजग, ऑक्सीजन टैक्स लगाना इसी तरह का नवाचार रहा है, विद्यार्थी इस विषय की गंभीरता को समझें - कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पाण्डेय

विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी अध्ययनशाला में प्रतियोगिता का आयोजन संपन्न, शैक्षणिक संस्थानों से 100 से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय में 22 मई से 2 जून 2024 तक चलाए जा रहे  विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों द्वारा अनेक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। इसी शृंखला में दिनांक 22 जनवरी 2024 को विक्रम विश्वविद्यालय के प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी अध्ययनशाला में विद्यार्थियों के लिए बायो डायवर्सिटी डे के उपलक्ष्य में क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। विभागाध्यक्ष डॉक्टर सलिल सिंह ने बताया कि इस प्रतियोगिता में विभिन्न विद्यालय और महाविद्यालय एवं विभागों के सौ से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम में क्विज प्रतियोगिता के बाद बायोडायवर्सिटी कंजर्वेशन विषय पर चर्चा हुई। इस चर्चा के मुख्य अतिथि मशहूर इतिहासकार एवं आर्कियोलॉजिस्ट डॉक्टर आर सी ठाकुर थे। उन्होंने अपने उद्बोधन में बताया कि भारत की संस्कृति में बायोडायवर्सिटी या जैव विविधता का विशिष्ट स्थान है। भारत सदैव जैवविविधता म

कौशल आधारित शिक्षा समाज में क्रांतिकारी बदलाव लायेगी - प्रो. सी. सी. त्रिपाठी

भोपाल। एनआईटीटीटीआर भोपाल, कौशल आधारित दो एक वर्षीय पीजी डिप्लोमा कार्यक्रम स्टार्ट करने जा रहा है। जो इंडस्ट्री 4.0 की आवश्यकता के अनुसार इंडस्ट्रियल इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IIoT) और रोबोटिक्स एंड ऑटोमेशन विषय पर होंगे। ये कार्यक्रम किसी भी पारंपरिक उद्योग और स्मार्ट उद्योग के बीच अंतर को पूरा करने के लिए तैयार किए गए हैं। इन कार्यक्रमों का उद्देश्य इंडस्ट्री की ग्रोथ के लिए इंटेलीजेंट डिजिटल टेक्नोलॉजीस के बारे में जानकारी प्रदान करना है।  संस्थान के निदेशक  प्रो. सी. सी. त्रिपाठी ने बताया कि कौशल विकास राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रमुख घटक है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुपालन से शैक्षड़िक जगत में आमूलचूल परिवर्तन आने वाला है।  यह कार्यक्रम निटर भोपाल के सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस द्वारा संचालित किये जायेंगे जहाँ थ्योरी के साथ रियल टाइम एप्लीकेशन एवं प्रैक्टिकल पर फोकस होगा। यह प्रोग्राम उद्योग जगत के लिए मानव संसाधन की आवश्यकता को भी पूर्ण करेगा।

विक्रम विश्वविद्यालय के डॉ सक्सेना को हृदय रोग डिटेक्टर का इंडियन पेटेंट प्राप्त

उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के डॉ विष्णु कुमार सक्सेना ने कंप्यूटर साइंस एन्ड इंजीनियरिंग विषय में शोध करने के उपरांत हृदय रोग डिटेक्टर का इंडियन पेटेंट करवाने में सफलता प्राप्त की है। डॉ सक्सेना द्वारा यह पांचवा इंडियन पेटेंट प्राप्त किया गया है। डॉ सक्सेना ने पेटेंट का कॉपीराइट भी प्राप्त किया है। कई स्वास्थ्य स्थितियाँ, मनुष्य की जीवनशैली, और उनकी उम्र और पारिवारिक इतिहास, हृदय रोग और दिल के दौरे के जोखिम को बढ़ा सकते हैं।  हृदय रोग के लिए कम से कम तीन प्रमुख जोखिम कारकों में से एक है: उच्च रक्तचाप, उच्च रक्त कोलेस्ट्रॉल और धूम्रपान। दिल का दौरा तब पड़ता है, जब हृदय की मांसपेशियों के एक हिस्से में रक्त की आपूर्ति में कमी हो जाती है, जो अक्सर पास की धमनी में रुकावट के कारण होता है। लक्षणों में छाती में दर्द शामिल है जो फैल सकता है।   इसी को ध्यान में रखते हुए हृदय रोग डिटेक्टर के एक नए डिज़ाइन के आविष्कार में एक मजबूत पायथन प्रोग्रामिंग रूपरेखा, डेटा विश्लेषण के लिए परिष्कृत एल्गोरिदम और विविध कार्डियक डेटासेट का एक व्यापक डेटाबेस शामिल है। सिस्टम में एकीकृत गहन शिक्षण म

विद्यार्थी हित एवं विद्यार्थियों का समग्र विकास ही विक्रम विश्वविद्यालय ने सदैव अपना प्राथमिक दायित्व माना है - कुलगुरु प्रो पाण्डेय

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा मेगा जॉब फेयर, करियर मार्गदर्शन और प्रतिभा सम्मान का आयोजन 24 एवं 25 मई को स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में  उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन द्वारा संचालित विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत 24 और 25 मई 2024 को जॉब फेयर, करियर काउंसलिंग, प्रवेशोत्सव और 12 वीं में सर्वोच्च अंकों के साथ उत्तीर्ण प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का सम्मान किया जाएगा। इस अवसर पर प्रतिदिन प्रातः 10:30 से सन्ध्या 5:00 बजे तक मेगा जॉब फेयर एवं करियर मार्गदर्शन शिविर का आयोजन किया जा रहा।  इस अवसर पर कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पांडेय ने बताया कि विद्यार्थी हित एवं विद्यार्थियों का समग्र विकास ही विक्रम विश्वविद्यालय ने सदैव अपना प्राथमिक दायित्व माना है। इसी क्रम में विश्वविद्यालय प्रति वर्ष रोजगार मेले, कैरियर काउंसलिंग और प्रतिभा सम्मान का आयोजन करता है। माननीय कुलगुरु जी ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार जॉब देने वाली कंपनियों के साथ उद्यमिता विकास की जानकारी देने वाली संस्थाएं भी महत्वपूर्ण हैं, इसलिए विद्यार्थियों को इसकी भी जानकारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा की

विद्यार्थी अपनी शिक्षा पूर्ण करते अच्छी नौकरी पाए या स्वरोजगार स्थापित करें यही शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य होता है- कुलगुरु प्रो पाण्डेय

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा मेगा जॉब फेयर, करियर मार्गदर्शन और प्रतिभा सम्मान का आयोजन 24 एवं 25 मई को स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में  उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन द्वारा संचालित विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत 24 और 25 मई 2024 को जॉब फेयर, करियर काउंसलिंग और 12 वीं में सर्वोच्च अंकों के साथ उत्तीर्ण प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का सम्मान किया जाएगा। इस अवसर पर प्रतिदिन प्रातः काल 10:30 से सन्ध्या 5:00 बजे तक मेगा जॉब फेयर का आयोजन किया जायेगा जिसमें 25 से अधिक कंपनियाँ भाग लेंगी। जॉब फेयर की तैयारियों के लिए विक्रम विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में विश्वविद्यालय के कुलगुरु प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में एक महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए कुलगुरु प्रो पांडेय ने बताया कि विद्यार्थी अपनी शिक्षा पूर्ण करते हुए अच्छी नौकरी पाएं या स्वरोजगार स्थापित करें, यही शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य है। उन्होंने  बताया कि इस जॉब फेयर में कंपनियों के साथ उद्यमिता विकास एवं शिक्षा एवं स्वरोजगार ऋण संबंधी जानकारी देने वाल

चार्वी मेहता जीतो नेशनल गेम्स में हिस्सा लेगी

उज्जैन।  इंटरनेशनल चैस खिलाड़ी चार्वी मेहता बैंगलोर में 24 से 26 मई तक आयोजित जीतो नेशनल गेम्स में मध्य प्रदेश का प्रतिनिधित्व करेगी। जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन की अगुवाई में प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन अकादमी में आयोजित चैंपियनशिप में सम्पूर्ण भारत से 2000 से अधिक खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।  यह जानकारी उज्जयिनी शतरंज संघ के अध्यक्ष संदीप कुलश्रेष्ठ एवं सचिव महावीर जैन ने देते हुए बताया कि,  चैंपियनशिप विश्व शतरंज महासंघ के नियम अनुसार स्विस पद्धति से आयोजित की जाएगी। केंद्रीय विद्यालय में कक्षा नवीं में अध्ययनरत चार्वी मेहता चीन में आयोजित एशियाई पैरा खेलों में शतरंज के दोनों फॉर्मेट में चतुर्थ स्थान प्राप्त कर शहर एवं प्रदेश को गौरवान्वित करने के साथ ही राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर की  प्रतियोगिताओं में कई पदक प्राप्त कर चुकी है।  राष्ट्रीय खिलाड़ी जयेश खत्री, राष्ट्रीय आर्बिटर नीरज सिंह कुशवाह, इंटरनेशनल खिलाड़ी ओमप्रकाश कंवल से शतरंज की बारीकियों का प्रशिक्षण प्राप्त चार्वी को वर्तमान में शतरंज के तकनीकी विशेषज्ञ अरबाज खान द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

महात्मा बुद्ध जयंती पर संगोष्ठी एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक आयोजित

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना की 291वीं आभासी संगोष्ठी महात्मा बुद्ध जयंती पर आयोजित होगी। इस अवसर पर राष्ट्रीय कार्यकारिणी की महत्वपूर्ण बैठक 23 मई 2024 गुरूवार सायं 5 बजे आयोजित की जा रही है। यह जानकारी राष्ट्रीय महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने देते हुए बताया कि संगोष्ठी मुख्य अतिथि डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा राष्ट्रीय संरक्षक उज्जैन विशिष्ट अतिथि डॉ. अशोक कुमार भार्गव आईएएस राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भोपाल, श्री हरेराम वाजपेयी राष्ट्रीय मार्गदर्शक इन्दौर, सुश्री रमा शर्मा टोकियो(जापान), मुख्य वक्ता डॉ. हरिसिंह पाल महामंत्री नागरी लिपि परिषद् नई दिल्ली एवं अध्यक्षता श्री ब्रजकिशोर शर्मा राष्ट्रीय अध्यक्ष उज्जैन करेंगे।  संगोष्ठी में विशेष अतिथि श्री पदमचंद्र गांधी जयपुर डॉ. अनसुया अग्रवाल राष्ट्रीय मुख्य संयोजक महासमुंद डॉ. शिवा लोहारिया राष्ट्रीय अध्यक्ष महिला इकाई जयपुर, डॉ. अरूणा शुक्ला राष्ट्रीय संयोजक महिला इकाई नांदेड़, संचालक डॉ. रश्मि चौबे राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष महिला इकाई जयपुर होगी। राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में आमंत्रित पदाधिकारी डॉ. मुक्ता कौशिक राष्ट्रीय मुख्य प्रवक्ता, डॉ. जयासिं

अधिक से अधिक विद्यार्थियों को कैरियर मार्गदर्शन और जॉब अवसर उपलब्ध कराना विश्वविद्यालयों का महत्वपूर्ण दायित्व - कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पाण्डेय

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा जॉब फेयर, करियर मार्गदर्शन और प्रतिभा सम्मान का आयोजन 24 एवं 25 मई को उज्जैन में  उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा संचालित विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत 24 और 25 मई 2024 को जॉब फेयर, करियर काउंसलिंग और 12 वी में सर्वोच्च अंकों के साथ उत्तीर्ण प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का सम्मान किया जाएगा।  विक्रम विश्वविद्यालय के कुलगुरु प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि इस करियर काउंसलिंग एवं जॉब फेयर आयोजन का उद्देश्य विद्यार्थियों को उचित करियर मार्गदर्शन एवं जॉब अवसर दिलाना है। साथ ही युवाओं के भविष्य के लिए करियर की राह आसान करना विश्वविद्यालय का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को करियर मार्गदर्शन दिलवाना विश्वविद्यालयों का महत्वपूर्ण दायित्व है। उन्होंने यह भी कहा कि ये एक ऐसा अवसर है जिसमें विश्वविद्यालय के सभी विषय और सभी विभाग एक ही पटल पर आ कर अपने विभाग में संचालित पाठ्यक्रमों की जानकारी विद्यार्थियों तक पहुंचा सकेंगे। उन्होंने बताया कि इसी दौरान 12 वी में विद्यालय स्तर पर सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों का भी सम्मान कि

भौतिकी अध्ययनशाला में फ़ोटोनिका 2024 का आयोजन हुआ

उज्जैन। अंतराष्ट्रीय प्रकाश दिवस के उपलक्ष्य में विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन की भौतिकी अध्ययनशाला में फिजिक्स क्लब के तत्वावधान में फ़ोटोनिका 2024 का आयोजन किया गया। वर्ष 1960 में लेज़र का आविष्कार महान वैज्ञानिक थियोडोर माईमन ने 16 मई 1960 को किया था। कार्यक्रम में शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय उज्जैन के भौतिकी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. मंगलेश्वर ठाकरे मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहे। डॉ.  ठाकरे ने प्रकाश का हमारे जीवन में महत्व बताते हुए विद्यार्थियों से चर्चा की। अपने उद्बोधन में उन्होंने विद्युत क्षेत्र, चुंबकीय क्षेत्र, विद्युत-चुंबकीय क्षेत्र, एस्ट्रोफिजिक्स में ग्रेविटोन व स्ट्रिंग थ्योरी पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर उपस्थित सभी विद्यार्थियों ने भी अपने विचार व्यक्त किए एवं बताया कि प्रकाश  के बिना जीवन अकल्पनीय है। अंत में कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही विभागाध्यक्ष प्रो. स्वाति दुबे ने विद्यार्थियों को विद्युत और प्रकाश के बीच अंतर बताया। प्रो. दुबे ने कहा कि अज्ञानता रूपी अंधकार को दूर करने के लिए हमारे जीवन में ज्ञान रुपी प्रकाश अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका निभाता

परिवर्तन संस्था ने विक्रम विश्वविद्यालय के साथ किया उच्चतर माध्यमिक स्तर के मेधावी विद्यार्थियों का सम्मान

प्रतिभाशाली विद्यार्थी महान व्यक्तित्वों के जीवन से प्रेरणा लें -  कुलगुरु डॉ. अखिलेश कुमार पांडेय    उज्जैन। परिवर्तन समाजिक संस्था एवं विक्रम विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में विश्वविद्यालय के कार्यपरिषद कक्ष में उच्च माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्तर के मेधावी विद्यार्थियों का सम्मान  किया गया। इन विद्यार्थियों ने दसवीं और बारहवीं कक्षा में उच्चतम अंक प्राप्त किए हैं।  इस अवसर पर उद्गार व्यक्त करते हुए विक्रम विश्वविद्यालय के कुलगुरु डॉ अखिलेश कुमार पांडेय ने कहा कि सामाजिक संस्था परिवर्तन ने मेधावी छात्रों के सम्मान की सार्थक पहल की है। प्रतिभाशाली विद्यार्थी ऐसे अनेक महान व्यक्तित्वों के जीवन से प्रेरणा लें जिन्होंने संघर्षपूर्ण ढंग से परिश्रम करते हुए सफलता प्राप्त की।  इस अवसर पर विक्रम विश्वविद्यालय कुलानुशासक डॉ शैलेंद्र कुमार शर्मा ने अपने प्रेरणादायक उद्बोधन में कहा कि सफलता के लिए कोई भी रास्ता आसान नहीं होता है। सभी विद्यार्थियों को जीवन में सफलता के पीछे अपने माता पिता के त्याग और समर्पण को याद रखना चाहिए।  इस अवसर पर सामाजिक संस्था परिवर्तन के अध्यक्ष एस. एस. नार

विक्रम विश्वविद्यालय के प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी अध्ययनशाला में बायोडायवर्सिटी डे के उपलक्ष्य में होगी क्विज प्रतियोगिता - कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पाण्डेय

विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी अध्ययनशाला में प्रतियोगिता का आयोजन होगा  उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय में 22 मई से 2 जून 2024 तक चलाए जाने वाले विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों द्वारा अलग-अलग प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है। विश्वविद्यालय के कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि दिनांक 22 जनवरी 2024 को विक्रम विश्वविद्यालय के प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी अध्ययनशाला में विद्यार्थियों के लिए बायोडायवर्सिटी डे के उपलक्ष्य पर क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें विभिन्न विद्यालय और महाविद्यालय के विद्यार्थी भाग लेंगे। बायोडायवर्सिटी डे के उपलक्ष में कराई जा रही इस प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य युवाओं को बायोडायवर्सिटी के प्रति जागरूक करना और इसके संरक्षण के प्रति उन्हें सजग बनाने का है। उन्होंने कहा जब अन्य संस्थाओं से विद्यार्थी यहां आएंगे तो वे विश्वविद्यालय के बारे में और ज्ञान पायेंगे और उन्हें यहां संचालित होने वाले पाठ्यक्रम की जानकारी भी मिल जाएगी। प्राणिकी एवं जैव प्रौद्योगिकी अध्

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने उच्च रक्तचाप के प्रति जागरूकता के लिए 17 मई को विश्व उच्च रक्तचाप दिवस घोषित किया है

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने उच्च रक्तचाप के प्रति जागरूकता के लिए 17 मई को विश्व उच्च रक्तचाप दिवस घोषित किया है  शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद महाविद्यालय के डॉ प्रकाश जोशी ने बताया कि, धूम्रपान वसा युक्त पदार्थों का सेवन मोटापा शराब का सेवन अत्यधिक मानसिक परिश्रम शारीरिक परिश्रम का न करना वृद्धावस्था मानसिक तनाव जैसे चिंता व्याकुलता अनुवांशिकता के कारण यह समस्या भारत में लगातार बढ़ती जा रही है। यदि सिर के पीछे और गर्दन में दर्द हो थोड़े से परिश्रम से ही थकावट लगे नींद ना आना चक्कर आना सीने में दर्द की समस्या आंखों से देखने में परिवर्तन होना दिल का जोर जोर से धड़कना जैसे लक्षण देखें तब तत्काल अपने नजदीकी चिकित्सक को दिखाएं । आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी डॉ जितेंद्र जैन ने बताया कि यदि व्यक्ति का सिस्टोलिक रक्तचाप 140mm of hg से अधिक है और डायस्टोलिक रक्तचाप 90 mmof hg (युवा अवस्था में 84 mm of hg  से अधिक हो) तब उच्च रक्तचाप से ग्रसित मानना चाहिए। प्रत्येक मोटे व्यक्ति के लिए तथा मधुमेह रोगी के लिए अपना ब्लड प्रेशर नियमित रूप से जांच करवाना चाहिए। उच्च रक्तचाप रोगी  व्यक्ति के बच्चों, भाई परिवार

फ़िल्मी निर्माता की पहली पसंद बनता मध्य प्रदेश

लाइट्स, केमरा..................मध्य प्रदेश बबली चतुर्वेदी, हिंदी अनुवादक, एन.आई.टी.टी.टी.आर भोपाल          देश के हृदय में स्थित मध्य प्रदेश का सौंदर्य एवं संस्कृति के साथ-साथ अतिथि देवो भव की परंपरा ने देश ही नहीं बल्कि विश्वभर के फिल्म निर्माताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। आज यदि ये कहा जाये कि मध्य प्रदेश फिल्म निर्माताओं की पहली पसंद बनता जा रहा है तो इस बात में कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। मध्य प्रदेश फिल्मों और वेब सीरीज के लिए एक लोकप्रिय शूटिंग स्थल बन चुका है। मध्य प्रदेश के आकर्षक स्थानों, गंतव्यों में विविधता और अनुकूल सरकारी नीतियो के कारण मध्य प्रदेश शो-बिज उद्योग के लिए फिल्म शूटिंग का पसंदीदा स्थल बन गया है। विगत वर्षों में मध्य प्रदेश ने ना केवल राष्ट्रीय बल्कि अंतर्राष्ट्रीय फिल्मों, ओटीटी (ओवर द टॉप) श्रृंखला और टेलीविजन शोज़ में अपनी उपस्तिथि दर्ज करवाई है। जिसके लिए राज्य सरकार ने फिल्म पर्यटन को बढ़ावा देने में काफी संभावनाएं देखीं और नीतियां बनाने तथा फिल्म और शो निर्माताओं को प्रोत्साहन प्रदान करना शुरू किया जिसकी वजह से विगत पांच वर्षों में राज्य के विभिन्न

नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए विद्यालय, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय सभी को एक सूत्र में बांधना अत्यंत आवश्यक है - कुलगुरु प्रो अखिलेश कुमार पाण्डेय

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा दिनांक 24 मई 2024 को प्राचार्य सम्मेलन (प्रिंसिपल कॉनक्लेव) का आयोजन होगा  उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन द्वारा प्रवेश में व्यापक वृद्धि हेतु 22 मई से 2 जून तक विश्वविद्यालय चलो अभियान एक नए तरीके से प्रारम्भ लिया जा रहा है। इसी तारतम्य मे विश्वविद्यालय 24 और 25 मई को मेगा जॉब फेयर, कैरियर काउंसलिंग, प्रतिभा सम्मान का आयोजन करने का रहा है। इस शृंखला में दिनांक 24 मई को करियर काउंसलिंग एवं जॉब फेयर के उद्घाटन के बाद प्राचार्य सम्मेलन (प्रिंसिपल कॉनक्लेव) का आयोजन किया जा रहा है, जो दोपहर 12 से 1 बजे के बीच होगा, इस सम्मेलन का विषय "विद्यार्थियों के समग्र विकास में एनईपी 2020 की भूमिका" रखा गया है। इस आयोजन के बारे में बताते हुए विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि नई शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के लिए विद्यालय, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय का एक सूत्र में बांधना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के ये तीनों स्रोत राष्ट्र निर्माण के अभिन्न अंग हैं, इसलिए इनका एक सूत्र में बांधकर कार्य करना आवश्यक है। उन्ह

संस्थान और उद्योग साथ मिलकर आयात पर निर्भरता कम कर सकते है - प्रो. सी.सी त्रिपाठी

भोपाल। एनआईटीटीटीआर भोपाल ने लिंकेज टेक्नोलॉजीज भोपाल के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर निटर निदेशक प्रो सी.सी त्रिपाठी ने कहा कि आज टेक्निकल इंस्टीटूशन्स को इंडस्ट्री की रियल प्रोब्लेम्स पर कार्य करना जरुरी है। तकनीकी संस्थान और उद्योग साथ मिलकर आयात पर निर्भरता कम कर सकते हे। तकनीकी शिक्षा, स्किल डेवलपमेंट एवं रिसर्च के क्षेत्र में गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु सभी संस्थानों की विशेषज्ञता एवं संसाधनों का परस्पर सहयोग जरूरी है।  लिंकेज टेक्नोलॉजीज के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री दीपक शर्मा ने कहा कि आज भारत में इंडस्ट्रीज के सामने स्वदेशी प्रोडक्ट बनाने के लिए अपार सम्भावनाये हैं। पिछले कुछ वर्षों में मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट के कारण आयात पर भी निर्भरता कम हुई है जो की देश के लिए एक शुभ संकेत है। श्री दीपक शर्मा ने कोविड समय में उनकी कंपनी द्वारा विकसित स्वदेशी प्रोडक्ट की भी जानकारी दी। हमारा इतिहास हर क्षेत्र में समृद्ध रहा है आवश्यकता हे सिर्फ प्रयास करने की।  इस एमओयू के माध्यम से स्टूडेंट एवं फैकल्टी को ट्रेनिंग, रिसर्च, कंसल्टेंसी के क्षेत्र में इंडस्ट्रियल एक्सपीरिएंस  मिलेगा

मध्यप्रदेश समाचार

देश समाचार