Skip to main content

Posts

Showing posts from November, 2020

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 30 नवंबर 2020

 उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन  दिनांक 30 नवंबर 2020  पॉजिटिव आए सैंपल की संख्या = 27 आज दिनांक तक मौत = 99

मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन 30 नवम्बर 2020

 

अखिल विश्व के प्रति उत्कट अनुराग निहित है गुरु नानक की वाणी में – प्रो शर्मा, गुरु नानक देव जी : सामाजिक एवं सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य में पर केंद्रित अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी संपन्न

    देश की प्रतिष्ठित संस्था राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना द्वारा गुरु नानक देव जी : सामाजिक एवं सांस्कृतिक परिप्रेक्ष्य में पर केंद्रित अंतरराष्ट्रीय वेब संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें देश - दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों के विद्वान वक्ताओं और साहित्यकारों ने भाग लिया।  कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि वरिष्ठ प्रवासी साहित्यकार एवं अनुवादक श्री सुरेशचंद्र शुक्ल शरद आलोक, ओस्लो, नॉर्वे थे। मुख्य वक्ता विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के हिंदी विभागाध्यक्ष एवं कुलानुशासक प्रो शैलेंद्र कुमार शर्मा थे। संगोष्ठी के विशिष्ट अतिथि सरदार जसवंत सिंह अमन, लुधियाना, प्रो हरपालसिंह पन्नू, बठिंडा सरदार डॉ बलविंदरपाल सिंह, लुधियाना, पंजाब, डॉ प्रवीण बाला, पटियाला, पंजाब, डॉ शिवा लोहारिया जयपुर, डॉ राकेश छोकर, नई दिल्ली, साहित्यकार श्री हरेराम वाजपेयी, इंदौर, डॉक्टर गरिमा गर्ग, चंडीगढ़, महासचिव डॉ प्रभु चौधरी एवं उपस्थित वक्ताओं ने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षाविद् डॉ शहाबुद्दीन नियाज मोहम्मद शेख, पुणे ने की। प्रसिद्ध प्रवासी साहित्यकार एवं अनुवादक श्री सुरेश चंद्र शुक्ल शरद आलोक, ओस्लो, नॉर्

कोविड - 19 तथ्यपरक जागरूकता अभियान

    विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन का अनुरोध कोविड - 19 के संक्रमण से रोकथाम और बचाव के उपायों से सम्बंधित तथ्यात्मक सन्देशों को समस्त शिक्षकों, शोधकर्ताओं, विद्यार्थियों, शैक्षिक संस्थानों, जन समुदाय और समूहों के मध्य प्रसारित करने का अनुरोध है।

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 29 नवंबर 2020

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन  दिनांक 29 नवंबर 2020  पॉजिटिव आए सैंपल की संख्या = 19 आज दिनांक तक मौत = 99

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा बीकॉम, बीबीए, बीए, बीएससी, एमकॉम के परिक्षा परिणाम घोषित

 

मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन 29 नवम्बर 2020

 

विधायक विपिन वानखेड़े ने की केंद्रीय इस्पात मंत्री से मुलाकात

विधायक श्री वानखेड़े ने केंद्रीय मंत्री से क्षेत्र में इस्पात आधारित उद्योग लगाने की की मांग केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्रस्ताव पर विचार करने की कही बात आगर विधायक और NSUI प्रदेशाध्यक्ष श्री विपिन वानखेड़े ने 27 नवम्बर को अपने दिल्ली प्रवास के दौरान केंद्रीय इस्पात एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान विधायक श्री वानखेड़े ने केंद्रीय मंत्री श्री प्रधान से आगर विधानसभा में व्यापक तौर पर व्याप्त बेरोजगारी का जिक्र करते हुए क्षेत्र में इस्पात संबंधी उद्योग करने की मांग की जिससे आगर के युवाओं को अपने क्षेत्र में ही रोजगार मिल सके। जिसपर श्री प्रधान ने सहमति जताते हुए विधायक वानखेड़े की युवाओं के प्रति प्रतिबद्धता की प्रशंसा की और कहा कि हम आपके प्रस्ताव पर जरूर विचार करेंगे और जल्द ही आपको अपने निर्णय से अवगत करवाएंगे। मुलाकात के दौरान श्री प्रधान ने नवनिर्वाचित विधायक श्री विपिन वानखेड़े को जीत की बधाई भी दी और कहा कि भारत की राजनीति में आप जैसे युवाओं की  आवश्यकता है आप ऐसे ही छात्रों,युवाओं के संकल्पित रहिए हम आपकी हर सम्भव मदद करने की कोश

कोविड - 19 तथ्यपरक जागरूकता अभियान

  विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन का अनुरोध कोविड - 19 के संक्रमण से रोकथाम और बचाव के उपायों से सम्बंधित तथ्यात्मक सन्देशों को समस्त शिक्षकों, शोधकर्ताओं, विद्यार्थियों, शैक्षिक संस्थानों, जन समुदाय और समूहों के मध्य प्रसारित करने का अनुरोध है।

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 28 नवंबर 2020

 उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन  दिनांक 28 नवंबर 2020  पॉजिटिव आए सैंपल की संख्या = 28 आज दिनांक तक मौत = 99

मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन 28 नवम्बर 2020

‘‘भारत का संविधान दुनिया का सबसे विशाल, सर्वश्रेष्ठ और बाकि संविधानों का मार्गदर्शक’’ - प्रो. हरिसिंह कुशवाह

  उज्जैन : 26 नवंबर 2020 को विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन की राजनीति विज्ञान एवं लोक प्रशासन अध्ययन शाला में ‘संविधान दिवस’ मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार पाण्डेय ने की एवं मुख्य अतिथि माधव महाविद्यालय के प्रो. हरिसिंह कुशवाह रहे। विभागाध्यक्ष प्रो. दीपिका गुप्ता ने स्वागत भाषण। कुलपतिजी का स्वागत प्रो. दीपिका गुप्ता एवं डॉ. वंदना पण्डित ने किया। प्रो. कुशवाह का स्वागत डॉ. वीरेन्द्र चावरे तथा  विद्यार्थी कल्याण संकायाध्यक्ष का स्वागत डॉ. कनिया मेड़ा ने किया। स्वागत भाषण विभागाध्यक्ष डॉ. दीपिका गुप्ता ने दिया। उपस्थितजनों से संविधान की प्रस्तावना का वाचन डॉ. वीरेन्द्र चावरे द्वारा करवाया गया।       कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रो. कुशवाह ने कहा कि भारत का संविधान दुनिया का सबसे विशाल, सर्वश्रेष्ठ और बाकि संविधानों का मार्गदर्शक है। दुनिया में छः में से एक भारतीय इस संविधान द्वारा शासित होता है। इस संविधान से भारत का वर्तमान और भविष्य तय होता दिखाई देता है। आपने भारतीय संविधान में उल्लेखित विभिन्न भागों, अनुच्छेदों, मूल अधिकार एवं कर

कोविड - 19 तथ्यपरक जागरूकता अभियान

  विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन का अनुरोध कोविड - 19 के संक्रमण से रोकथाम और बचाव के उपायों से सम्बंधित तथ्यात्मक सन्देशों को समस्त शिक्षकों, शोधकर्ताओं, विद्यार्थियों, शैक्षिक संस्थानों, जन समुदाय और समूहों के मध्य प्रसारित करने का अनुरोध है।

उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन 27 नवंबर 2020

  उज्जैन कोरोना हेल्थ बुलेटिन  दिनांक 27 नवंबर 2020  पॉजिटिव आए सैंपल की संख्या = 28 आज दिनांक तक मौत = 99

मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन 27 नवम्बर 2020

  नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) मीडिया बुलेटिन  

कालिदास समिति, विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन द्वारा अखिल भारतीय कालिदास समारोह के समापन अवसर पर दिए पुरस्कार

 अखिल भारतीय कालिदास चित्र एवं मूर्तिकला पुरस्कार

संविधान में भी प्राथमिक शिक्षा को मातृभाषा में सुलभ कराने का प्रावधान है- डॉ. शेख ; राष्ट्रीय संविधान दिवस पर संगोष्ठी सम्पन्न

  राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के द्वारा आयोजित भारत के संविधान दिवस के उपलक्ष में आयोजित वेबीनार के माध्यम से राष्ट्रीय संगोष्ठी के मुख्य अतिथि डॉ. शहाबुद्दीन शेख वरिष्ठ प्राचार्य एवं कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यख ने कहा कि संविधान में राजभाषा के समस्त प्रावधान लागू करने से भी हिन्दी राजभाषा का अधिकार स्वतः प्राप्त कर लेगी। परन्तु राजभाषा नियमो का पालन केन्द्र एवं राज्य सरकारें नहीं कर रही है। इसी प्रकार संविधान में प्राथमिक स्तर पर मातृभाषा में शिक्षा की सुविधाएं सुलभ की जावे ऐसा प्रावधान भी है। प्राथमिक शिक्षा बच्चों को मातृभाषा में दी जाना चाहिए। संगोष्ठी के विशिष्ट अतिथि डॉ. प्रभु चौधरी, राष्ट्रीय महासचिव उज्जैन ने बताया कि भारत का संविधान दिसम्बर 1946 में गठित संविधान सभा में वरिष्ठ कानून विशेषज्ञो की उपस्थिति में कानूनविद् कुशल, निपुण, एवं सच्चे देशभक्त डॉ. अम्बेडकर की अध्यक्षता में संविधान प्रारूप समिति का गठन किया गया। डॉ. राजेन्द्र प्रसाद संविधान सभा के अध्यक्ष रहे। हमारे संविधान में सामाजिक जीवन को आईने की भांति प्रतिबंधित कर यथार्थ को प्रकट किया है। राष्ट्रीय सं

मध्यप्रदेश खबर

नेशनल न्यूज़