Skip to main content

जननी और जन्मभूमि के प्रेम जाग्रत करना सच्ची राष्ट्रीयता है - प्रो शर्मा ; देश भर के कवियों ने गाए आजादी के तराने

जननी और जन्मभूमि के प्रेम जाग्रत करना सच्ची राष्ट्रीयता है - प्रो शर्मा 

देश भर के कवियों ने गाए आजादी के तराने

प्रतिष्ठित संस्था राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के तत्वावधान में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आजादी के तराने काव्य संध्या का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के माध्यम से उपस्थित साहित्यकारों ने आजादी के लिए जान देने वाले उन शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए, जिन्होंने देश को स्वतंत्र कराने के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। इस कार्यक्रम में देश के अलग- अलग भागों से कवि और कवयित्रियों ने भाग लिया, जिनमें प्रयागराज एवं अन्य नगरों से चर्चित कवि एवं कवयित्रियों ने प्रमुख रूप से अपनी देश भक्ति रचनाएं प्रस्तुत कीं। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ इंदु प्रकाश मिश्र ने की। प्रमुख वक्ता विक्रम विश्वविद्यालय के कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा थे। विशिष्ट अतिथि डॉ प्रभु चौधरी थे। 


प्राचार्य डॉ.इन्दु प्रकाश मिश्र इन्दु जौनपुरी की कविता की पंक्तियां थीं,  नहीं त्रिकोण नहीं आयत संवर्ग समझता हूँ ।भारत के अपनेपन को मैं स्वर्ग समझता हूँ । नेह भरे नयनों से कोई दे मीठा पानी। सस्मित अधरों से बरसाये अमरित सी बानी। ताजे निचुड़े द्राक्षा का संसर्ग समझता हूँ। भारत के अपनेपन को मैं स्वर्ग समझता हूँ ।


मुख्य वक्ता हिंदी विभागाध्यक्ष डॉक्टर शैलेंद्र कुमार शर्मा ने स्वतंत्रता आंदोलन में आजादी के तराने किस तरह जोश भरते थे, इस पर अपने विचार रखें। उन्होंने कहा कि राष्ट्र के भौतिक और आंतरिक - समस्त प्रकार के कल्याण की भावना से ही सच्चा देशप्रेम संभव है। जननी और जन्मभूमि के प्रति प्रेम जाग्रत करना सच्ची राष्ट्रीयता है। भारतवासियों के मन में हिमालय से सागर पर्यंत प्रेम सदियों से प्रादर्श रहा है। राष्ट्रीय भावना मानवीय मनोभावों की प्रगति का एक महत्त्वपूर्ण सोपान है। 


डॉ प्रभु चौधरी ने सभी का स्वागत किया और संस्था के लक्ष्य बताए। डॉ नीलिमा मिश्रा ने सुनाया शहीदों की विरासत को हमें पूरा बचाना है। उर्वशी उपाध्याय प्रेरणा ने सुनाया मुझे आशा है और विश्वस हिंदुस्तान बदलेगा। गीता सिंह ने सुनाया- हमारे शूरवीरों ने दिया है हर पहर पहरा। इसके अतिरिक्त जिन्होंने आजादी के खूबसूरत तराने प्रस्तुत किए उनमें नीना मोहन श्रीवास्तव, अना इलाहाबादी, डॉ उपासना पांडे, राजेश सिंह राज, ईश्वर शरण शुक्राशुक्ला, डॉक्टर मुक्ता कौशिक, रश्मि चौबे, डॉ पूर्णिमा कौशिक, श्रीमती सुवर्णा जाधव, पुणे ने देश प्रेम से ओतप्रोत भक्ति गीत प्रस्तुत किए। डा० नीलिमा मिश्रा, प्रयागराज की काव्य पंक्तियां थीं, शहीदों की विरासत को हमें पूरा बचाना हैं । हमें अपने वतन की आन पर सब कुछ लुटाना है। उर्वशी उपाध्याय ‘प्रेरणा' की पंक्तियां थीं, मुझे आशा है और विश्वास हिंदुस्तान बदलेगा धुंधलका का अब नहीं होगा यहां प्रतिमान बदलेगा। डॉ गीता सिंह की पंक्तियां थीं, हमारे शूरवीरों ने दिया हर चप्पे पर पहरा, वो सोए दिन नही रतिया के पहरू जागते रहना।

 

आभा मिश्रा, प्रयागराज की काव्य पंक्तियाँ थीं, तिरंगे की शान में जान देने को तैयार। हम हैं राष्ट्र के पहरेदार हम हैं राष्ट्र के पहरेदार। तिरंगे से  लिपट के आऊं यही जीवन का सार। हम हैं राष्ट्र के पहरेदार,हम हैं राष्ट्र के पहरेदार।

अभिषेक केसरवानी 'रवि की कविता की पंक्तियां थीं, तोड दू बेडी देश मे बिल्कुल रहने न लाचारी दूंगा

देश का सेवक कहे खून दो मै तुमको आजा़दी दूंगा।

प्रियंका द्विवेदी, मंझनपुर कौशाम्बी ने शहीदों की याद कविता प्रस्तुत की। इसकी पंक्तियां थीं, आई  उनकी  यादें फिर से, भूल गए जिनका बलिदान! जिसने  आजादी  की  खातिर हँसकर कसमें खाई थी, झूल   गए   फंदे   से  कहकर, आगे  शेष   लड़ाई   है।


अनामिका पाण्डेय अना इलाहाबादी की पंक्तियां थीं, नए पत्ते भी आयेंगे, दिखेंगे पुष्प दल तुमको। जड़ों को सींचते रहना, मिलेंगे फूल फल तुमको। डॉ. उपासना पाण्डेय, प्रयागराज की काव्य पंक्तियां थीं, मैंने देखा एक सपना, प्यारा भारत हो अपना। घर- घर में दीप जलें, खुशियों के हो फूल खिलें।


श्रीमती भुवनेश्वरी जायसवाल ने काव्य पाठ और आभार ज्ञापन किया। कार्यक्रम का खूबसूरत संचालन श्रीमती रश्मि चौबे ने किया।

Comments

मध्यप्रदेश खबर

Popular posts from this blog

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी. ए. एम. एस. प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी ए एम एस प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद उज्जैन में महाविद्यालय बी ए एम एस प्रथम वर्ष नेहा गोयल प्रथम, प्रगति चौहान द्वितीय स्थान, दीपाली गुज़र तृतीय स्थान. इसी प्रकार बी ए एम एस तृतीय वर्ष गरिमा सिसोदिया प्रथम स्थान, द्वितीय स्थान पर आकांक्षा सूर्यवंशी एवं तृतीय स्थान पर स्नेहा अलवानी ने बाजी मारी. इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त अध्यापक एवं प्रधानाचार्य द्वारा छात्राओं को बधाई दी और महाविद्यालय में हर्ष व्याप्त है उक्त जानकारी महाविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ प्रकाश जोशी, डा आशीष शर्मा छात्र कक्ष प्रभारी द्वारा दी गई. 

श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ, दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति

■ श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ ■ दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति श्री श्याम मन्दिर कमेटी (रजि.),  खाटू श्यामजी, जिला--सीकर (राजस्थान) 332602   फोन नम्बर : 01576-231182                    01576-231482 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 #जय_श्री_श्याम  #आम #सूचना   दर्शनार्थियों की भावना एवं कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए सर्वेश्वर श्याम प्रभु के दर्शन बुधवार दिनांक 11-11-2020 से पुनः खोले जा रहे है । कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए गृहमंत्रालय द्वारा निर्धारित गाइड लाइन के अधीन मंदिर के पट खोले जाएंगे । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 11-11-2020 से चालू होंगी । दर्शनार्थी भीड़ एवं असुविधा से बचने के लिए   https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है ।  नियमानुसार सूचित हो और व्यवस्था बनाने में सहयोग करे। श्री खाटू श्याम जी के दर्शन करने के लिए, ऑनलाइन आवेदन करें.. 👇  https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 साद

नरेश जिनिंग की जमीन पर मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए विधायक श्री पारस चन्द्र जैन ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

 ■ नरेश जिनिंग की जमीन पर मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए विधायक श्री पारस चन्द्र जैन ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र ● विधायक ने उज्जैन जिला कलेक्टर को आवश्यक कार्यवाही करने के लिए लिखा पत्र   उज्जैन । भारत स्काउट एवं गाइड मध्यप्रदेश के राज्य मीडिया प्रभारी राधेश्याम चौऋषिया ने जानकारी देते हुए बताया कि, आज विधायक श्री पारस चन्द्र जैन जी ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री जी श्री शिवराज सिंह चौहान को एक पत्र लिखकर उनके द्वारा उज्जैन में मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा किए जाने पर उज्जैन की जनता की ओर से बहुत बहुत धन्यवाद देकर आभार प्रकट किया गया । मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में विधायक श्री जैन ने लिखा कि, उज्जैन शहर के मध्य आगर रोड़ स्थित नरेश जिनिंग की जमीन को उज्जैन जिला प्रशासन द्वारा हाल ही में  अतिक्रमण से मुक्त करवाया गया है । इस जमीन का उपयोग मेडिकल कॉलेज हेतु किया जा सकता है क्योंकि यह शहर के मध्य स्थित है तथा इसी जमीन के पास अनेक छोटे-बड़े अस्पताल आते हैं । इसी प्रकार विनोद मिल की जमीन भी उक्त मेडिकल कॉलेज हेतु उपयोग की जा सकती हैं क्योंकि इसी जमीन के आसपास उज्जैन का शासकीय जिला चिकित्सालय, प्रसूतिग