Skip to main content

राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना द्वारा बहुभाषी काव्य गोष्ठी संपन्न

प्रतिष्ठित संस्था राष्ट्रीय शिक्षक  संचेतना द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय बहुभाषी काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया ।जिसकी अध्यक्षता डॉक्टर ममता झा मुंबई ,मुख्य अतिथि के रूप डॉ अंजना संधीर, विशेष अतिथि प्राचार्य डॉक्टर शहाबुद्दीन नियाज मोहम्मद शेख पुणे महाराष्ट्र रहे। विशिष्ट अतिथि श्रीमती सुवर्णा जाधव मुंबई ,विशिष्ट अतिथि डॉ शिवा लोहारिया ,जयपुर ,विशिष्ठ अतिथि श्री हरि राम बाजपेई, डाक्टर प्रभु चौधरी महासचिव उज्जैन, विशिष्ट अतिथि डॉक्टर अरुणा राजेंद्र शुक्ला, नांदेड़, महाराष्ट्र विशिष्ट अतिथि श्रीमती इंद्र वर्षा ,पंचकूला थी।

      मुख्य अतिथि डॉ अंजना संधीर अहमदाबाद ने कहा कि अलग अलग भाषा में बहुभाषी काव्य गोष्ठी सराहनीय है ।और अलग अलग भाषा में नरेंद्र मोदी जी का काव्य संग्रह पुस्तक का अनुवाद कोउन्होंने बताया और कहा कि भाषा को संवाद के माध्यम से जन जन तक पहुंचाई जा सकती है ।आज की बीज कोशिश कर मौत को पकड़ने वाले वीर देखें साथ ही बारिश में भीगते यह चुनरी धानी काव्य पाठ प्रस्तुति देकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया।

  विशेष अतिथि प्राचार्य डॉ शहाबुद्दीन नियाज मोहम्मद शेख ने अपने वक्तव्य में कहा कि कवि के पास खूबी होती है। कभी कल्पना भाव को सम्मिश्रण कर कविता लेखन का कार्य कवि के लिए सरल है ।अपने कविता भाव को समाज में दूर-दूर तक पहुंचा सकते हैं ।क्योंकि कवि स्वतंत्र होता है अपने स्वतंत्र शैली के माध्यम से कविता लिखता है।

विशिष्ट अतिथि के रूप में श्रीमती सुवर्णा जाधव, मुंबई अपने वक्तव्य में कहा कि प्रत्येक कवि कवियित्री अलग-अलग विषयों पर कविता लिखते हैं ।जो बंधन कारक नहीं होती कविता जब क्रमबद्ध होता है कविता कल्पना के माध्यम से लिखी जाती है।

   बहुभाषी काव्य गोष्ठी के अंतर्गत कवियित्री श्रीमती प्रतिभा मगर महाराष्ट्र ने मराठी काव्य पाठ से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। श्रीमती पूर्णिमा कौशिक छत्तीसगढ़ ने छत्तीसगढ़ी कविता के माध्यम से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया ।विशिष्ट अतिथि डॉक्टर अलपा मेहता राजकोट, गुजरात । गुजराती कविता से लोगों का दिल जीत लिया। सुश्री हेमलता शर्मा इंदौर ने मालवी  काव्य पाठ के द्वारा सभी का दिल जीत लिया। डॉ सुनीता मंडल कोलकाता ने बंगाली काव्य पाठ प्रस्तुति देकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। विशिष्ट अतिथि श्रीमती इंद्र वर्षा पंचकूला ने अपने उद्बोधन में कहा कि राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना  द्वारा आयोजित बहुभाषी काव्य गोष्ठी बहुत ही प्रशंसनीय है। विशिष्ट अतिथि डॉ अरुणा राजेंद्र शुक्ला नांदेड़ महाराष्ट्र ने अपनी कविता के माध्यम से सभी का दिल जीत लिया। श्री हरिराम बाजपेई राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के मार्गदर्शक ने आशीर्वाद वचन दिया। श्री लक्ष्मीकांत वैष्णव चांपा बिलासपुर छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस से संबंधित कविता पढ़कर सबसे तालियां बटोरी। डॉ बालासाहेब तोरस्कर ने मराठी काव्य पाठ करके सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। इस तरह से सभी कवि एवं कवित्री यों ने बहुभाषी काव्य गोष्ठी को सफल बनाया।

      गोष्ठी का प्रारंभ श्रीमती पूर्णिमा कौशिक के सरस्वती वंदना से हुआ। स्वागत उद्बोधन डॉ रश्मि चौबे गाजियाबाद ने किया ।अतिथि परिचय श्रीमती गरिमा गर्ग पंचकूला ने किया। प्रस्तावना श्रीमती सुवर्णा जाधव मुंबई ने किया। अध्यक्षता डॉक्टर ममता झा मुंबई ने की। आभार  राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के महासचिव डॉक्टर प्रभु चौधरी ने माना । आयोजक प्राध्यापिका रोहिणी डावरे थी।

     कार्यक्रम का सफल संचालन  डॉक्टर मुक्ता कान्हा कौशिक रायपुर  मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता  ने किया .

Comments

Popular posts from this blog

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी. ए. एम. एस. प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी ए एम एस प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद उज्जैन में महाविद्यालय बी ए एम एस प्रथम वर्ष नेहा गोयल प्रथम, प्रगति चौहान द्वितीय स्थान, दीपाली गुज़र तृतीय स्थान. इसी प्रकार बी ए एम एस तृतीय वर्ष गरिमा सिसोदिया प्रथम स्थान, द्वितीय स्थान पर आकांक्षा सूर्यवंशी एवं तृतीय स्थान पर स्नेहा अलवानी ने बाजी मारी. इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त अध्यापक एवं प्रधानाचार्य द्वारा छात्राओं को बधाई दी और महाविद्यालय में हर्ष व्याप्त है उक्त जानकारी महाविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ प्रकाश जोशी, डा आशीष शर्मा छात्र कक्ष प्रभारी द्वारा दी गई. 

श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ, दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति

■ श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ ■ दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति श्री श्याम मन्दिर कमेटी (रजि.),  खाटू श्यामजी, जिला--सीकर (राजस्थान) 332602   फोन नम्बर : 01576-231182                    01576-231482 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 #जय_श्री_श्याम  #आम #सूचना   दर्शनार्थियों की भावना एवं कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए सर्वेश्वर श्याम प्रभु के दर्शन बुधवार दिनांक 11-11-2020 से पुनः खोले जा रहे है । कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए गृहमंत्रालय द्वारा निर्धारित गाइड लाइन के अधीन मंदिर के पट खोले जाएंगे । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 11-11-2020 से चालू होंगी । दर्शनार्थी भीड़ एवं असुविधा से बचने के लिए   https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है ।  नियमानुसार सूचित हो और व्यवस्था बनाने में सहयोग करे। श्री खाटू श्याम जी के दर्शन करने के लिए, ऑनलाइन आवेदन करें.. 👇  https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 साद

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा सितंबर में आयोजित परीक्षाओं के लिए उत्तर पुस्तिका संग्रहण केंद्रों की सूची जारी

उज्जैन। स्नातक एवं स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष या अंतिम सेमेस्टर की ओपन बुक पद्धति से होने वाली परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के संग्रहण केंद्रों की सूची विक्रम विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। संपूर्ण परिक्षेत्र के 7 जिलों में कुल 395 संग्रहण केंद्र बनाए गए हैं। कुलानुशासक, डॉ. शैलेंद्र कुमार शर्मा जी ने जानकारी देते हुए बताया कि, विद्यार्थीगण विश्वविद्यालय की वेबसाइट से संग्रहण केंद्रों की सूची देख सकते हैं। http://vikramuniv.ac.in/examination-notification/ सूची संलग्न दी जा रही है।