Featured Post

महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहकर और लड़ने की क्षमता पैदा करना होंगी - न्यायाधीश श्रीमती संगीता भारती राठौर

महिलाओं को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहकर और लड़ने की क्षमता पैदा करना होंगी - न्यायाधीश श्रीमती संगीता भारती राठौर

■ हर कदम पर महिलाओ को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए - संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंकिता त्रिपाठी
■ अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर गांधी भवन भोपाल में कार्यक्रम आयोजित

भोपाल, सोमवार, 08 मार्च, 2021 । आज सी एफ आई चैरिटेबल ट्रस्ट भोपाल के द्वारा भोपाल की विभिन्न बस्तियों से आयी हुई महिलाओं के साथ गांधी भवन भोपाल में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर्व सादगीपूर्ण तरीके से मनाया गया।
मुख्य अतिथि के रूप में श्रम न्यायाधीश श्रीमती संगीता भारती राठौर जी और संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंकिता त्रिपाठी जी ने माँ सरस्वती की प्रतिमा के आगे दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया ।
माननीय न्यायाधीश श्रीमती संगीता भारती राठौर जी ने महिलाओ और बच्चियों को संबोधित करते हुए कहा कि, महिलाओं को आगे बढ़कर अपने अधिकारों के लिए न्याय की लड़ाई डटकर लडना होंगी एवं समाज में सम्मान को बनाए रखने के लिए महिलाओं को जागरूक होना होगा और अपने बच्चो को बेहतर संस्कार देने के लिए शिक्षित होना होगा तब ही हम समाज में अपना स्थान बना सकते है।
संयुक्त कलेक्टर श्रीमती अंकिता त्रिपाठी जी ने कहा कि, महिलाओं को सशक्त बनने एवं हर परिस्थिति में लड़कर आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए।
कार्यक्रम में भोपाल की विभिन्न बस्तियों से आयी महिलाओं ने बढ़-चढ़कर भाग लिया एवं नारी शक्ति के विषय पर अपनी बात रखते हुए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और घरेलू हिंसा के संबंध में नुक्कड़ नाटक के जरिए महिलाओं के हित में सार्थक संदेश दिया और सांस्कृतिक कार्यक्रम किए गए ।
कार्यक्रम में सीएफआई चैरिटेबल ट्रस्ट के बोर्ड मेंबर डॉक्टर साजि थॉमस, डॉक्टर प्रीति नायर एवं सीएफआई के डिप्टी मैनेजर राजेश खन्ना की उपस्थिति में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर भोपाल की विभिन्न बस्तियों से आयी महिलाओं का स्वागत करते हुए कार्यक्रम में उनको सम्मानित किया गया और उनके द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम की उपस्थित लोगों ने भूरि भूरि प्रशंसा की और उनका उत्साहवर्धन किया ।
✍ राधेश्याम चौऋषिया
Saaji Thomas

Comments