Skip to main content

फार्मेसी संस्थान में तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम सम्पन्न हुआ

उज्जैन : श्री नरेंन्द्र मंदोरिया, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, कार्यक्रम संयोजक ने बताया कि फार्मेसी संस्थान में दिनांक 08.03.2021 से 10.03.2021 तक तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। दिनांक 08.03.2021 को  माननीय कुलपतिजी, प्रो. अखिलेश कुमार पाण्डे जी की अध्यक्षता में कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में प्रसिद्वि समाज सेविका एवं वर्तमान में बरकतउल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल कार्यपरिषद सदस्य श्री मती पुष्पा पाटीदार एवं डॉ. गीता नायक, प्रो. हिन्दी अध्ययनशाला अतिथि के रूप विशेष उपस्थित थी। कार्यक्रम में माननीय कुलपतिजी ने अध्यक्षीय उद्बोधन में गार्गी, चेन्नमा एवं देवी अहिल्या बाई होल्कर के उदाहरण के माध्यम से राष्ट्र निर्माण में भारत कि सशक्त महिलाऔं की भुमिका को इंगित किया। 

श्रीमती पुष्पा पाटीदारजी ने महिला शिक्षा, महिलाऔं के विरूद्ध व्याप्त समस्याऔं के बारे में बात की एवं सभी से आग्रह किया कि सभी समाज कार्य के माध्यम से राष्ट्र को पोषित करें।

 डॉ. गीता नायक, प्रो. हिन्दी अध्ययनशाला ने  महिलाऔं को झांसी की रानी लक्ष्मीबाई से प्रेरणा लेकर सशक्त बनकर जीवन जीने को कहा। वही दुसरी और डॉ. कमलेश दशोरा, विभागाध्यक्ष,फार्मेसी संस्थान, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन ने बताया कि माननीय महामहिम कुलाधिपति महोदया श्रीमती आनंदीबेन पटेल के आदेश के अनुसार महिलाऔं के रक्त में हिमोग्लोबिन की जांच के लिये तीन दिवसीय रक्त परीक्षण शिविर आयोजित किया गया हैं। 

प्रथम दिवस कार्यक्रम का संचालन सार्थक जोशी निकिता जोशी एवं दीपिका सांगुल्ये ने किया तथा आभार डॉ. दर्शन दुबे, प्राध्यापक फार्मेसी संस्थान, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन  ने माना। प्रथम दिवस  रक्त परीक्षण त्रिमुर्ति पेथालॉजी के संचालक श्री सतीश शुक्ला द्वारा निशुल्क किया गया। 

दिनांक 09.03.2021 को विभाग में निंरतर रक्त परीक्षण हुआ। एवं भाषण, वाद-विवाद प्रतियोगिता आयोजित की गई । एवं आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में महिलाऔं की भुमिका पर व्याख्यान हुआ। द्वितिय दिवस  रक्त परीक्षण नागोरी हॉस्पिटल एवं  पेथालॉजी लेब के सहयोग से फार्मेसी संस्थान के पुर्व छात्र फैजान नागोरी एंव अंकित द्वारा निशुल्क किया गया।

दिनांक 10.03.2021 को समापन के अवसर पर विभाग में निंरतर रक्त परीक्षण जिला चिकित्सालय उज्जैन के सहयोग से श्री राजेन्द्र शर्मा द्वारा किया गया।  स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया जिसमें पाटीदार हास्पिटल, उज्जैन में पदस्थ डॉ. निलेश डामोर, एमडी मेडिसिन,  एवं शिल्पा कोठारी, स्त्री, प्रसुति रोग विशेषज्ञ एंव लेप्रोस्कोपिक सर्जन द्वारा विद्यार्थियों की स्वास्थ्य समस्याऔं का निदान एवं निशुल्क परामर्श प्रदान किया गया। एवं महिलाऔं कि आत्मसुरक्षा के लिए कुडो, इंटरनेशनल फेडरेशन आॅफ इंडिया कि और से सुश्री ममता गोल्वी, जया बैरागी, पुर्वांसी पांॅचाल एवं खुशी भाटी के नेतृत्व में विश्वविद्यालय में अध्ययनरत लगभग 100 छात्राऔं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। 

उपरोक्त तीन दिवसीय कार्यक्रम का समापन माननीय कुलपतिजी, प्रो. अखिलेश कुमार पाण्डे जी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ । जिसमें अतिथि वक्ता के रूप में डॉ. निलेश डामोर, एमडी मेडिसिन,  एवं शिल्पा कोठारी, स्त्री, प्रसुति रोग विशेषज्ञ उपस्थित थे।  एवं अतिथि के रूप में प्रो. प्रेमलता चुटेल, हिन्दी अध्ययनशाला  मौजुद रही । कार्यक्रम का संचालन डॉ. अनिस शेख, एंव डॉ. अखिलेश तिवारी  द्वारा किया गया एंव  आभार डॉ. प्रवीण खिरवडकर द्वारा माना गया। 

उपरोक्त आयोजन तीन दिवसीय कार्यक्रम में विश्वविद्यालय में अध्ययनरत् 150 छात्राऔं ने अपना रक्त परीक्षण करवाया एवं स्वास्थ्य शिविर का लाभ लिया।  कार्यक्रम में सभी शेक्षणिक एवं गेरशैक्षणिक स्टाफ एवं कार्यक्रम के सफल आयोजन में हितेश जोशी, विनायक सिसौदिया,रितिक सिसौदिया, अंकित परमार,संतोष परमार, तनिषा सुर्यवंशी आदि छात्र- छात्रा उपस्थित थे।


Comments

मध्यप्रदेश खबर

नेशनल न्यूज़

Popular posts from this blog

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी. ए. एम. एस. प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी ए एम एस प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद उज्जैन में महाविद्यालय बी ए एम एस प्रथम वर्ष नेहा गोयल प्रथम, प्रगति चौहान द्वितीय स्थान, दीपाली गुज़र तृतीय स्थान. इसी प्रकार बी ए एम एस तृतीय वर्ष गरिमा सिसोदिया प्रथम स्थान, द्वितीय स्थान पर आकांक्षा सूर्यवंशी एवं तृतीय स्थान पर स्नेहा अलवानी ने बाजी मारी. इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त अध्यापक एवं प्रधानाचार्य द्वारा छात्राओं को बधाई दी और महाविद्यालय में हर्ष व्याप्त है उक्त जानकारी महाविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ प्रकाश जोशी, डा आशीष शर्मा छात्र कक्ष प्रभारी द्वारा दी गई. 

श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ, दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति

■ श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ ■ दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति श्री श्याम मन्दिर कमेटी (रजि.),  खाटू श्यामजी, जिला--सीकर (राजस्थान) 332602   फोन नम्बर : 01576-231182                    01576-231482 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 #जय_श्री_श्याम  #आम #सूचना   दर्शनार्थियों की भावना एवं कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए सर्वेश्वर श्याम प्रभु के दर्शन बुधवार दिनांक 11-11-2020 से पुनः खोले जा रहे है । कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए गृहमंत्रालय द्वारा निर्धारित गाइड लाइन के अधीन मंदिर के पट खोले जाएंगे । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 11-11-2020 से चालू होंगी । दर्शनार्थी भीड़ एवं असुविधा से बचने के लिए   https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है ।  नियमानुसार सूचित हो और व्यवस्था बनाने में सहयोग करे। श्री खाटू श्याम जी के दर्शन करने के लिए, ऑनलाइन आवेदन करें.. 👇  https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 साद

कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को नई शिक्षा नीति का उत्कृष्ट पुरस्कार

  उज्जैन : मध्यप्रदेश में नई शिक्षा नीति का सर्वप्रथम क्रियान्वयन करने पर जबलपुर में आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार में विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को नई शिक्षा नीति में उत्कृष्ट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। एनवायरनमेंट एवं सोशल वेलफेयर सोसाइटी, खजुराहो एवं प्राणीशास्त्र एवं जैवप्रौद्योगिकी विभाग, शासकीय विज्ञान स्नातकोत्तर महाविद्यालय, जबलपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजन दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन जबलपुर में किया गया। इस अवसर पर मध्य प्रदेश में नई शिक्षा नीति के सर्वप्रथम क्रियान्वयन के लिए विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को नई शिक्षानीति में उत्कृष्ट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय की प्रशासनिक कार्यकुशलता से आज विश्वविद्यालय नई शिक्षा का क्रियान्वयन करने वाला प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय है। इस उपलब्धि के लिए विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक एवं कुलानुशासक प्रो शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने कुलपति प्रो पांडेय के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्हें हार्दिक