Skip to main content

सामाजिक समरसता की पक्षधर रहे भारत की संत परम्परा-डॉ. शर्मा

सामाजिक समरसता की पक्षधर रहे भारत की संत परम्परा-डॉ. शर्मा

सुखी, समृद्ध एवं विशाल राष्ट्र के लिए सामाजिक समरसता एवं सद्भाव आवश्यक है। महर्षि व्याल्मिकी, संत रविदास, गुरूनानक, कबीर आदि ने अपनी वाणियों में इसका संदेश दिया है। अखंड भारत एवं विश्व गुरू की पहचान के लिये संतो की सामाजिक समरसता में भारत की संत परम्परा का महत्वपूर्ण योगदान है।

उक्त सारगर्भित उद्बोधन विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन के कुलानुशासक एवं आचाय्र डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा ने संत रविदास जयंती पर आयोजित समारोह में व्यक्त किये। समारोह की अध्यक्षता राष्ट्रीय शिक्षक संचेतना के महासचिव डॉ. प्रभु चौधरी ने वक्तव्य में कहा कि आज इस बात की आवश्यकता है कि संतो की अमर वाणियों एवं उपदेशो एवं बताए मार्ग पर चले तथा सामाजिक समरसता को आत्मसात करें।


समारोह के मुख्य अतिथि पुणे के डॉ. शहाबुद्दीन शेख, अहमदनगर के डॉ. मिलिन्द कसबे एवं डॉ. रजिया शेख, डॉ. मुक्ता कौशिक, डॉ. सुजाता पाटील, श्रीमती सुवर्णा जाधव, डॉ. दत्तात्रय गंधारे, डॉ. भरत शेणकर, सुंदरलाल जोशी सूरज, प्रभा बैरागी, डॉ. सुजाता पाटील आदि ने भी सम्बोधित किया। संचालन डॉ. रोहिणी डावरे ने एवं आभार पूर्णिमा कौशिक ने माना।


Comments

Popular posts from this blog

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी. ए. एम. एस. प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी ए एम एस प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद उज्जैन में महाविद्यालय बी ए एम एस प्रथम वर्ष नेहा गोयल प्रथम, प्रगति चौहान द्वितीय स्थान, दीपाली गुज़र तृतीय स्थान. इसी प्रकार बी ए एम एस तृतीय वर्ष गरिमा सिसोदिया प्रथम स्थान, द्वितीय स्थान पर आकांक्षा सूर्यवंशी एवं तृतीय स्थान पर स्नेहा अलवानी ने बाजी मारी. इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त अध्यापक एवं प्रधानाचार्य द्वारा छात्राओं को बधाई दी और महाविद्यालय में हर्ष व्याप्त है उक्त जानकारी महाविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ प्रकाश जोशी, डा आशीष शर्मा छात्र कक्ष प्रभारी द्वारा दी गई. 

श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ, दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति

■ श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ ■ दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति श्री श्याम मन्दिर कमेटी (रजि.),  खाटू श्यामजी, जिला--सीकर (राजस्थान) 332602   फोन नम्बर : 01576-231182                    01576-231482 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 #जय_श्री_श्याम  #आम #सूचना   दर्शनार्थियों की भावना एवं कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए सर्वेश्वर श्याम प्रभु के दर्शन बुधवार दिनांक 11-11-2020 से पुनः खोले जा रहे है । कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए गृहमंत्रालय द्वारा निर्धारित गाइड लाइन के अधीन मंदिर के पट खोले जाएंगे । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 11-11-2020 से चालू होंगी । दर्शनार्थी भीड़ एवं असुविधा से बचने के लिए   https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है ।  नियमानुसार सूचित हो और व्यवस्था बनाने में सहयोग करे। श्री खाटू श्याम जी के दर्शन करने के लिए, ऑनलाइन आवेदन करें.. 👇  https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 साद

विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा सितंबर में आयोजित परीक्षाओं के लिए उत्तर पुस्तिका संग्रहण केंद्रों की सूची जारी

उज्जैन। स्नातक एवं स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष या अंतिम सेमेस्टर की ओपन बुक पद्धति से होने वाली परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के संग्रहण केंद्रों की सूची विक्रम विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। संपूर्ण परिक्षेत्र के 7 जिलों में कुल 395 संग्रहण केंद्र बनाए गए हैं। कुलानुशासक, डॉ. शैलेंद्र कुमार शर्मा जी ने जानकारी देते हुए बताया कि, विद्यार्थीगण विश्वविद्यालय की वेबसाइट से संग्रहण केंद्रों की सूची देख सकते हैं। http://vikramuniv.ac.in/examination-notification/ सूची संलग्न दी जा रही है।