Featured Post

आयुर्वेद के विकास के लिए डाक्यूमेंटेशन कर जनोपयोगी बातों का प्रचार-प्रसार करे - प्रमुख सचिव आयुष देशमुख

उज्जैन। शासकीय धन्वन्तरि आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय उज्जैन के प्रधानाचार्य डॉ. जे.पी. चौरसिया ने बताया कि आज दिनांक 27.02.2021 को आयुष विभाग म.प्र. शासन की प्रमुख सचिव मेडम करलिन खोंगवार देशमुख द्वारा धन्वन्तरि आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय एवं चिकित्सालय का निरीक्षण के दौरान अनौपचारिक चर्चा में कहा कि आयुर्वेद के विकास के लिए डाक्यूमेंटेशन कर आम जनता के स्वास्थ्य से संबंधित जनोपयोगी बातों का प्रचार-प्रसार करे तथा भारतीय संस्कृति की धरोहर आयुर्वेद का संरक्षण एवं संवर्धन करें। कोरोना महामारी के दौरान आयुष चिकित्सकों ने चिकित्सा सेवा कर जो समाज में अच्छी छवि बनाई है उसके लिए वे बधाई के प्राप्त है, आगे भी इसे निरन्तर बनाये रखें।


चिकित्सालय में भ्रमण के दौरान अधीक्षक डॉ. ओ. पी. शर्मा, आर. एम. ओ, डॉ. हेमन्त मालवीय आदि उपस्थित थे। सभी विशेषज्ञताओं की ओ.पी.डी, पैथोलॉजी लेब, एक्स-रे, ई.सी.जी. इकाई, पंचकर्म के सभी विभाग, कायचिकित्सा, जरा चिकित्सा, शल्य चिकित्सा, जलौका एवं अग्निकर्म, आंख, नाक, कान, गला विमाग, स्वस्थ्यवृत एवं योग, धूमपान इकाई, चर्मरोग इकाई, ऑपरेशन थियेटर, एंटीनेटल पोस्ट नेटल केयर, स्त्री रोग, एवं शिशु रोग चिकित्सा, प्रसव इकाई, नवजात शिशु इकाई, टीकाकरण, कुपोषण एवं स्वर्ण प्राशन आदि इकाईयों का निरीक्षण कर चिकित्सा कार्यो की सराहना की। महाविद्यालय में वनौषधि उद्यान, फार्मेसी, कान्फेंस हॉल तथा सभी ॥4 विभागों का अवलोकन किया। छात्र,/छात्राओं से चर्चा करते हुए उनकी छात्रावास की मांग को शीघ्र पूर्ण कराने के लिए आश्वस्त किया।

प्राध्यापकों की वेतन विसंगति, कोष लेखा विभाग से वेतन निर्धारण एवं सत्यापन, पदोन्‍नति, नवीन पद सृजन तथा परिवीक्षा अवधि समाप्ती हेतु प्रस्तुत मांग पर शीघ्र निराकरण हेतु बैठक में आश्वासन प्रदान किया। इस अवसर पर डॉ. ओ.पी. व्यास, डॉ. सतुआ, डॉ. वेदप्रकाश व्यास, डॉ, अजयकीर्ति जैन, डॉ. नृपेन्द्र मिश्र आदि पूरा स्टाफ उपस्थित रहा। संमागीय आयुष अधिकारी डॉ. प्रदीप कटियार तथा जिला आयुष अधिकारी डॉ मनीषा पातक भी विजिट के दौरान लपरिथित रहे।

यह जानकारी मीडिया प्रभारी डॉ. प्रकाश जोशी द्वारा दी गई।


Comments