Featured Post

अत्यंत प्राचीन है भारत में गणतंत्र की परंपरा - कुलपति प्रो. पाण्डेय ; विक्रम विश्वविद्यालय में उल्लासपूर्वक मनाया गया गणतंत्र दिवस

अत्यंत प्राचीन है भारत में गणतंत्र की परंपरा - कुलपति प्रो. पाण्डेय

विक्रम विश्वविद्यालय में उल्लासपूर्वक मनाया गया गणतंत्र दिवस



उज्जैन : विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन में गणतंत्र दिवस उल्लासपूर्वक मनाया गया। कार्यक्रम में कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पाण्डेय ने ध्वजारोहण किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि भारत में अत्यंत प्राचीन काल से गणतंत्र की समृद्ध परंपरा रही है। भगवान शिव का परिवार और गणनायक के रूप में गणपति दुनिया में गणतंत्र के प्रथम उदाहरण हैं। आज के दिन भारत एक सम्प्रभु और पूरी तरह गणतांत्रिक देश बना था। यह अवसर देश के नए संकल्पों, नए स्वप्नों को साकार करने के लिए कुर्बानी देने वाले महान सेनानियों का स्मरण कराता है। अमर शहीदों को मैं विश्वविद्यालय परिवार की ओर से हार्दिक श्रद्धा-सुमन अर्पित करता हूँ। विक्रम विश्वविद्यालय विकास के नए सोपानों पर निरंतर गतिशील बना हुआ है। नैक द्वारा ए ग्रेड की उपलब्धि के साथ हम सम्पूर्ण विकास और शैक्षिक गुणवत्ता - वृद्धि के लिए निरन्तर गतिशील हैं। विश्वविद्यालय में गोपनीय एवं परीक्षा भवन का निर्माण कराया गया है। एसओईटी भवन  विस्तारीकरण एवं छात्रों के लिए नवीन छात्रावास भवन का निर्माण पूर्णता पर है। 

नए पाठ्यक्रमों के अन्तर्गत एलएलएम, एमए योग, बीजेएमसी एवं रामचरितमानस में विज्ञान एवं संस्कृत पाठ्यक्रम प्रारंभ किए गये हैं। योजना एवं मूल्यांकन बोर्ड के माध्यम से एक सौ से अधिक नवीन पाठ्यक्रम प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। विविध ज्ञानानुशासनों से जुड़े इन पाठ्यक्रमों के माध्यम से विद्यार्थियों में व्यवसायोन्मुखी कौशल संवर्धन होगा। विश्वविद्यालय द्वारा अकादमिक क्षेत्र के लगभग दस उत्कृष्ट संस्थानों के साथ एमओयू किए गये हैं। अध्यापन से लेकर परीक्षा परिणामों तक यह विश्वविद्यालय पूरे प्रदेश में अग्रगण्य बना हुआ है। वर्तमान सत्र में विभिन्न पाठ्यक्रमों में छात्र संख्या में व्यापक वृद्धि हुई है।

 गणतंत्र दिवस की पुण्य बेला पर आइए हम भारत को उत्तरोत्तर उत्कर्ष पर ले जाने की शपथ लें। भारत की पुरातन शिक्षा स्थली और महाकाल की पावन धरा पर सभी को गणतंत्र दिवस की बधाई देता हूँ।

प्रारंभ में कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार पाण्डेय, प्रभारी कुलसचिव डा डी के बग्गा ने सम्राट विक्रमादित्य के मूर्तिशिल्प पर पुष्पांजलि एवं विक्रम तीर्थ सरोवर के जल से अभिषेक किया। एन.सी. सी. की 10 एम.पी. बटालियन विश्वविद्यालय यूनिट के कैडेट्स ने पायलटिंग की। 

समारोह में खेल, एनसीसी, एनएसएस आदि के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धाओं में पुरस्कार विजेता छात्र एवं छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। विश्वविद्यालय के श्रेष्ठ आचार्यों और कर्मचारियों को विक्रम सम्मान से सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय की अगवानी प्रभारी कुलसचिव डॉ डी के बग्गा, डी एस डब्ल्यू डॉ रामकुमार अहिरवार, रासेयो समन्वयक डा प्रशांत पुराणिक, एन.सी. सी. अधिकारी डा. कानिया मेड़ा आदि ने की। समारोह में विश्वविद्यालय के शिक्षकगण, अधिकारीगण, कर्मचारीगण, एन. सी. सी. के कैडेट्स आदि उपस्थित थे। 

कार्यक्रम का संचालन कुलानुशासक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा ने किया।

Comments