Featured Post

फार्मेसी संस्थान में विश्व एड्स दिवस 2020 पर एक दिवसिय सेमिनार का आयोजन किया गया

कुलपति प्रो. बालकृष्ण शर्मा जी ने 

श्रीमद्भागवत गीता को जीवन जिने का विज्ञान बताया 


उज्जैन : 01 दिसम्बर 2020 को विक्रम विश्वविद्यालय की फार्मेसी संस्थान में माननीय प्रभारी कुलपतिजी, प्रो. बालकृष्ण शर्मा जी की अध्यक्षता में विश्व एड्स दिवस 2020 पर एक दिवसिय सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में मुख्य अतिथि प्रो. शुभा जैन, विभागाध्यक्ष, रसायनशास्त्र अध्ययनशाला थी, मुख्य वक्ता प्रो. आशीष शर्मा, शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद महाविद्यालय, उज्जैन एवं डॉ. जितेन्द्र शर्मा, शासकीय जिला चिकित्सालय, उज्जैन एवं मंच पर डॉ. दर्शन दुबे, प्राध्यापक फार्मेसी संस्थान, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन उपस्थित थे । सेमिनार में स्वागत भाषण डॉ. कमलेश दशोरा, विभागाध्यक्ष,फार्मेसी संस्थान, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा दिया गया एवं अतिथि परिचय श्री नरेन्द्र मंदोरिया, प्राध्यापक फार्मेसी संस्थान, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा किया गया।

सेमिनार में माननीय प्रभारी कुलपतिजी, प्रो. बालकृष्ण शर्मा जी ने श्रीमद्भागवत गीता को जीवन जिने का विज्ञान बताया एवं कहां कि यदि मानव समय पर भोजन करें, सही समय पर नींद ले, एवं सही समय पर जागरण हो तो अनेक प्रकार की बिमारियों से बचा जा सकता हैं।



मुख्यवक्ता के रूप में प्रो. आशीष शर्मा ने कहा कि आयुर्वेद के माध्यम से जीवन यापन करने से एवं संयमित पुर्वक रहने से एड्स, कोविड जैसी वायरस जनित बिमारियों से बचा जा सकता हैं एवं उन्होने एड्स के बारे में सम्पुर्ण जानकारी प्रदाय की।

मुख्यवक्ता के रूप में डॉ. जितेन्द्र शर्मा, शासकीय जिला चिकित्सालय, उज्जैन ने कहा कि डिजिज, डिस्आर्डर, एवं सिन्ड्रोम में अंतर बताया एवं विस्तार से छात्रों को समझाया कि एड्स किस तरह से फैलता हैं एव रोकथाम के उपाय बताये।


मुख्य अतिथि प्रो. शुभा जैन, विभागाध्यक्ष, रसायनशास्त्र अध्ययनशाला ने वक्तव्य में कहा कि सावधानी ही सुरक्षा का उपाय हैं।

सेमिनार में फार्मेसी के छात्र- छात्राओं द्वारा पोस्टर/स्लोगन का निर्माण किया गया एवं अतिथि द्वारा छात्रों के प्रयास को सराहा गया।


सेमिनार में लगभग 50 छात्र-छात्रा, फार्मेसी संस्थान के शिक्षक डॉ. धर्मेश सिसौदिया, डॉ. अनिश शेख, सुश्री तनु भार्गव, डॉ. अखिलेश तिवारी एवं अध्ययनशालाओं के शिक्षक डॉ. स्वाती दुबे, डॉ. निश्चल यादव, डॉ. एस.के. मिश्रा एवं कर्मचारीगण आदि उपस्थित थे।

डॉ. कमलेश दशोरा, विभागाध्यक्ष, फार्मेसी संस्थान, विक्रम विष्वविद्यालय, उज्जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि कार्यक्रम का संचालन छात्रा जया चौहान एवं सार्यक जोशी द्वारा किया गया एवं आभार डॉ. धर्मेश सिसौदिया द्वारा माना गया। 

Comments