Featured Post

गढ़कालिका पर वागर्चन की विधि सम्पन्न

उज्जैन 23 नवम्बर। अखिल भारतीय कालिदास समारोह के अवसर पर महाकवि कालिदास की आराध्या भगवती गढ़कालिका का पूजन एवं विविध स्तोत्रों का पाठ गढ़कालिका मंदिर पर किया गया और समारोह के निर्विघ्न सम्पन्न होने की प्रार्थना की गई।


अ.भा. कालिदास समारोह के अवसर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी प्रातः 10 बजे वागर्चन की विधि सन्त सुन्दरदास सेवा संस्थान एवं युग निर्माण समिति उज्जैन के सहकार से सम्पन्न हुई। इस अवसर पर विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.अखिलेश कुमार पाण्डेय, पूर्व कुलपति प्रो.बालकृष्ण शर्मा, कालिदास समिति के सचिव प्रो.शैलेन्द्रकुमार शर्मा, प्रो.तुलसीदास परोहा, अकादमी की प्रभारी निदेशक श्रीमती प्रतिभा दवे, उपनिदेशक डॉ.योगेश्वरी फिरोजिया, डॉ.पीयूष त्रिपाठी, डॉ.रमेश शुक्ल, श्री सत्यनारायण नाटानी, श्री मोहन खंडेलवाल मुकुल, श्री आशीष खंडेलवाल आदि गणमान्यजनों ने देवी का पूजन एवं स्तुति की। विद्वानों का स्वागत श्री मोहन खंडेलवाल मुकुल ने किया। धन्यवाद ज्ञापन कार्यक्रम समन्वयक श्री राजेन्द्र अवस्थी ने किया।


कलशयात्रा का प्रतीकात्मक आयोजन 24 नवम्बर प्रातः 9 बजे

कालिदास समारोह के संदर्भ में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष 24 नवम्बर को प्रतीकात्मक रूप में कलश यात्रा के संदर्भ में भगवती शिप्रा का पूजन एवं मंगल कलश का पूजन प्रातः 9 बजे शिप्रा तट रामघाट पर किया जाएगा। यहां से कलश लेकर भगवान महाकाल को प्रणाम करते हुए अकादमी में मंगल कलश यात्रा की स्थापना की जाएगी। इस अवसर पर जनप्रतिनिधि, प्रशासकीय अधिकारी, समाजसेवी एवं आयोजन के अधिकारियों से उपस्थित होने का अनुरोध किया गया है।

Comments