Featured Post

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से अलंकृत होंगे दुनिया के विशिष्ट जन 2 अक्टूबर को

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से अलंकृत होंगे दुनिया के विशिष्ट जन 2 अक्टूबर को



समाजसेवा, विश्वशांति, चिंतन, साहित्य एवं पत्रकारिता के क्षेत्र में अविस्मरणीय योगदान के लिए ऑनलाइन अर्पित किया जाएगा अंतरराष्ट्रीय सम्मान ओस्लो, नॉर्वे से



शांति के उन्नायक महात्मा गांधी की 151 वीं जयंती पर ओस्लो, नॉर्वे की संस्था भारतीय - नार्वेजीय सूचना एवं सांस्कृतिक फोरम द्वारा दुनिया के प्रतिष्ठित समाजसेवियों, संस्कृतिकर्मियों, साहित्यकारों और पत्रकारों को प्रथम महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से अलंकृत किया जाएगा। 2 अक्टूबर 2020 को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आयोजित इस सम्मान समारोह में समाजसेवा, विश्वशांति, साहित्य एवं पत्रकारिता के क्षेत्र में अविस्मरणीय योगदान के लिए दुनिया के विशिष्ट व्यक्तियों को सम्मान के रूप में प्रशस्ति पत्र और ताम्र फलक अर्पित किए जाएँगे।



यह जानकारी देते हुए भारतीय - नार्वेजीय सूचना एवं सांस्कृतिक फोरम, ओस्लो के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रसिद्ध प्रवासी साहित्यकार एवं मीडिया विशेषज्ञ श्री सुरेश चंद्र शुक्ल शरद आलोक ने बताया कि समाजसेवा एवं विश्वशांति के लिए अमूल्य योगदान एवं लाइफ टाइम अचीवमेंट के लिए प्रख्यात चिंतक, समाजसेवी एवं सम्पादक श्री गुलाब कोठारी, जयपुर को सर्वोच्च सम्मान अर्पित किया जाएगा। 


 


इस श्रेणी में गोवा की पूर्व राज्यपाल, राजनेत्री एवं लेखिका श्रीमती मृदुला सिन्हा, नई दिल्ली, ओस्लो के समाचार पत्र आकेर्सआवीस ग्रूरुददालेन के सम्पादक एवं समाजसेवी यालमार शेलांद, नॉर्वे एवं यूनाइटेड किंगडम के वरिष्ठ समाजसेवी और राजनीतिज्ञ श्री वीरेन्द्र शर्मा, लन्दन को सम्मानित किया जाएगा।



साहित्य एवं संस्कृति के क्षेत्र में अनुपम योगदान के लिए इस वर्ष के अंतरराष्ट्रीय महात्मा गांधी पुरस्कार के लिए चुने गए व्यक्तियों में प्रसिद्ध लेखक एवं आलोचक प्रो शैलेंद्रकुमार शर्मा, उज्जैन, वरिष्ठ साहित्यकार प्रो निर्मला एस मौर्य, चेन्नई, हिंदी एवं पंजाबी के प्रसिद्ध लेखक प्रो हरमहेन्द्र सिंह बेदी, अमृतसर और नॉर्वेजियन लेखिका इंन्विल्ड क्रिस्तीने हेरजोग, ओस्लो सम्मिलित हैं।



पत्रकारिता के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से इस वर्ष सम्मानित होने वाले पत्रकारों में वरिष्ठ सम्पादक श्री सुभाष राय, लखनऊ, संपादक श्रीमती सर्वमित्रा सुरजन, नई दिल्ली, सम्पादक राजीव सिंह, लखनऊ, सांस्कृतिक पत्रकार श्री राजेश विक्रान्त, मुंबई एवं मीडिया विश्लेषक प्रो सन्तोष तिवारी, लखनऊ शामिल हैं।



ओस्लो में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मान समारोह की मुख्य अतिथि नार्वेजीय अरबाइदर पार्टी की राजनेत्री एवं ओस्लो नगर पार्लियामेंट में मंत्री सुश्री रीना मारियम हांसेन, ओस्लो की मेयर श्रीमती मारिआने बोर्गेन मेयर होंगी। विशिष्ट अतिथि नार्वे में भारत के राजदूत डॉ. बी बाला भास्कर, वैज्ञानिक एवं तकनीकी शब्दावली आयोग, भारत सरकार के चेयरमैन श्री अवनीश कुमार एवं केंद्रीय हिंदी निदेशालय, नई दिल्ली के श्री दीपक पांडेय होंगे। कार्यक्रम सचिव एवं सूत्रधार श्री थूरस्ताइन विंगेर, नॉर्वे होंगे।



सन 1988 में ओस्लो, नॉर्वे में स्थापित भारतीय - नार्वेजीय सूचना एवं सांस्कृतिक फोरम की शुरुआत तत्कालीन भारतीय राजदूत श्री हरदेव भल्ला जी के सहयोग से की गई। संस्था का उद्देश्य देश - दुनिया में संस्कृतियों, साहित्य, चिंतन और भाषाओं के मध्य सेतु का कार्य करना है। विगत कई दशकों से भारतीय-नार्वेजीय सूचना एवं सांस्कृतिक फोरम साहित्यिक, सांस्कृतिक, चिंतनपरक कार्यक्रम, प्रदर्शनी आदि के माध्यम से भारत और नार्वे के मध्य सांस्कृतिक सम्बन्ध और समन्वय का कार्य कर रही है। संस्था हर वर्ष अंतरराष्ट्रीय सांस्कृतिक समारोह आयोजित करती है।



संस्कृतिकर्म, समाजसेवा एवं साहित्य के क्षेत्र में विशिष्ट अवदान के लिए संस्था द्वारा विशिष्ट व्यक्तियों को पुरस्कृत किया जाता है। पूर्व दशकों में नार्वे के पुरस्कृत लोगों में समाजसेवी, लेखक एवं संस्कृतिकर्मी आन-काथ वेस्तली, थूर स्योरहाइम, मेयर अल्बर्ट नूरदेंगेन, पार्लियामेंट स्पीकर मारित नीबाक, अर्लिंग कित्तेलसेन, विदेशमंत्री और राजदूत आदि प्रमुख हैं। भारत से पुरस्कृत लोगों में नोबल शांति पुरस्कार से अलंकृत श्री कैलाश सत्यार्थी, श्री राजेन्द्र अवस्थी (लेखक), पूर्व राज्यपाल श्री केशरीनाथ त्रिपाठी, श्री सत्यनारायण रेड्डी, श्री भीष्मनारायण सिंह, श्री गोपीचन्द नारंग, मनोरमा जफ़ा, सरोजनी प्रीतम आदि प्रमुख हैं। संस्था के सहयोग से ओस्लो, नार्वे से हिन्दी और नार्वेजीय भाषा की द्विभाषी पत्रिका का नियमित प्रकाशन विगत 32 वर्षों से किया जा रहा है।


Comments