Skip to main content

माननीय प्रधानमंत्री जी के जन्मदिवस पर विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा किए गए पौधरोपण, स्वास्थ्य परीक्षण और स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम

माननीय प्रधानमंत्री जी के जन्मदिवस पर विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन द्वारा किए गए पौधरोपण, स्वास्थ्य परीक्षण और स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम



उज्जैन। 17 सितम्बर 2020 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के जन्मदिवस के अवसर पर विक्रम विश्वविद्यालय में माननीय कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार पाण्डेय के मार्गदर्शन में विश्वविद्यालय के माधव भवन में 24 एवं माइक्रोबायलॉजी अध्ययनशाला में 80 पौधे, इस प्रकार कुल 104 पौधों का रोपण किया गया। विश्वविद्यालय द्वारा इस अवसर पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।



पौधरोपण एवं स्वच्छता जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि मनुष्य का पर्यावरण से गहरा रिश्ता है। वर्तमान कोरोना संकट के पीछे पर्यावरण प्रदूषण एवं प्रकृति का विध्वंस जिम्मेदार है। इस दिशा में हमें व्यापक जागरूकता लानी होगी। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. डी. के. बग्गा, कुलानुशासक प्रो. शैलेन्द्र कुमार शर्मा, रा.से.यो. समन्वयक डॉ. प्रशान्त पुराणिक, डी.एस.डब्ल्यू. डॉ. आर.के अहिरवार, उपकुलसचिव डॉ. मेघराज निनामा, रासेयो अधिकारी डॉ. प्रदीप लाखरे एवं डॉ. रमण सोलंकी सहित विश्वविद्यालय के कर्मचारीगण एवं छात्रगण ने पौधरोपण में भागीदारी की।



विश्वविद्यालय द्वारा गोद लिये गये गांव चांदमुख में स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य परीक्षण शिविर में 52 ग्रामीण उपस्थित हुए, जिनके स्वास्थ्य समस्याओं का निदान उपस्थित चिकित्सक डॉ पवन सिंह द्वारा किया गया। शिविर में परीक्षण करने आने वाले ग्रामीणों को इम्यूनिटी - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने से संबंधित आयुर्वेदिक दवाइयां वितरित की र्गइं। इस अवसर पर चांदमुख में एडवांस महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवक और कार्यक्रम अधिकारी डॉ सुनीता श्रीवास्तव ग्राम सरपंच सिद्धनाथ चौहान एवं आगंनवाडी की कायकर्ता उपस्थित रहीं। इस अवसर पर कार्यक्रम अधिकारी ने ग्राम में कुपोषित बच्चों की 6 है तथा उनका स्वास्थ्य दिन प्रतिदिन सुधार पर है। ग्राम में टी.बी. से ग्रसित बच्चे नहीं हैं। बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी आगंनवाड़ी कायकर्ता से प्राप्त की।



प्रो शैलेंद्र कुमार शर्मा, कुलानुशासक, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वच्छता अभियान के अन्तर्गत जागरुकता कार्यक्रम ग्राम जवासिया एवं चिन्तामण मंदिर परिक्षेत्र में आयोजित किया गया, जिसमें मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं और परिक्षेत्र के व्यवसायियों को स्वच्छता संबंधी नुक्कड नाटक के माध्यम से जनजागरूकता सन्देश दिया गया। पर्यावरण प्रबंधन अध्ययनशाला एवं वनस्पतिशास्त्र अध्ययनशाला में शिक्षकों एवं कर्मचारियों द्वारा स्वच्छता अभियान के तहत परिसर में सफाई की गई।


 


Comments

मध्यप्रदेश खबर

नेशनल न्यूज़

Popular posts from this blog

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी. ए. एम. एस. प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी

आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय जबलपुर द्वारा आयोजित बी ए एम एस प्रथम वर्ष एवं तृतीय वर्ष में छात्राओं ने बाजी मारी शासकीय धन्वंतरी आयुर्वेद उज्जैन में महाविद्यालय बी ए एम एस प्रथम वर्ष नेहा गोयल प्रथम, प्रगति चौहान द्वितीय स्थान, दीपाली गुज़र तृतीय स्थान. इसी प्रकार बी ए एम एस तृतीय वर्ष गरिमा सिसोदिया प्रथम स्थान, द्वितीय स्थान पर आकांक्षा सूर्यवंशी एवं तृतीय स्थान पर स्नेहा अलवानी ने बाजी मारी. इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त अध्यापक एवं प्रधानाचार्य द्वारा छात्राओं को बधाई दी और महाविद्यालय में हर्ष व्याप्त है उक्त जानकारी महाविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ प्रकाश जोशी, डा आशीष शर्मा छात्र कक्ष प्रभारी द्वारा दी गई. 

कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को नई शिक्षा नीति का उत्कृष्ट पुरस्कार

  उज्जैन : मध्यप्रदेश में नई शिक्षा नीति का सर्वप्रथम क्रियान्वयन करने पर जबलपुर में आयोजित राष्ट्रीय सेमिनार में विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को नई शिक्षा नीति में उत्कृष्ट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। एनवायरनमेंट एवं सोशल वेलफेयर सोसाइटी, खजुराहो एवं प्राणीशास्त्र एवं जैवप्रौद्योगिकी विभाग, शासकीय विज्ञान स्नातकोत्तर महाविद्यालय, जबलपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजन दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन जबलपुर में किया गया। इस अवसर पर मध्य प्रदेश में नई शिक्षा नीति के सर्वप्रथम क्रियान्वयन के लिए विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय को नई शिक्षानीति में उत्कृष्ट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो अखिलेश कुमार पांडेय की प्रशासनिक कार्यकुशलता से आज विश्वविद्यालय नई शिक्षा का क्रियान्वयन करने वाला प्रदेश का पहला विश्वविद्यालय है। इस उपलब्धि के लिए विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ प्रशांत पुराणिक एवं कुलानुशासक प्रो शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने कुलपति प्रो पांडेय के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्हें हार्दिक

श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ, दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति

■ श्री खाटू श्याम जी के दर्शन 11 नवम्बर, 2020 से पुनः प्रारम्भ ■ दर्शन करने के लिए लेना होगी ऑनलाइन अनुमति श्री श्याम मन्दिर कमेटी (रजि.),  खाटू श्यामजी, जिला--सीकर (राजस्थान) 332602   फोन नम्बर : 01576-231182                    01576-231482 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 #जय_श्री_श्याम  #आम #सूचना   दर्शनार्थियों की भावना एवं कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए सर्वेश्वर श्याम प्रभु के दर्शन बुधवार दिनांक 11-11-2020 से पुनः खोले जा रहे है । कोविड 19 के संक्रमण के प्रसार को दृष्टिगत रखते हुए गृहमंत्रालय द्वारा निर्धारित गाइड लाइन के अधीन मंदिर के पट खोले जाएंगे । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 11-11-2020 से चालू होंगी । दर्शनार्थी भीड़ एवं असुविधा से बचने के लिए   https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है ।  नियमानुसार सूचित हो और व्यवस्था बनाने में सहयोग करे। श्री खाटू श्याम जी के दर्शन करने के लिए, ऑनलाइन आवेदन करें.. 👇  https://shrishyamdarshan.in/darshan-booking/ 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 साद