Featured Post

आधीरात को बुरानाबाद के 26 विद्यार्थीयों ओर 2 शिक्षक पहुँचे अपने गंतत्व तक

14 दिन विद्यालय में रहेंगे क्वारेंटाइनसांसद ने  मानव संसाधन मंत्री को लिखा था पत्र


माइग्रेशन नीति के तहत 9 वी के 30 प्रतिशत विद्यार्थी गए थे इधर से उधर दूसरे प्रदेशों में



उज्जैन 25 अप्रैल।  लॉकडाउन के कारण कच्छ गुजरात मे फसे नवोदय विद्यालय बुरानाबाद के 26 विद्यार्थी ओर दो शिक्षक आधीरात को यहां पहुँचगये है। यहां पहुंचे सभी विद्यार्थीओ का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें 14 दिन के लिए स्कूल में ही कोरण्टाइन कर दिया है।



देशभर में संचालित होनेवाले 177 नवोदय विद्यालयों के सैकड़ों विद्यार्थी दूसरे प्रदेशों में फंस गए थे। इसे लेकर उज्जैन सांसद सांसद अनिल फिरोजिया ने इन विद्यार्थियों को सुरक्षित रूप से इनके घर पहुचाने के केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर उनसे देशभर के तमाम कलेक्टरों से बात कर इन विद्यार्थियों को सुरक्षित रूप से इनके घर पहुंचाने के लिए हस्तक्षेप करने की बात कही थी। इस पत्र के बाद मंत्रालय हरकत में आया और इस तरह से फसे हुवे विद्यार्थियों को निकालने के लिए सभी प्रदेशों के मुख्य सचिवो से संपर्क स्थापित किया गया,नतीजतन सभी विद्यार्थियों के अपने घर पहुचने का रास्ता साफ हो हुवा है।



शुक्रवार शनिवार की रात 1 बजे बस में सवार होकर बुरानाबाद के 26 विद्यार्थी  बुरानाबाद पहुँच गए। यहां पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत, सांसद अनिल फिरोजिया के प्रतिनिधि प्रकाश जैन, भाजपा मंडल अध्यक्ष सीएम अतुल ने पहुचकर विद्यार्थियों व उनके परिजनों से बातचीत कर कुशलक्षेम पूछी। यहां इनका स्वास्थ्य परीक्षण कर एसडीएम वीरेंद्र दांगी के आदेश पर 14 दिन   कोरोनटाइन मैं रखने की बात कही। 16 अप्रैल को सांसद अनिल फिरोजिया ने पत्र लिखा था। इसके बाद से वे लगातार मंत्रालय के संपर्क में रहे,वे बुरानाबाद के लिए रवाना हुवे  विद्यार्थियों की भी लगतार फोन पर जानकारी लेते रहे



20 घंटे का सफर,जहाँ रोकते खाचरौद प्रशासन करता बात


कच्छ गुजरात में फसे इन विधार्थियों को अनुमति मिलने के बाद गुरुवार शुक्रवार की रात करीब3 बजे वहां से रवाना किया गया। ये बच्चे करीब 20 घंटे का सफर तय कर शुक्रवार शनिवार की रात करीब 1 बजे बुरानाबाद पहुँचे। इस सफर में लॉकडाउन के चलते इनकी बस को जगह जगह रोका गया, लेकिन हर बार खाचरौद प्रशासन वहां के डियूटी पर तैनात अधिकारियों से बात कर इस बस को आगे बड़वाता। खाचरोद एसडीएम व तहसीलदार दोनों पूरे समय स्वास्थ्य अमले के साथ यहां मुस्तेद रहे।



5 बजे से ही स्कूल की गेट पहुँचगये थे अभिभावक


दरअसल उम्मीद थी कि विद्यार्थियों की बस शुक्रवार शाम 5 बजे तक बुरानाबाद पहुँच जायेगी, लेकिन जगह जगह चेकिंग के कारण बस को यहां पहुचने में आधीरात हो गई। इस दौरान सभी विद्यार्थियों के अभिभावक शाम 5 बजे से ही विद्यालय कि गेट पर पहुचकर बस के आने का इंतजार कर रहे थे।लेकिन अंतिम समय मे सभी को स्कूल में ही कोरण्टाइन करने की सूचना मिलने के बाद सभी अभिभावकों के चेहरे उतर गए। दरसल उनका कहना था कि बच्चे पहले ही लॉकडाउन के कारण एक माह से अधिक समय से उनसे दूर है, अब 14 दिन का इंतजार और करना पड़ेगा तब जाकर बच्चे घर पहुच पाएंगे।



इस कारण फंसे थे


माइग्रेशन नीति के तहत नवोदय विद्यालय में कक्षा 9 वी के कुल छात्रों का 30 प्रतिशत छात्रों को प्रतिवर्ष एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश में पहुँचाया जाता है। यह प्रकिया देशभर के सभी नवोदय विद्यालय में होती है। लेकिन इस बार वापसी की समयावधि पूरी होने के ठीक पहले लॉकडाउन होने के कारण ये सभी विद्यार्थी अन्य अन्य प्रदेशों में फस गए थे। इन सभी को वापस लाने के लिए ये पत्र लिखा गया था। जिसके बाद इनका निकलना सम्भव हो सका है।



Bkk News


Bekhabaron Ki Khabar - बेख़बरों की खबर


Bekhabaron Ki Khabar, magazine in Hindi by Radheshyam Chourasiya / Bekhabaron Ki Khabar: Read on mobile & tablets - http://www.readwhere.com/publication/6480/Bekhabaron-ki-khabar


Comments